1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. गैजेट
  5. Oppo के नए ऑपरेटिंग सिस्टम कलर ओएस7 में निजता पर जोर, डिजि लॉकर के साथ है एकीकृत

Oppo के नए ऑपरेटिंग सिस्टम कलर ओएस7 में निजता पर जोर, डिजि लॉकर के साथ है एकीकृत

कंपनी ने अपने रीनो और रीनो 10एक्सजूम फोन में मंगलवार से ही नए ऑपरेटिंग सिस्टम का अपग्रेड देना शुरू कर दिया है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: November 26, 2019 19:07 IST
OPPO integrates Digilocker service into ColorOS 7- India TV Paisa
Photo:OPPO

OPPO integrates Digilocker service into ColorOS 7

नई दिल्‍ली। स्मार्टफोन बनाने वाली चीन की कंपनी ओप्पो ने अपने नए ऑपरेटिंग सिस्टम कलर ओएस7 को यहां मंगलवार को एक विशेष समारोह में वैश्विक बाजार के लिए पेश किया। इसमें निजता को प्रमुखता देने वाले डॉक वॉल्ट, प्राइवेट सेफ जैसे कई फीचर जोड़े गए हैं। कलर ओएस के वरिष्ठ प्रधान इंजीनियर मनोज कुमार ने डॉक वॉल्ट के बारे में बताया कि इस एप के लिए सूचना प्रौद्योगिक और इलेक्ट्रॉनिक्स मंत्रालय के साथ साझेदारी की गई है और ओप्पो ऐसा करने वाली पहली स्मार्टफोन कंपनी है।

इस एप को सरकार की डिजि लॉकर सेवा के साथ एकीकृत करके तैयार किया गया है। डॉक वॉल्ट में ग्राहक अपने ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, पैन कार्ड जैसे जरूरी दस्तावेजों को डिजिटल स्वरूप में रख सकते हैं। इस एप को लेकर डाटा निजता उल्लंघन से जुड़ी चिंताओं के बारे में कुमार ने कहा कि डॉक वॉल्ट एप पूरी तरह से कूट भाषा (इन्क्रिप्टेड) में तैयार की गई है।

कंपनी ने यह एप सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुरूप तैयार की है। इसे तैयार करने में उनके शोध इंजीनियरों ने छह माह से अधिक समय लगाया है। चीन की कंपनियों द्वारा लोगों का डाटा वापस चीन भेजे जाने के सवाल पर कुमार ने कहा कि मैं आपको पूरी तरह से आश्वस्त कराता हूं कि इस संबंध में हम सरकार के नियमों का पालन कर रहे हैं। लोगों का डाटा भारत में ही रखा गया है। कंपनी के हैदराबाद स्थित शोध-विकास केंद्र में नए ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए कई स्थानीय फीचर जोड़े गए हैं। डॉक वॉल्ट उन्हीं में से एक है। इसके अलावा ‘दोपहिया वाहन मोड’, ‘कार मोड’ भी इसमें जोड़े गए हैं। कं

पनी के इस शोध-विकास केंद्र पर करीब 300 इंजीनियर काम करते हैं। निजता पर जोर देते हुए कंपनी ने अपने इस ऑपरेटिेंग सिस्टम में प्राइवेट सेफ फीचर भी जोड़ा है। कलर ओएस के वरिष्ठ रणनीति प्रबंधक मार्टिन लियू ने कहा कि अभी हम तीसरे पक्ष के कई ऐसे एप इस्तेमाल करते हैं जिनके लिए फोन पर बहुत सारी मंजूरियां देनी पड़ती हैं और फिर वह एप पीछे से आपकी कई सारी जानकारियां इस्तेमाल करते रहते हैं। प्राइवेट सेफ मोड को शुरू करने के बाद ऐसे एप फोन से आपकी जानकारियां नहीं इस्तेमाल कर पाते।

कंपनी ने नए ऑपरेटिंग सिस्टम में सेल्फी लेने वालों के लिए ‘एआई ब्यूटिफिकेशन 2.0’, ‘पोट्रेट बोके’ और रात में फोटोग्राफी के लिए ‘अल्ट्रा नाइट मोड’ जैसे फीचर उतारे हैं। कंपनी ने अपने रीनो और रीनो 10एक्सजूम फोन में मंगलवार से ही नए ऑपरेटिंग सिस्टम का अपग्रेड देना शुरू कर दिया है। यह ऑपरेटिंग सिस्टम अंग्रेजी, हिंदी, थाई और इंडोनेशियाई भाषा समेत कुल 80 भाषाओं को सपोर्ट करता है। 

Write a comment