Monday, May 20, 2024
Advertisement
  1. Hindi News
  2. पैसा
  3. बाजार
  4. Vodafone Idea का स्टॉक ₹5 पर आ सकता है टूटकर! CLSA ने इस कारण चेताया

Vodafone Idea का स्टॉक ₹5 पर आ सकता है टूटकर! CLSA ने इस कारण चेताया

एक्सपर्ट का कहना है कि कैपेक्स और 5जी रोलआउट से परे, वीआई को वित्त वर्ष 26 में वित्तीय संकट का सामना करना पड़ेगा, जब सालाना 4 बिलियन डॉलर का वार्षिक स्पेक्ट्रम और एजीआर भुगतान देय होगा।

Edited By: Alok Kumar @alocksone
Published on: April 11, 2024 11:33 IST
Voda-Idea Share - India TV Paisa
Photo:FILE वोडाफोन आइडिया का स्टॉक

Vodafone Idea का शेयर 61 फीसदी तक गिरकर 5 रुपये के भाव पर आ सकता है। ग्लोबल ब्रोकरेज फर्म सीएलएसए के विश्लेषकों ने चेतावनी दी है कि अगर वोडाफोन आइडिया के ग्राहक घटते रहे तो वोडाफोन आइडिया का स्टॉक 61 फीसदी तक गिरकर 5 रुपये तक जा सकता है। इसकी वजह कंपनी से ग्राहकों का होता मोहभंग है। आपको बता दें कि कंपनी ने पिछले एक साल में पहले ही 1.7 कारोड़ वायरलेस ग्राहकों को खोया है। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) द्वारा जारी नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, रिलायंस जियो ने जनवरी 2024 में लगभग 4.2 मिलियन वायरलेस ग्राहक जोड़े, जबकि भारती एयरटेल ने 0.75 मिलियन ग्राहक जोड़े।

20,000 करोड़ जुटाने को मंजूरी 

कर्ज के बोझ से दबी दूरसंचार कंपनी वोडाफोन आइडिया का निदेशक मंडल तरजीही आधार पर इक्विटी शेयर या परिवर्तनीय प्रतिभूतियां जारी करने की मंजूरी मिल गई है। अब, यह पता चला है कि कंपनी संभवतः आने वाले सप्ताह में ₹18,000-20,000 करोड़ जुटाने के लिए एक एफपीओ लॉन्च करने की योजना बना रही है। यह कंपनी से संबंधित एक और बड़ी खबर के मद्देनजर आया है। पिछले शनिवार को यह घोषणा की गई थी कि बोर्ड ने अधिकृत शेयर पूंजी को बढ़ाकर ₹1 लाख करोड़ करके आदित्य बिड़ला समूह से ₹2,075 करोड़ जुटाने की मंजूरी दे दी है, जिसके लिए कंपनी 8 मई को शेयरधारकों की मंजूरी लेगी। इस प्रस्ताव में 1,395,427,034 इक्विटी शेयर जारी करना शामिल है। 

आगे का रास्ता आसान नहीं 

एक्सपर्ट का कहना है कि कैपेक्स और 5जी रोलआउट से परे, वीआई को वित्त वर्ष 26 में वित्तीय संकट का सामना करना पड़ेगा, जब सालाना 4 बिलियन डॉलर का वार्षिक स्पेक्ट्रम और एजीआर भुगतान देय होगा, जब तक कि सरकार अधिस्थगन के अंत में ऋण मूलधन को इक्विटी में परिवर्तित नहीं करती है। वीआई की ग्राहक छोड़ने की वजह वित्त वर्ष 24 में नौ महीनों में ₹1,300 करोड़ के कम पूंजीगत व्यय के कारण है, जो साल दर साल 54 प्रतिशत कम है और भारती एयरटेल के भारत मोबाइल कैपेक्स ₹19,300 करोड़ से 93 प्रतिशत कम है। 

Latest Business News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Market News in Hindi के लिए क्लिक करें पैसा सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement