Saturday, May 18, 2024
Advertisement
  1. Hindi News
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. भारत में 5 हजार जैव CNG विनिर्माण इकाई लगाने की संभावना: नीतिन गडकरी

भारत में 5 हजार जैव CNG विनिर्माण इकाई लगाने की संभावना: नीतिन गडकरी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भारत में स्वच्छ ईंधन को बढ़ावा देने की पैरवी करते हुए शुक्रवार को कहा कि देश में कम से कम पांच हजार जैव सीएनजी विनिर्माण इकाइयां स्थापित करने की क्षमता है।

Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: February 12, 2021 23:19 IST
CNG को लेकर सरकार का बड़ा ऐलान, अब लोगों की मिलेगा फायदा- India TV Paisa
Photo:FILE

CNG को लेकर सरकार का बड़ा ऐलान, अब लोगों की मिलेगा फायदा

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भारत में स्वच्छ ईंधन को बढ़ावा देने की पैरवी करते हुए शुक्रवार को कहा कि देश में कम से कम पांच हजार जैव सीएनजी विनिर्माण इकाइयां स्थापित करने की क्षमता है। केंद्रीय सड़क परिवहन, राजमार्ग एवं एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी ने सीएनजी में परिवर्तित किया गया भारत का पहला डीजल ट्रैक्टर पेश किया। यह ट्रैक्टर गडकरी के नाम पर ही पंजीकृत है। उन्होंने इस मौके पर यह भी कहा कि इससे न केवल ग्रामीण अर्थव्यवस्था में बदलाव आयेगा, बल्कि इसके परिणामस्वरूप रोजगार भी सृजन होगा। 

मंत्री ने कहा, ‘‘सरकार भारत में कई जैव सीएनजी विनिर्माण इकाइयां स्थापित करने की कोशिश कर रही है। पेट्रोलियम मंत्रालय जैव-सीएनजी खरीदने की योजना बना रहा है। इस क्षेत्र में रोजगार के बड़े अवसर हैं और यह हमारे आर्थिक विकास को प्रभावित कर सकता है। यह प्रौद्योगिकी सिद्ध है। भारत में पांच हजार जैव सीएनजी विनिर्माण इकाइयों की क्षमता है।’’

पढ़ें- Hero मोटरसाइकिल सस्ते में खरीदने का बड़ा मौका, कंपनी ने निकाले बड़े ऑफर

पढ़ें- पेंशन को लेकर केंद्र सरकार का बड़ा ऐलान, अब बढ़कर मिलेगा पैसा

उन्होंने कहा कि भारत में किसान पराली जलाने के बजाय इन्हें बेचकर प्रति वर्ष 1,500 करोड़ रुपये कमा सकते हैं। इससे उनकी आय कई गुना हो सकती है, यदि वे सीएनजी बनाने में पराली का उपयोग करते हैं। मंत्री ने यह भी कहा कि सीएनजी ट्रैक्टर का उपयोग करके एक किसान ईंधन की लागत पर औसतन 1.5-2 लाख रुपये बचा सकता है।

क्या होती है बॉयो CNG

बॉयो सीएनजी को गाय-भैंस व अन्‍य पशुओं के गोबर-मल के अलावा सड़ी-गली सब्जियों और फलों से भी बनाया जाता है। बॉयो सीएनजी प्लांट गोबर गैस की तरह ही चलता है। लेकिन इसमें अलग से मशीनें लगाई जाती हैं। 

इस तरह बनती है बॉयो CNG

बॉयो CNG के प्‍लांट महाराष्‍ट्र, पंजाब, हरियाणा और कई अन्‍य राज्‍यों में चल रहे हैं। प्‍लांट में VPSA (Vacuum Pressure Swing Adsorption) टेक्नोलॉजी का इस्‍तेमाल होता है। इसके जरिए गोबर को प्यूरीफाई कर मीथेन बनाई जाती है। इसके बाद मीथेन को कम्प्रेस करके सिलेंडर में भरा जाता है। प्‍लांट को लगाने में थोड़ी लागत जरूर आती है लेकिन यह कमाई का बेहतर जरिया बन सकता है। मोदी सरकार भी प्रदूषण स्‍तर घटाने के लिए बॉयो CNG को बढ़ावा दे रही है। 

पढ़ें- Honda Activa सस्ते में खरीदने का बड़ा मौका, कंपनी ने की बड़े ऑफर की घोषणा

पढ़ें- Honda कार सस्ते में खरीदने का बड़ा मौका, ऑफर में बचे केवल कुछ दिन

पढ़ें- PM Kisan Samman Nidhi के 2000 रुपए पाने के लिए जल्द कराएं रजिस्ट्रेशन, देखें तरीका

पढ़ें- पाकिस्तान में Gold के रेट, भारत के मुकाबले जानें पाकिस्तान में कितनी कीमत

पढ़ें- बिना पेट्रोल चलेगी यह कार, 1 रुपए प्रति KM से भी कम आएगा खर्चा

पढ़ें- अगर आपका भी कटा है चालान तो आपके लिए आई खुशखबरी!

Latest Business News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Business News in Hindi के लिए क्लिक करें पैसा सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement