1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. गैजेट
  5. Xiaomi लेकर आ रही है भारत में अपना एक अलग ब्रांड, मनु जैन ने किया ऐलान

Xiaomi लेकर आ रही है भारत में अपना एक अलग ब्रांड, मनु जैन ने किया ऐलान

शाओमी इंडिया के हेड ऑफ कैटेगरी रघु रेड्डी ने कहा कि यह लॉन्च सभी श्रेणियों में होंगे जिससे मी में उपभोक्ताओं की रुचि 2020 में भी बनी रहेगी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: January 17, 2020 15:26 IST
Xiaomi makes POCO an independent brand in India - India TV Paisa

Xiaomi makes POCO an independent brand in India

बेंगलुरू। चीन की हैंडसेट निर्माता शाओमी ने शुक्रवार को घोषणा की है कि वह अपने प्रीमियम सब-ब्रांड पोको को एक अलग ब्रांड के रूप में पेश करने जा रही है। भारत में पोको अब एक स्‍वतंत्र ब्रांड होगा और इसकी अपनी अलग टीम होगी, जो देश में बिक्री व विस्‍तार के लिए स्‍वयं अपनी रणनीति बनाएगी। शाओमी इंडिया के प्रमुख मनु जैन ने ट्विट कर कहा कि अब पोको एक अलग कंपनी होगी और यह शाओमी से अलग एक स्‍वतंत्र ब्रांड होगा। इसका सीईओ अलग होगा और इसकी पूरी प्रबंधन टीम भी अलग होगी।

शाओमी ने 2018 में एक सब-ब्रांड के रूप में पोको को लॉन्‍च किया था। भारत में पोको ने अपना ऑपरेशन एक छोटी टीम के साथ शुरू किया था और इसने अभी पोको एफ1 स्‍मार्टफोन ही लॉन्‍च किया है।

शाओमी के वाइस प्रेसिडेंट और शाओमी इंडिया मैनेजिंग डायरेक्‍टर मनु जैन ने एक बयान में कहा कि सब-ब्रांड के रूप में अपनी यात्रा शुरू करने वाले पोको ने बहुत कम समय में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। पोको एफ1 सभी यूजर ग्रुप में एक बहुत ही लोकप्रिय फोन है और यह 2020 में भी अपने श्रेणी में मजबूत दावेदार बना हुआ है। मुझे लगता है कि यह सही समय है जब पोको एक स्‍वतंत्र ब्रांड के रूप में अपने पैरों पर खड़ा हो।

इससे एक दिन पहले यानी गुरुवार को कंपनी ने घोषणा की थी कि वह अपने प्रीमियम मी ब्रांड के तहत भारत में इस साल नए उत्‍पाद पेश करेगी। शाओमी इंडिया के हेड ऑफ कैटेगरी रघु रेड्डी ने कहा कि यह लॉन्‍च सभी श्रेणियों में होंगे जिससे मी में उपभोक्‍ताओं की रुचि 2020 में भी बनी रहेगी।

उल्‍लेखनीय है कि मी और बजट रेडमी अभी भी भारत में शाओमी के सब-ब्रांड हैं। कंपनी ने पहले कहा था कि वह ऑफलाइन एवं ऑनलाइन दोनों जगह उचित संतुलन बनाने में भरोसा रखती है। रेड्डी ने कहा कि ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही प्‍लेटफॉर्म हमारे लिए बराबर से महत्‍वपूर्ण हैं और वर्तमान में हमारा ऑनलाइन टू ऑफलाइन अनुपात 60:40 है। हालांकि, हमारा लक्ष्‍य इसे 2020 में 50:50 पर लाना है।  

Write a comment
X