1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. मेरा पैसा
  5. 6 साल बाद गोल्‍ड ईटीएफ में लौटी चमक, 2019 में निवेशकों ने किया 16 करोड़ रुपए का निवेश

6 साल बाद गोल्‍ड ईटीएफ में लौटी चमक, 2019 में निवेशकों ने किया 16 करोड़ रुपए का निवेश

खुदरा निवेशक इक्विटी से बेहतर आय होने के कारण पिछले कुछ साल से गोल्ड ईटीएफ की तुलना में इक्विटी में अधिक निवेश कर रहे थे।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: January 09, 2020 16:57 IST
After a gap of 6 years, gold ETFs witness inflows in 2019- India TV Paisa

After a gap of 6 years, gold ETFs witness inflows in 2019

नई दिल्‍ली। वैश्विक बाजारों में नरमी तथा शेयर व ऋणपत्र बाजारों में उथल-पुथल की आशंका के बीच 2019 में छह साल बाद निवेशकों ने गोल्‍ड ईटीएफ में पैसा लगाया है। निवेशकों ने पिछले साल गोल्‍ड ईटीएफ में 16 करोड़ रुपए का निवेश किया।

मॉर्निंगस्टार इंवेस्टमेंट एडवाइजर इंडिया के वरिष्ठ विश्लेषण प्रबंधक (शोध) हिंमाशु श्रीवास्तव ने कहा कि आने वाले समय में गोल्‍ड ईटीएफ में निवेश में और तेजी देखने को मिल सकती है। उन्होंने कहा कि अमेरिका और ईरान के बीच पनपे हालिया तनाव से वैश्विक अर्थव्यवस्था को हो सकने वाले जोखिम को देखते हुए निवेशक गोल्‍ड ईटीएफ का रुख कर सकते हैं।

एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया के आंकड़ों के अनुसार, दिसंबर 2019 में गोल्‍ड फंड्स द्वारा प्रबंधित संपत्ति साल भर पहले के 4,571 करोड़ रुपए की तुलना में 26 प्रतिशत बढ़कर 5,768 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। खुदरा निवेशक इक्विटी से बेहतर आय होने के कारण पिछले कुछ साल से गोल्‍ड ईटीएफ की तुलना में इक्विटी में अधिक निवेश कर रहे थे।

आंकड़ों के अनुसार, 2019 में निवेशकों ने 14 गोल्‍ड ईटीएफ में 16 करोड़ रुपए निवेश किए। इससे पहले उन्होंने 2018 में 571 करोड़ रुपए, 2017 में 730 करोड़ रुपए, 2016 में 942 करोड़ रुपए, 2015 में 891 करोड़ रुपए, 2014 में 1651 करोड़ रुपए और 2013 में 1815 करोड़ रुपए निकाले थे। जबकि इससे पहले 2012 में निवेशकों ने गोल्‍ड ईटीएफ में 1826 करोड़ रुपए लगाए थे। श्रीवास्तव ने कहाए कि ‘वैश्विक बाजारों में नरमी की आशंका के चलते हालिया समय में सुरक्षित निवेश के रूप में गोल्‍ड ईटीएफ की चमक वापस लौटी है।

Write a comment
Click Mania
Modi Us Visit 2021