1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. अर्थव्यवस्था पर कोरोना की दूसरी लहर का नहीं होगा 2020 जैसा असर, फिच ने दिया अनुमान

अर्थव्यवस्था पर कोरोना की दूसरी लहर का नहीं होगा 2020 जैसा असर, फिच ने दिया अनुमान

लगातार चार दिन कोरोना वायरस संक्रमण के चार लाख से अधिक नए मामले सामने आने के बाद भारत में सोमवार को एक दिन में कोविड-19 के ताजा मामलों में कमी देखने को मिली है और वो 3.66 लाख के स्तर पर रहे हैं।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Updated on: May 10, 2021 14:32 IST
कोरोना संकट का गंभीर...- India TV Hindi News
Photo:PTI

कोरोना संकट का गंभीर असर नहीं

नई दिल्ली। देश फिलहाल कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा है, जो कि पहली लहर से ज्यादा खतरनाक है। हालांकि अर्थव्यवस्था पर करीब से नजर रखने वाले अनुमान जता रहे हैं कि दूसरी लहर का घरेलू अर्थव्यवस्था पर असर वैसा नहीं होगा जैसा 2020 में देखने को मिला था, हालांकि इससे रिकवरी की राह पर जरूर असर पड़ा है। फिच रेटिंग्स ने सोमवार को कहा कि कोविड-19 महामारी की ताजा लहर से अप्रैल-मई में आर्थिक गतिविधियां घटी हैं, लेकिन ये झटका 2020 के मुकाबले कम गंभीर होगा। साथ ही फिच ने कहा कि इसके चलते सुधार में देरी होने की आशंका है।

वित्तीय संस्थानों पर बढ़ सकता है जोखिम

वैश्विक रेटिंग एजेंसी ने कहा कि ऐसे संकेत बढ़ रहे हैं कि कोविड संक्रमण की ताजा लहर से वित्तीय संस्थानों के लिए जोखिम बढ़ सकते हैं और अनुमान है कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) वित्तीय क्षेत्र की मदद के लिए अतिरिक्त उपाय कर सकता है। फिच ने एक रिपोर्ट में कहा, ‘‘हमें उम्मीद है कि भारत में महामारी की ताजा लहर से 2020 के मुकाबले आर्थिक गतिविधियों को कम नुकसान होगा, भले ही संक्रमण का प्रकोप पहले से अधिक है। फिर भी संकेतक अप्रैल-मई में गतिविधियों में कमी दर्शाते हैं, जिससे सुधार में देरी हो सकती है।’’ 
पहले से तेज ही संक्रामक है दूसरी लहर
लगातार चार दिन कोरोना वायरस संक्रमण के चार लाख से अधिक नए मामले सामने आने के बाद भारत में सोमवार को एक दिन में कोविड-19 के 3,66,161 मामले सामने आए और इसी के साथ देश में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 2,26,62,575 हो गए। स्वास्थ्य मंत्रालय के सोमवार को सुबह आठ बजे तक अपडेट किए गए आंकड़ों के अनुसार, 3,754 और लोगों की संक्रमण के कारण मौत होने के बाद कुल मृतक संख्या बढ़कर 2,46,116 हो गई। देश में उपचाराधीन मामलों की संख्या बढ़कर 37,45,237 हो गई, जो संक्रमण के कुल मामलों का 16.53 प्रतिशत है, जबकि संक्रमित लोगों के स्वस्थ होने की दर 82.39 प्रतिशत है। आंकड़ों के अनुसार, अब तक 1,86,71,222 लोग संक्रमित होने के बाद ठीक हो चुके हैं, जबकि मृत्युदर 1.09 प्रतिशत है।

Latest Business News

Write a comment
>independence-day-2022