1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. DGFT ने Bharti Airtel को किया ब्‍लैकलिस्‍ट, कंपनी को रखा डिनाइड एंट्री लिस्‍ट में

DGFT ने Bharti Airtel को किया ब्‍लैकलिस्‍ट, कंपनी को रखा डिनाइड एंट्री लिस्‍ट में

डिनाइड एंट्री लिस्ट में उन कंपनियों को रखा जाता है जो विभिन्न योजनाओं के तहत निर्यात प्रतिबद्धताओं को पूरा करने में विफल रहती हैं।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: January 29, 2020 11:09 IST
DGFT blacklists Bharti Airtel, puts company in denied entry list- India TV Paisa

DGFT blacklists Bharti Airtel, puts company in denied entry list

नई दिल्‍ली। विदेश व्‍यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने मंगलवार को सुनील मित्‍तल की टेलीकॉम कंपनी भारती एयरटेल को ब्‍लैकलिस्‍टेड कर दिया है और कंपनी को डिनाइड एंट्री लिस्‍ट में रख दिया है। सीएनबीएस-टीवी18 ने सूत्रों के हिसाब से यह खबर दी है।

डीजीएफटी के मुताबिक, डिनाइड एंट्री लिस्‍ट में उन कंपनियों को रखा जाता है जो विभिन्‍न योजनाओं के तहत निर्यात प्रतिबद्धताओं को पूरा करने में विफल रहती हैं। इस मामले से जुड़े सूत्रों के मुताबिक भारती एयरटेल का इंपोर्ट-एक्‍सपोर्ट लाइसेंस को रोक दिया गया है या निलंबित कर दिया गया है।  

भारती एयरटेल को एक्‍सपोर्ट प्रमोशन कैपिटल गुड्स (ईपीसीजी) योजना के तहत निर्यात प्रतिबद्धता को पूरा न कर पाने की वजह से डिनाइड एंट्री लिस्‍ट में रखा गया है। इस योजना को सरकार ने पेश किया था।

हालांकि, एयरटेल से जुड़े सूत्रों ने बताया कि एयरटेल ने अप्रैल 2018 के बाद से इस तरह का (निर्यात का) कोई लाइसेंस नहीं लिया है, क्योंकि उसके परिचालन में इसकी कोई आवश्यकता नहीं है। बल्कि कंपनी पहले ही इस तरह के पुराने सभी लाइसेंस निरस्त करने का आवेदन कर चुकी है और उसे सरकार से इसकी अनुमति मिलने का इंतजार है।

इस संबंध में कंपनी को भेजे गए ईमेल का तत्काल कोई जवाब नहीं मिल सका है। पूंजीगत सामान निर्यात संवर्धन याजना एक निर्यात प्रोत्साहन योजना है, जिसके तहत वस्तुओं के निर्यात के लिए पूंजीगत सामानों का नि:शुल्क आयात करने की अनुमति है। योजना के तहत आयातकों को बचाए गए आयात शुल्क के मुकाबले छह गुना तक निर्यात दायित्व पूरा करना होता है। 

Write a comment