1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. मेरा पैसा
  5. अपनी सैलरी के एक छोटे से हिस्‍से से कर सकते हैं आप मोटी कमाई, Bajaj Finance की FD में मिलेगा मौका

अपनी सैलरी के एक छोटे से हिस्‍से से कर सकते हैं आप मोटी कमाई, Bajaj Finance की FD में मिलेगा मौका

बजाज फाइनेंस लिमिटेड द्वारा पेश की गई फिक्स्ड डिपॉजिट स्कीम पर अधिकतम 7.35 प्रतिशत की ब्याज दर दी जा रही है। कंपनी की यह एफडी बिना किसी लॉक-इन पीरियड के साथ आती है और यह निवेशकों को उनकी जरूरत के मुताबिक आंशिक निकासी की अनुमति भी देती है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: October 04, 2020 16:57 IST
Earn More by Investing a Small Portion of Salary in Bajaj Finance Fixed Deposit- India TV Paisa
Photo:INDIA TV NEWS

Earn More by Investing a Small Portion of Salary in Bajaj Finance Fixed Deposit

नई दिल्‍ली।  वित्‍तीय बाजारों में उतार-चढ़ाव और अप्रत्‍याशित आर्थिक परिदृश्‍य के बीच हर किसी को लंबे समय में बचत से कमाई के लिए फाइनेंशियल प्‍लानिंग पर ध्‍यान देने की जरूरत है। बाजार में कई फाइनेंशियल उत्‍पाद मौजूद हैं, लेकिन जो लोग अपने पैसे के साथ बिल्‍कुल भी जोखिम नहीं लेना चाहते उनके लिए फ‍िक्‍स्‍ड डिपॉजिट (एफडी) आज भी सुरक्षित और गांरटीशुदा निवेश टूल बना हुआ है।  

बजाज फ‍िनसर्व की प्रमुख और निवेश इकाई बजाज फाइनेंस लिमिटेड द्वारा पेश की गई फ‍िक्‍स्‍ड डिपॉजिट स्‍कीम पर अधिकतम 7.35 प्रतिशत की ब्‍याज दर दी जा रही है। कंपनी की यह एफडी बिना किसी लॉक-इन पीरियड के साथ आती है और यह निवेशकों को उनकी जरूरत के मुताबिक आंशिक निकासी की अनुमति भी देती है।

बजाज फाइनेंस एफडी को क्रिसिल द्वारा एफएएए और आईसीआरए द्वारा एमएएए उच्‍च स्थिर रेटिंग प्रदान की गई है। यह रेटिंग्‍स निवेशकों को उनके निवेश के लिए उच्‍च सुरक्षा प्रदान करती है। परिपक्‍वपता पर पूरा ब्‍याज निवेश के बैंक एकाउंट में जमा किया जाता है, जो निवेशकों को डिफॉल्‍ट-फ्री अनुभव सुनिश्चित करता है।

बजाज फाइनेंस की एफडी को निवेश के लिए चुनते समय निवेशक ब्‍याज भुगतान प्राप्‍त करने के लिए अपनी पसंद अनुसार मासिक, तिमाही, छमाही या वार्षिक अवधि का चुनाव कर सकता है। इतना ही नहीं कंपनी सिस्‍टेमैटिक डिपॉजिट प्‍लान (एसडीपी) फीचर की भी पेशकश कर रही है। इस फीचर के जरिये, निवेशक जिसके पास निवेश के लिए एकमुश्‍त रकम नहीं है, वह अपनी सैलरी से न्‍यूनतम 5000 रुपए प्रति माह के साथ निवेश की शुरुआत कर सकता है।  

एफडी में निवेश के साथ निवेशक सुनिश्चित रिटर्न और सुरक्षित निवेश का पूरा फायदा उठा सकते हैं। सिस्‍टेमैटिक डिपॉजिट प्‍लान के जरिये बजाज फाइनेंस एफडी में निवेश का चयन करने के जरिये, निवेशक प्रतिस्‍पर्धी एफडी ब्‍याज दर का फायदा उठा सकते हैं। इस प्‍लान के तहत किए गए प्रत्‍येक योगदान को एक नई एफडी माना जाएगा और इस पर जमा की जाने वाली तारीख के दिन वाला ब्‍याज दर लागू होगा।

निवेशक अपने घर पर बैठे हुए ऑनलाइन माध्‍यम से इस एफडी प्‍लान में निवेश करना शुरू कर सकते हैं।   

5000 रुपए/माह के साथ शुरू करें संपत्ति निर्माण

सिस्‍टेमैटिक डिपॉजिट प्‍लान के साथ, निवेशक अपनी सैलरी से प्रति माह न्‍यूनतम 5000 रुपए के साथ वित्‍तीय रूप से सुरक्षित और स्थिर भविष्‍य के लिए शुरुआत कर सकते हैं। पहला भुगतान चेक या ऑनलाइन करना होगा इसके बाद शेष भुगतान एनएसीएच के जरिये किया जा सकेगा। यह स्‍कीम उन लोगों के लिए बेहतर है जिन्‍होंने अपना करियर अभी शुरू किया है और वह बचत की आदत बनाना सीखना चाहते हैं।

निवेश पर पाएं आकर्षक रिटर्न

निवेशकों को एफडी और एसडीपी पर 7.10 प्रतिशत की ब्‍याज दर मिलेगी और जो लोग ऑनलाइन फ‍िक्‍स्‍ड डिपॉजिट विकल्‍प को चुनते हैं उन्‍हें अतिरिक्‍त 0.10 प्रतिशत ब्‍याज दर का लाभ मिलेगा। वरिष्‍ठ नागरिकों को एफडी पर 7.35 प्रतिशत का ब्‍याज दिया जाएगा।

उदाहरण के जरिये हम इसे समझाते हैं। यदि एक व्‍यक्ति जो वरिष्‍ठ नागरिक नहीं है और उसकी मासिक सैलरी 50,000 रुपए है, वह सिस्‍टेमैटिक डिपॉजिट प्‍लान के तहत ऑनलाइन फ‍िक्‍स्‍ड डिपॉजिट में 48 माह के लिए 5000 रुपए (सैलरी का 10%) निवेश कर निम्‍न लाभ प्राप्‍त कर सकता है:

फ‍िक्‍स्‍ड डिपॉजिट का प्रकार: ऑनलाइन एफडी

निवेश (रु.) ब्‍याज दर (%) ब्‍याज राशि (रु.) कुल भुगतान (रु.)

2,40,000

7.2

99,744

3,39,744

इमरजेंसी में आंशिक निकासी या लोन की भी सुविधा

वित्‍तीय इमरजेंसी के मामले में 3 माह की लॉक-इन अवधि पूरी होने के बाद निवेशक एफडी में से आंशिक निकासी कर सकता है। इसके अलावा ग्राहक एसडीपी के तहत प्रत्‍येक एफडी के बदले लोन भी ले सकता है। लंबी अवधि को ध्‍यान में रखते हुए, निवेशक बजाज फाइनेंस ऑनलाइन एफडी में अपनी सैलरी का एक छोटा सा हिस्‍सा निवेश करने के साथ ही आज से संपत्ति निर्माण की शुरुआत कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें: 

क्या चीन ने तिब्बत में मार गिराया सुखोई-30 एमकेआई फाइटर जेट, जानिए सच्चाई

भारत-चीन विवाद: 12 अक्तूबर को फिर होगी कोर कमांडर-स्तरीय वार्ता, LAC पर पीछे हट सकता है चीन

Write a comment
X