1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. फायदे की खबर
  5. साल 2021 में मिलेगी सैलरी में बढ़ोतरी की खुशखबरी, जानिए कितना बढ़ सकता है वेतन

साल 2021 में मिलेगी सैलरी में बढ़ोतरी की खुशखबरी, जानिए कितना बढ़ सकता है वेतन

सर्वे में बैंकिंग और वित्त, निर्माण और इंजीनियरिंग, शिक्षा, एफएमसीजी, फार्मा, रियल एस्टेट, रिटेल, टेलीकॉम, ऑटो सेक्टर सहित कई अन्य सेक्टर की 1200 कंपनियां शामिल हुई।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: April 13, 2021 19:46 IST
एक सर्वे में वेतन...- India TV Paisa

एक सर्वे में वेतन बढ़ने का दिया अनुमान

नई दिल्ली। पिछले साल कोरोना वायरस महामारी की वजह से गिरावट दर्ज कर चुकी अर्थव्यवस्था अब धीरे धीरे उबर रही है। ऐसे में बीते वर्ष वेतन वृद्धि को लेकर निराशा का सामना कर चुके कर्मचारियों को इस साल खुशखबरी मिल सकती है। एक सर्वे में अनुमान दिया गया है कि देश में आधे से ज्यादा कंपनियां अपने कर्मचारियों का वेतन बढ़ाने की तैयारी कर रही हैं।

वेतन में बढ़ोतरी को लेकर सर्वे में क्या है खास

एक अध्ययन में कहा गया है कि इस साल यानी 2021 में भारत में 59 प्रतिशत कंपनियां अपने कर्मचारियों को वेतनवृद्धि देने की तैयारी कर रही हैं। स्टाफिंग कंपनी जीनियस कंसल्टेंट्स की नियुक्ति, कर्मचारियों के कंपनी छोड़ने और वेतन के रुख पर 2021-22 रिपोर्ट में कहा गया है कि अच्छी वृद्धि दर के साथ बाजार के भी स्थिर रहने की उम्मीद है। कंपनियां अपने कारोबार की निरंतरता की रणनीति पर काम करने के अलावा श्रमबल को भी मजबूत करेंगी। रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘इस साल वेतनवृद्धि का परिदृश्य अच्छा दिख रहा है। बीते साल कोरोना संकट की वजह से नौकरियों पर बुरा असर देखने को मिला था। कई कंपनियों ने छंटनी की जगह सैलरी में कटौती जैसे कदम उठाए थे। हालांकि स्थिति में सुधार होते देख कंपनियां एक बार फिर अपने कर्मचारियों पर फोकस बढ़ा रही हैं। 

कितनी बढ़ेगी सैलरी

59 प्रतिशत कंपनियों ने कहा कि इस साल वे 5 से 10 प्रतिशत के बीच वेतनवृद्धि देंगी। वहीं 20 प्रतिशत कंपनियों ने कहा कि वेतनवृद्धि पांच प्रतिशत से कम रहेगी। 21 प्रतिशत का कहना था कि इस साल भी कर्मचारियों के वेतन में वृद्धि नहीं होगी।’’ यह अध्ययन फरवरी और मार्च के दौरान 1,200 कंपनियों के बीच ऑनलाइन किया गया। इनमें बैंकिंग और वित्त, निर्माण और इंजीनियरिंग, शिक्षा/शिक्षण/प्रशिक्षण, एफएमसीजी, आतिथ्य, एचआर समाधान, आईटी, आईटीईएस और बीपीओ, लॉजिस्टिक्स, विनिर्माण, मीडिया, तेल एवं गैस, फार्मा और चिकित्सा, बिजली और ऊर्जा, रियल एस्टेट, खुदरा, दूरसंचार, वाहन और संबद्ध क्षेत्र की कंपनियां शामिल हैं।

यह भी पढ़ें:  PM Awas योजना का लाभ पाने वालों में आपका नाम है शामिल? घर बैठे लें जानकारी

यह भी पढ़ें:  आधार का हुआ है गलत इस्तेमाल? इस आसान तरीके से करें चेक

Write a comment
X