1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. डूबने की कगार पर पहुंचे श्रीलंका ने उठाया एक और गलत कदम, धोखाधड़ी के आरोपी मंत्री को बनाया सेंट्रल बैंक का गवर्नर

डूबने की कगार पर पहुंचे श्रीलंका ने उठाया एक और गलत कदम, धोखाधड़ी के आरोपी मंत्री को बनाया सेंट्रल बैंक का गवर्नर

वित्त मंत्री बासिल राजपक्षे ने कहा है कि सरकार को कोविड-19 की वजह से बहुत अधिक राजस्व हानि हुई है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: September 14, 2021 19:08 IST
Sri Lanka appoints its junior minister of capital markets to head country’s Central Bank- India TV Paisa
Photo:PTI

Sri Lanka appoints its junior minister of capital markets to head country’s Central Bank

कोलंबो। श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने मंगलवार को पूंजी बाजार की देखरेख करने वाले मौजूदा राज्य मंत्री अजित निवार्ड कबराल को देश के केंद्रीय बैंक का प्रमुख नियुक्त करने की घोषणा की है। यह नियुक्ति देश में गंभीर विदेशी मुद्रा संकट के बीच की गई है। सेंट्रल बैंक के गवर्नर के रूप में यह कबराल का दूसरा कार्यकाल होगा। वह इससे पहले एक जुलाई, 2006 से नौ जनवरी, 2015 तक संस्था के प्रमुख के रूप में काम कर चुके हैं। पिछले साल अगस्त से वह मुद्रा और पूंजी बाजार राज्य मंत्री के रूप में काम कर रहे थे।

एक आधिकारिक बयान के अनुसार राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने 15 सितंबर से अजित निवार्ड कबराल को देश के केंद्रीय बैंक का प्रमुख नियुक्त किया है। कोलंबो पेज अखबार के अनुसार, कबराल ने सोमवार को अपने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया, ताकि वह नया पद ग्रहण कर सकें। प्रोफेसर डब्ल्यू डी लक्ष्मण के सेंट्रल बैंक के गवर्नर पद से इस्तीफा देने के बाद पद रिक्त हो गया था। विपक्षी नेताओं ने कबराल की नियुक्ति के आदेश का विरोध किया है। उनका कहना है कि कबराल पर धोखाधड़ी वाले लेनदेन के गंभीर आरोप हैं और चूंकि वह सत्तारूढ़ दल के नेता हैं, उनकी नई नियुक्ति से हितों का टकराव होता है। 

केंद्रीय बैंक के पूर्व प्रमुख लक्ष्‍मण ने अपने रिटायरमेंट से तीन महीने पहले ही इस्‍तीफा दे दिया। राजपक्षे ने उन्‍हें नवंबर 2019 में गवर्नर नियुक्‍त किया था। केंद्रीय बैंक के गवर्नर के रूप में लक्ष्‍मण का कार्यकाल उतार-चढ़ाव भरा रहा है। केंद्रीय बैंक पर लक्ष्‍मण के कार्याकाल के दौरान आर्थिक संकट से निपटने के लिए बड़े पैमाने पर करेंसी नोट छापने का आरोप लगा था।

एक अन्‍य विपक्षी नेता हर्षा ड‍िसिल्‍वा ने कहा कि अपने राजनीतिक आका के कहने पर 1.2 लाख करोड़ रुपये के नए नोट छापकर श्रीलंका की मुद्रा को बर्बाद कर गवर्नर लक्ष्‍मण रिटायर हो गए।

श्रीलंका इस समय गंभीर विदेशी मुद्रा भंडार संकट का सामना कर रहा है। यह देश पूरी तरह से पर्यटन और निर्यात पर निर्भर है, जो कोरोना वायरस महामारी की वजह से बहुत ज्‍यादा प्रभावित हैं। वित्‍त मंत्री बासिल राजपक्षे ने कहा है कि सरकार को कोविड-19 की वजह से बहुत अधिक राजस्‍व हानि हुई है।

यह भी पढ़ें: Good News: सोने की कीमत में आई गिरावट, जानिए क्‍या है 10 ग्राम का नया दाम

यह भी पढ़ें: केंद्र सरकार कल करेगी बड़ी घोषणा

यह भी पढ़ें: खुशखबरी सरकार ने पेट्रोल-डीजल सस्‍ता करने के लिए उठाया कदम...

यह भी पढ़ें: Maruti की यह कार देती है 23.76 किमी/लीटर का माइलेज, बिक चुकी हैं अबतक इसकी 25 लाख इकाई

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार ने बदला MSP पर खरीद करने का फॉर्मूला, सिर्फ किसानों को मिलेगा फायदा

यह भी पढ़ें: RBI ने आम जनता को किया आगाह, KYC अपडेट के नाम पर ऐसे हो रही है धोखाधड़ी रहें बचकर

Write a comment
Click Mania
Modi Us Visit 2021