1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Coronavirus: कोरोना ने तोड़ी शेयर बाजार की कमर, इतिहास में सबसे बड़ी गिरावट

Coronavirus: कोरोना ने तोड़ी शेयर बाजार की कमर, इतिहास में सबसे बड़ी गिरावट

कोरोना वायरस को महामारी घोषित करने के बाद घरेलू शेयर बाजार में रिकॉर्ड गिरावट देखने को मिली है, और एक दिन में निवेशकों के 11 लाख करोड़ रुपये से अधिक डूब गए।

India TV Business Desk India TV Business Desk
Updated on: March 12, 2020 16:08 IST
Market mayhem, investor wealth, Sensex- India TV Paisa

Market mayhem wipes off over Rs 8 lakh crore investor wealth

नई दिल्ली। घरेलू स्टॉक मार्केट में आज रिकॉर्ड गिरावट देखने को मिली है। आज के सत्र में सेंसेक्स में अंकों के आधार पर अब तक की सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिली है। वहीं प्रतिशत के हिसाब से साल 2008 के बाद बाजार में सबसे बड़ी एक दिनी गिरावट दर्ज हुई है। आज के कारोबार में सेंसेक्स 2919 अंक की गिरावट  के साथ 32778 के स्तर पर बंद हुआ है। वहीं, निफ्टी 868 अंक की गिरावट के साथ 9590 के स्तर पर बंद हुआ है। दोनो ही इंडेक्स में करीब 8 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिली है। 

Related Stories

बाजार में गिरावट से एक दिन में निवेशकों को करीब 11 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। बीएसई पर लिस्टेड सभी कंपनियों का कुल मार्केट कैप 10.9 लाख करोड़ रुपये घट गया है। वहीं साल 2020 में अब तक बीएसई का कुल मार्केट कैप 29 लाख करोड़ रुपये घट गया है।

शेयर बाजार में आज की गिरावट की मुख्य वजह कोरोनावायरस का असर है। फिलहाल कोरोना वायरस के फैलने की रफ्तार काफी तेज हो गई है। बुधवार को ही कोरोना वायरस के नए मामलों की संख्या अब तक के सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंच गई है। भारत सहित कई देशों ने खुद की सीमाओं पर प्रतिबंध लगा दिए हैं, इससे दुनिया भर के कारोबार पर काफी बुरा असर पड़ने की आशंका बन गई है। बाजार को आशंका है कि चीन से शुरू हुए प्रतिबंधों के अब कई देशों तक पहुंचने की वजह से कंपनियों की आय पर पहली तिमाही के दौरान पड़ने वाला असर आगे दूसरी तिमाही में भी पहुंच सकता है। 

 

महामारी से घबराई दुनिया

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बुधवार देर रात नए कोरोना वायरस के प्रकोप को महामारी घोषित किया और इसकी रोकथाम की तैयारियों को लेकर चिंता जताई। इस घोषणा के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अगले 30 दिनों तक ब्रिटेन को छोड़कर सभी यूरोपीय देशों की अपनी यात्रा रद्द कर दी है। कच्चे तेल की कीमतों में भी गिरावट का रुख है। ब्रेंट क्रूड वायदा पांच प्रतिशत टूटकर 34 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया है। इस सभी वैश्विक कारणों की चपेट में घरेलू शेयर बाजार भी आ गया।

सेंसेक्स के सभी शेयरों में घाटे के साथ कारोबार हो रहा था। टाटा स्टील में सबसे अधिक नौ प्रतिशत की गिरावट हुई। इसके अलावा ओएनजीसी, एसबीआई, टाइटन, एक्सिस बैंक, एमएंडएम, अल्ट्राटेक सीमेंट, एलएंडटी और आरआईएल में भी बिकवाली देखी गई। इस दौरान एशियाई बाजारों में भी गिरावट रही। 

Write a comment
X