Monday, June 10, 2024
Advertisement
  1. Hindi News
  2. पैसा
  3. मेरा पैसा
  4. 30 साल की हो चुकी उम्र तो आपके पास जरूर होने चाहिए ये 4 इंश्योरेंस, आएंगे काम मिलेगी बड़ी मदद

30 साल की हो चुकी उम्र तो आपके पास जरूर होने चाहिए ये 4 इंश्योरेंस, आएंगे काम मिलेगी बड़ी मदद

जब आप 30 साल की उम्र में आ जाते हैं तो आपकी फानेंशियल प्लानिंग में लाइफ इंश्योरेंस यानी जीवन बीमा पॉलिसी, हेल्थ इंश्योरेंस सहित कुछ खास इंश्योरेंस पॉलिसी होनी चाहिए।

Written By: Sourabha Suman @sourabhasuman
Updated on: May 23, 2024 13:23 IST
हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी वरदान से कम नहीं हैं। - India TV Paisa
Photo:FREEPIK हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी वरदान से कम नहीं हैं।

इंश्योरेंस पॉलिसी सैलरी क्लास, खास तौर से मध्यम आयु वर्ग के व्यक्तियों के लिए एक प्रमुख बचत उपकरण के रूप में उभरी हैं। इंश्योरेंस पॉलिसी चाहे वह किसी भी तरह की हो समय आने पर आपकी मदद ही करती है। यह अलग-अलग अर्थों में आपकी और आपके परिवार की आर्थिक सुरक्षा में मददगार सबित होते हैं। जानकारों का कहना है कि अगर आप 30 साल की उम्र के पड़ाव पर आ चुके हैं तो आपके पास अलग-अलग तरह की जरूरी इंश्योंरेंल पॉलिसी होनी चाहिए। हम यहां चार प्रमुख प्रकार की बीमा योजनाओं पर चर्चा करेंगे जिनपर 30 साल के व्यक्ति को एक अच्छे निवेश उपकरण के रूप में विचार करना चाहिए।

लाइफ इंश्योरेंस स्कीम

जब आप 30 साल की उम्र में आ जाते हैं तो आपकी फानेंशियल प्लानिंग में लाइफ इंश्योरेंस यानी जीवन बीमा पॉलिसी का होना सबसे महत्वपूर्ण जरूरतों में से एक है। इस उम्र में, व्यक्ति के पास सबसे अधिक देनदारियां और आश्रित लोग होते हैं। एक टर्म बीमा योजना आपके परिवार को अनिश्चित समय में वित्तीय सुरक्षा प्रदान करती है, यहां तक कि आपकी गैरमौजूदगी में भी। इस प्रकार का जीवन बीमा एक शुद्ध सुरक्षा, सरल और लागत प्रभावी योजना है, जो अन्य जीवन बीमा उत्पादों की तुलना में सस्ती है।  आपकी मृत्यु की स्थिति में, एक टर्म बीमा योजना आपके परिवार को वित्तीय कवर प्रदान करती है जो उन्हें अपने सामान्य जीवन और खर्चों को जारी रखने में मदद करती है। लाभार्थी द्वारा प्राप्त राशि का उपयोग दैनिक व्यय का भुगतान करने, मौजूदा ऋणों को चुकाने और किसी भी अन्य लागत के लिए किया जा सकता है।

हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी है बेहद जरूरी

मेडिकल इमरजेंसी कभी भी और किसी भी समय हो सकती है। जानकारों का मानना है कि किसी को भी इसके लिए तैयार रहना चाहिए। इसमें हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी वरदान से कम नहीं हैं। ये हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी या स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियां किसी भी अचानक बीमारी के चलते होने वाले मेडिकल खर्च को कवर करती हैं। इन खर्चों में अस्पताल में भर्ती होने की लागत, दवा की लागत या डॉक्टर परामर्श शुल्क शामिल हैं। आपको हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी जरूर लेनी चाहिए।

मेडिक्लेम पॉलिसी अस्पतालों में इलाज की लागत को कवर करती हैं। अस्पतालों में होने वाले खर्चों का भुगतान बीमा कंपनियों द्वारा किया जाता है। अधिकांश मेडिक्लेम योजनाएं पॉलिसीधारक और उसके आश्रित परिवार के सदस्यों को कवर करती हैं। आज के महंगे इलाज के दौर में हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी आपको जरूर खरीदनी चाहिए।

दीर्घकालिक विकलांगता बीमा कवरेज

दीर्घकालिक विकलांगता बीमा उस व्यक्ति के लिए है जो गंभीर विकलांगता से पीड़ित है, जिसके कारण वह काम करने और कमाने में असमर्थ है। अगर कोई कर्मचारी बीमारी, दुर्घटना या किसी चोट के कारण लंबे समय तक अपनी आय का स्रोत खो देता है, तो दीर्घकालिक विकलांगता बीमा उसे वित्तीय रूप से सुरक्षा प्रदान करता है। आईसीआईसीआई डायरेक्टर के मुताबिक, क्योंकि दीर्घकालिक विकलांगता बीमा यह सुनिश्चित करता है कि कर्मचारी को अभी भी उसकी आय का एक प्रतिशत हासिल हो। हालांकि, इस प्रकार की बीमा पॉलिसी किसी कर्मचारी को केवल व्यक्तिगत दुर्घटना की स्थिति में ही कवर करती है।

होम इंश्योरेंस पॉलिसी

आपके साथ-साथ, आपके घर को भी चोरी या नुकसान जैसे कुछ खतरों से बचाना जरूरी होता है। होम इंश्योरेंस पॉलिसी या गृह बीमा पॉलिसी सभी तरह की सुरक्षा प्रदान करती है और न सिर्फ आपके घर की संरचना को बल्कि आपको, आपके परिवार के सदस्यों और किसी भी अन्य देयता को भी कवर करती है। होम इंश्योरेंस पॉलिसी को उनके द्वारा प्रदान किए जाने वाले कवर के प्रकार के आधार पर दो भागों में वर्गीकृत किया जाता है। ये क्षति के लिए कवर और देयताओं के लिए कवर हैं। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि एक बीमा पॉलिसी जोखिम कवरेज के लिए होती है और इसका उद्देश्य रिटर्न प्रदान करना नहीं होता है।

Latest Business News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Personal Finance News in Hindi के लिए क्लिक करें पैसा सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement