1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. शेयर बाजार में इस हफ्ते करनी है कमाई, जानिए क्या है जानकारों की राय

शेयर बाजार में इस हफ्ते करनी है कमाई, जानिए क्या है जानकारों की राय

शुक्रवार को बीएसई के 30 शेयरों वाले सेंसेक्स में 1,940 अंक की जबर्दस्त गिरावट आई। यह सेंसेक्स में करीब 10 माह में एक दिन की सबसे बड़ी गिरावट है। बीते हफ्ते सेंसेक्स और निफ्टी 3 प्रतिशत से अधिक टूट गए हैं।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: February 28, 2021 18:38 IST
कैसा रहेगा बाजार का...- India TV Paisa
Photo:PTI

कैसा रहेगा बाजार का अगला हफ्ता

नई दिल्ली। बीते हफ्ते बाजार में आई तेज गिरावट के बाद इस हफ्ते निवेशकों की सतर्कता देखने को मिल सकती है। बाजार के जानकार ऐसा अनुमान लगा रहे हैं। जानकारों की माने तो कच्चे तेल की कीमतें, कोरोना संकट और वृहद आर्थिक आंकड़े इस सप्ताह शेयर बाजार की दिशा तय करेंगे। इसके साथ ही विश्लेषकों ने कहा है कि शेयर बाजारों में कई दिन की गिरावट के बाद अब निवेशक कुछ ‘शांत’ रहेंगे। इसके अलावा विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) के निवेश के रुख, फरवरी के वाहन बिक्री के आंकड़ों, सेवा और विनिर्माण क्षेत्र के आंकड़ों पर भी निवेशकों की निगाहें रहेंगी। इसके साथ ही विभिन्न राज्यों में कोरोना वायरस की स्थिति से भी बाजार की दिशा प्रभावित हो सकती है।

क्या है जानकारों की राय

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के खुदरा शोध प्रमुख सिद्धार्थ खेमका ने कहा, ‘‘कमजोर वैश्विक रुख के बीच बाजार में अभी गिरावट रहेगी। निवेशकों की नजर बांड प्राप्ति, भूराजनीतिक तनाव और मुद्रास्फीति के आंकड़ों पर रहेगी। इसके अलावा उनकी निगाह अमेरिका में नयी प्रोत्साहन घोषणा से जुड़े घटनाक्रमों पर भी रहेगी।’’ कोटक सिक्योरिटीज के उपाध्यक्ष एवं बुनियादी शोध प्रमुख रुस्मिक ओझा ने कहा कि भारतीय बाजार में वैश्विक बांड प्राप्ति बढ़ने की तत्काल प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। निकट भविष्य में भारतीय बाजारों को वैश्विक स्तर पर ‘करेक्शन’ का दबाव भी झेलना पड़ सकता है। हालांकि, उसके बाद बाजार में सुधार आएगा।

क्या है बाजार के लिए संकेत

सोमवार को बाजार दिसंबर तिमाही के सकल घरेलू उत्पाद के आंकड़ों पर भी प्रतिक्रिया देगा। अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में जीडीपी की वृद्धि दर 0.4 प्रतिशत रही है। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के प्रब्रंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) धीरज रेली ने कहा, ‘‘तीसरी तिमाही के जीडीपी आंकड़े हमारे 0.8 प्रतिशत की वृद्धि के अनुमान से कम हैं। हालांकि, कुछ अनुमानों में तो वृद्धि दर 1.4 से दो प्रतिशत रहने की बात कही गई थी। इन आंकड़ों से शेयर बाजार कुछ निराशा होगा।’’ विश्लेषकों ने कहा कि इसके अलावा बाजार की निगाह ब्रेंट कच्चे तेल के रुख तथा रुपये के उतार-चढ़ाव पर भी रहेगी।

कैसा रहा था बीता हफ्ता

एक फरवरी को आम बजट पेश होने के बाद शेयर बाजारों में कई बार तेजी का सिलसिला चला। लेकिन बीते सप्ताह बाजार में बड़ी गिरावट आई। इस दौरान सेंसेक्स और निफ्टी तीन प्रतिशत से अधिक टूट गए। शुक्रवार को बीएसई के 30 शेयरों वाले सेंसेक्स में 1,940 अंक की जबर्दस्त गिरावट आई। यह सेंसेक्स में करीब 10 माह में एक दिन की सबसे बड़ी गिरावट है।

 

Write a comment
health conf 2021
X