1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. बोइंग के लिए महामारी नहीं हादसे बने मुसीबत, डेढ़ साल में हादसों से 18 अरब डॉलर से ज्यादा नुकसान

बोइंग के लिए महामारी नहीं हादसे बने मुसीबत, डेढ़ साल में हादसों से 18 अरब डॉलर से ज्यादा नुकसान

अक्टूबर 2018 और मार्च 2019 में 2 बोइंग 737 मैक्स विमान दुर्घटनाग्रस्त हुए

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: August 07, 2020 22:41 IST
- India TV Paisa
Photo:AP PHOTO

cost of boeing 737 max crisis is more than 18.7 billion dollar

नई दिल्ली।  भारत में आज दुबई से कालीकट जा रहा एयर इंडिया का प्लेन रनवे पर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। शुरुआती संकेतों के आधार पर माना जा रहा है कि हादसे के लिए मौसम जिम्मेदार था। हालांकि ऐसे ही कुछ विमान हादसे भी हुए हैं जिसमें आज दुर्घटनाग्रस्त हुए विमान को बनाने वाली दुनिया की दिग्गज एविएशन कंपनी न केवल सवालों के घेरे में आ गई, साथ ही महामारी शुरू होने से काफी पहले ही उसकी अपनी आर्थिक स्थिति भी खराब हो गई। एयर इंडिया का दुर्घटना ग्रस्त विमान बोइंग 737 था, जिसके ज्यादा आधुनिक स्वरूप वाले विमान बोइंग 737 मैक्स के 2 विमान के खाते में 346 लोगों की जान का नुकसान और कंपनी के खाते में करीब 19 अरब डॉलर का प्रत्यक्ष नुकसान लिखा है। जो कि भारतीय करंसी में करीब 1.5 लाख करोड़ रुपये के बराबर है।

 

बोइंग 737 सबसे सफल विमान रहे हैं। इन विमानों में बोइंग 737, बोइंग 737 क्लासिक, बोइंग 737 नेक्स्ट जेनरेशन और बोइंग 737 मैक्स शामिल हैं। हालंकि साल 2018-19 के 5 महीने के दौरान हुए दो बड़े विमान हादसों के बोइंग के बुरे दिन शुरू हो गए। जून क्वार्टर के दौरान बोइंग ने कुल 3.4 अरब डॉलर का घाटा दर्ज किया है। सीएनएन की एक रिपोर्ट के मुताबिक इन दो हादसों के बाद मुआवजे, नए जेट बनाने की लागत औऱ अन्य घाटे को मिलाकर कुल नुकसान करीब 19 अरब डॉलर का है और इसमे लगातार बढ़त जारी है।

आइये जानिए कब-कब बोइंग के विमान हादसे का शिकार हुए हैं।

 

5 फरवरी 2020

तुर्की में रनवे पर एक बोइंग 737-800 के फिसलने के बाद विमान के 3 टुकड़े  हो गए। हादसे में 3 लोगों की मौत हुई और 179 लोग घायल हुए।

8 जनवरी 2020

तेहरान से कीव के लिए उड़ान भरने वाला एक बोइंग 737-800 टेकऑफ के तुरंत बाद क्रेश हो गया जिसमें 167 यात्रियों की मौत हो गई। जांच के मुताबिक मानवीय भूल की वजह से इस विमान को तेहरान के एयर डिफेंस ने गिरा दिया था।  

 

10 मार्च 2019

इथोपियन एयरलाइंस का एक 737 मैक्स इथोपिया के अदिस अबाबा से उड़ान के 6 मिनट के अंदर क्रैश हो गया। इसमें सभी 149 यात्री और 8 क्रू मेंबर की मौत हो गई। इस हादसे के बाद सभी बोइंग 737 मैक्स की उड़ान पर रोक लगा दी गई थी। प्रतिबंध और महामारी की वजह से तब से अब तक ये विमान जमीन पर हैं

29 अक्टूबर 2018

लॉयन एयर का 737 मैक्स जकार्ता से उड़ान भरने के 13 मिनट बाद ही क्रैश हो गया। इसमें कुल 189 लोगों की मौत हो गई। बोइंग के इतिहास में ये सबसे बड़ा हवाई हादसा रहा।

 

19 मार्च 2016

दुबई से रूस की उड़ान के दौरान एक बोइंग 737-800 रूस में उतरने से कुछ देर पहले खऱाब मौसम की वजह से दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हादसे में सभी 62 लोगों की मौत हो गई

 

22 मई 2010

मंगलौर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर एयर इंडिया एक्सप्रेस का बोइंग 737-800 उतरने के दौरान रनवे से आगे निकल कर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हादसे में 158 लोगों की मौत हो गई।

Write a comment
X