1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. मेरा पैसा
  5. IDFC म्यूचुअल फंड का स्माल कैप पर है फोकस, एमर्जिंग बिजनेस फंड लेकर आया

IDFC म्यूचुअल फंड का स्माल कैप पर है फोकस, एमर्जिंग बिजनेस फंड लेकर आया

आईडीएफसी का फंड कम से कम 65 फीसदी स्माल कैप सेगमेंट में निवेश करेगा। यह खरीदो और उसे रोको की रणनीति का पालन करेगा

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: February 10, 2020 14:54 IST
IDFC Mutual Fund's focus on small cap- India TV Paisa

IDFC Mutual Fund's focus on small cap

नई दिल्‍ली। शेयर बाजार शीर्ष पर है, लेकिन रिटर्न के लिहाज से कुछ शेयरों को छोड़ दिया जाए तो बाकी शेयरों ने अच्छा रिटर्न नहीं दिया है। ऐसे में निवेशकों के लिए इस समय स्माल कैप स्टॉक बेहतर विकल्प के रूप में उभरे हैं, जिनका मूल्यांकन इस समय आकर्षक स्तर पर है।

आंकड़ों के मुताबिक जनवरी 2018 से दिसम्बर 2019 के दौरान स्माल कैप में 31 फीसदी की गिरावट आई है, जबकि इसी दौरान लॉर्ज कैप 15 फीसदी बढ़ा है और मिड कैप 15 फीसदी टूटा है। स्माल कैप स्टॉक औसत डिस्काउंट से काफी नीचे कारोबार कर रहे हैं और इसका पीई 5 साल के औसत 17.4 की तुलना में इस समय 14.8 है। इसके अतिरिक्त स्माल कैप पीई इस समय 34 फीसदी के डिस्काउंट पर कारोबार कर रहा है, जबकि लार्ज कैप 15 फीसदी डिस्काउंट पर कारोबार कर रहा है। वर्तमान चक्र को देखें तो इसके वॉल्‍यूम में 2018 के शुरुआत में शीर्ष से पहले ही 66 फीसदी की गिरावट आ चुकी है।

आईडीएफसी म्यूचुअल फंड इसी स्माल कैप के अवसर को भुनाने के लिए एमर्जिंग बिजनेस फंड को लाया है, जो 17 फरवरी को बंद होगा। कभी भी स्माल कैप में निवेश पर अच्छे रिटर्न के लिए समय सही होता है और इस समय जिस तरह से स्माल कैप में गिरावट है, निवेशकों के लिए यह अच्छा समय है। निवेशक इसमें एकमुश्त और एसटीपी के जरिए निवेश कर सकते हैं।

आईडीएफसी म्यूचुअल फंड के फंड प्रबन्धक अनूप भास्कर का कहना है कि चूंकि स्माल कैप में सभी कंपनियां बाजार पूंजीकरण में ऊपर जाने की क्षमता रखती हैं, हमारा विश्वास है कि हम बाजार के चरण मूल्य और मूल्यांकन को ध्यान में रखकर इस क्षेत्र में प्रवेश करेंगे। स्माल कैप में निवेश करने के लिए जो तीन प्रमुख कारण हैं उसमें मूल्य, मूल्यांकन और वॉल्‍यूम्‍स हैं।

अगर स्माल कैप इंडेक्स के आंकड़ों को देखें तो पता चलता है कि सितंबर 2005 से जब भी इसने एक साल का नकारात्मक रिटर्न दिया है, उसके अगले पांच साल तक इसने 13 फीसदी सीएजीआर की दर से रिटर्न दिया है। स्माल कैप कैलेंडर साल 2018 से 24 फीसदी और 2019 में  8 फीसदी टूटा है और इसलिए अब इसमें निवेश का सही समय है ताकि आगे अच्छा रिटर्न मिल सके।

आईडीएफसी का फंड कम से कम 65 फीसदी स्माल कैप सेगमेंट में निवेश करेगा। यह खरीदो और उसे रोको की रणनीति का पालन करेगा और साथ ही चक्रीय क्षेत्र में यह खरीदी करेगा। यही नहीं, यह फंड नए बिजनेस में आईपीओ के जरिये भी भागीदारी करेगा। इस फंड का प्रबंधन अनूप भास्कर करेंगे, जो कंपनी के इक्विटी के प्रमुख हैं। यह स्कीम 5 कार्यकारी दिनों के भीतर फिर से खरीद और बिक्री के लिए खुलेगी।

Write a comment