1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विषय

debt न्यूज़

Debt burden: सरकार की कुल देनदारियां बढ़कर 133 लाख करोड़ के पार, कच्चे तेल ने बढ़ाया बोझ

बिज़नेस | Jun 30, 2022, 09:16 PM IST

रिपोर्ट में कहा गया है कि चौथी तिमाही में कच्चे तेल की कीमतें भी ऊंचे स्तर पर रहीं। कच्चे तेल की कीमतों के उच्चस्तर ने घरेलू बाजार में 10-साल के सरकारी प्रतिभूति प्रतिफल को प्रभावित किया।

चीनी कर्ज के मकड़जाल में 'कंगाल' हुए पाकिस्तान और श्रीलंका, 39 अफ्रीकी देशों पर ड्रैगन की गुलामी का खतरा

बिज़नेस | Jan 03, 2022, 03:28 PM IST

गरीब देशों की भ्रष्ट सरकारें चीन का लोन लेकर डिफॉल्ट कर रही हैं, और मौके का फायदा उठाकर चीन इन देशों में जमीनें, द्वीप और हवाई अड्डे हथिया रहा है।

पाकिस्तान खुद को बेचकर भी नहीं चुका पाएगा पूरा कर्ज, प्रधानमंत्री इमरान खान ने बताई वजह

बिज़नेस | Nov 25, 2021, 02:01 PM IST

स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान (एसबीपी) ने सितंबर 2021 तक कर्ज के आंकड़े जारी किए, जिसके एक दिन बाद प्रधानमंत्री इमरान खान ने बढ़ते कर्ज को "राष्ट्रीय सुरक्षा मुद्दा" बता दिया है।

देश का विदेशी कर्ज 2.1 प्रतिशत बढ़कर 570 अरब डॉलर पर पहुंचा, सरकारी कर्ज में भी बढ़त

बिज़नेस | Sep 29, 2021, 08:09 PM IST

गैर-सरकारी कर्ज सालाना आधार पर 12 प्रतिशत बढ़कर 462.8 अरब डॉलर पर पहुंच गया। इस दौरान एनआरआई जमा 8.7 प्रतिशत बढ़कर 141.9 अरब डॉलर पर पहुंच गई

दक्षिण भारतीय परिवारों पर कर्ज बोझ ज्यादा, केरल की करीब आधी शहरी आबादी ने उठाया कर्ज : रिपोर्ट

बिज़नेस | Sep 28, 2021, 05:59 PM IST

सबसे ऊंचे डेट टू एसेट रेश्यो वाले 5 राज्यो में से 4 दक्षिण भारत में हैं। कर्ज लेने वाले शहरी परिवारों की कैटेगरी में केरल और ग्रामीण इलाकों में तेलंगाना सबसे आगे हैं।

देश में 2019 में 50 प्रतिशत से अधिक कृषक परिवार कर्ज में, प्रति परिवार औसत ऋण 74,121 रुपये: सर्वे

बिज़नेस | Sep 10, 2021, 11:16 PM IST

एनएसओ ने जनवरी-दिसंबर 2019 के दौरान देश के ग्रामीण क्षेत्रों में परिवार की भूमि और पशुधन के अलावा कृषि परिवारों की स्थिति का आकलन किया। सर्वे के अनुसार कृषि वर्ष 2018-19 (जुलाई-जून) के दौरान प्रति कृषि परिवार की औसत मासिक आय 10,218 रुपये थी।

वोडाफोन पर दूरसंचार विभाग से बोले बैंक, कर्ज को इक्विटी में बदलना एक विकल्प

बिज़नेस | Aug 09, 2021, 02:30 PM IST

वीआईएल के असफल होने की स्थिति में सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के ऋणदाताओं को 1.8 लाख करोड़ रुपये के नुकसान की आशंका है।

दूरसंचार क्षेत्र को वित्तीय दबाव से उबारने के लिए बैंकों से बातचीत कर रहा है DoT

बिज़नेस | Aug 08, 2021, 02:09 PM IST

यदि वीआईएल का संकट हल नहीं होता है, तो सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के बैंकों को कुल मिलाकर 1.8 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है।

एफपीआई का अगस्त में अब तक भारतीय बाजारों में 1,210 करोड़ रुपये निवेश

बिज़नेस | Aug 08, 2021, 01:31 PM IST

दो से छह अगस्त के दौरान एफपीआई ने शेयरों में 975 करोड़ रुपये का निवेश किया है। ऋण या बांड बाजार में उनका निवेश 235 करोड़ रुपये रहा है।

कोविड संकट के बीच धन जुटाने के लिए 2 लाख करोड़ रुपये उधार लेंगे राज्य

बिज़नेस | Jul 11, 2021, 08:37 AM IST

इस तिमाही के दौरान उत्तर प्रदेश 25,000 करोड़ रुपये और महाराष्ट्र 22,500 करोड़ रुपये, बिहार 12,000 करोड़ रुपये और पश्चिम बंगाल लगभग 18,000 करोड़ रुपये उधार लेगा

बैंकों का ऋण कारोबार 6.63 प्रतिशत बढ़ा, जमा में 12.06 प्रतिशत की बढ़त

बिज़नेस | Mar 14, 2021, 03:45 PM IST

आंकड़ों के अनुसार 12 फरवरी, 2021 को समाप्त पखवाड़े में बैंकों का ऋण 6.58 प्रतिशत बढ़कर 107.04 लाख करोड़ रुपये और जमा 11.75 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ 147.81 लाख करोड़ रुपये पर थी।

संसदीय समिति ने एनएचएआई से कर्ज रीस्ट्रक्चरिंग की संभावना तलाशने को कहा

बिज़नेस | Mar 09, 2021, 10:07 PM IST

समिति ने सिफारिश की है कि योजनाओं की लागत न बढ़े इसलिए एनएचएआई अटकी परियोजनाओं को पूरा करने पर फोकस करे

अगले वित्त वर्ष में 12 लाख करोड़ रुपये का कर्ज जुटाएगी सरकार : वित्त मंत्री

बिज़नेस | Feb 01, 2021, 02:44 PM IST

अगले वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटा सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 6.8 प्रतिशत रहने का अनुमान है। हालांकि, चालू वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटा बढ़कर 9.5 प्रतिशत के ऊंचे स्तर पर पहुंच सकता है।

एफपीआई ने जनवरी में भारतीय बाजारों में 14,649 करोड़ रुपये का निवेश किया

बिज़नेस | Jan 31, 2021, 05:54 PM IST

दिसंबर में विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने भारतीय बाजारों में 68558 करोड़ रुपये का निवेश किया वहीं निवेशकों ने अक्टूबर में 22,033 करोड़ रुपये तथा नवंबर में 62,951 करोड़ रुपये निवेश किया। एफपीआई ने साल 2020 में भारतीय शेयर बाजार में 1.4 लाख करोड़ रुपये का रिकॉर्ड निवेश किया।

पांच राज्यों को 16,728 करोड़ रुपये का अतिरिक्त कर्ज लेने की वित्त मंत्रालय से मंजूरी

बिज़नेस | Dec 20, 2020, 06:49 PM IST

कोविड-19 के संकट को देखते हुए मई में केद्र सरकार ने राज्यों की कर्ज की सीमा विभिन्न सुधारवादी शर्तों के साथ कुल मिला कर 2 प्रतिशत बढ़ाने की घोषणा की। इन शर्तां में एक-देश-एक-राशनकार्ड , कारोबार सुगमता, नगर निकाय/सार्वजनिक सेवाओं में सुधार और बिजली क्षेत्र में सुधार शामिल हैं।

कंपनियों ने अक्टूबर में पूंजी बाजारों से 73,215 करोड़ रुपये जुटाए

बिज़नेस | Dec 07, 2020, 07:36 PM IST

इससे पहले सितंबर में कंपनियों ने कैपिटल मार्केट से 75,232 करोड़ रुपये जुटाए थे। वहीं अगस्त के दौरान कंपनियों ने बाजार से कुल 1.1 लाख करोड़ रुपये की राशि जुटाई थी।

इस साल राज्यों का कर्ज बढ़कर 68 लाख करोड़ रुपये हो जाने का अनुमान: रिपोर्ट

बिज़नेस | Dec 01, 2020, 07:58 PM IST

चालू वित्त वर्ष में राज्यों की आय में 15 प्रतिशत की गिरावट आयी है। जबकि उनकी उधारी 36 प्रतिशत बढ़कर 68 लाख करोड़ रुपये होने का अनुमान है जो दशक का उच्च स्तर है। राज्यों का राजस्व घाटा चालू वित्त वर्ष में छह प्रतिशत रहने का अनुमान है।

एफपीआई ने सितंबर में भारतीय बाजारों से 476 करोड़ रुपये निकाले

बाजार | Sep 27, 2020, 04:30 PM IST

एफपीआई ने एक से 25 सितंबर के दौरान शेयरों से शुद्ध रूप से 4,016 करोड़ रुपये निकाले। इस दौरान उन्होंने बांड मार्केट में 3,540 करोड़ रुपये का निवेश किया है। । एफपीआई ने जून से अगस्त के बीत लगातार तीन महीने बाजार से निवेश किया है।

भारत 2021 तक सबसे ज्यादा कर्ज बोझ वाली उभरती अर्थव्यवस्थाओं में से एक होगा: मूडीज

बिज़नेस | Sep 01, 2020, 09:19 PM IST

केन्द्र सरकार का राजकोषीय घाटा लॉकडाउन के कारण कमजोर राजस्व संग्रह के चलते वित्त वर्ष के शुरुआती चार महीनों (अप्रैल- जुलाई) में ही पूरे साल के बजट अनुमान को पार कर गया है। वित्त वर्ष 2020- 21 के बजट में राजकोषीय घाटे के 7.96 लाख करोड़ रुपये यानी सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 3.5 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया गया था।

टाटा मोटर्स का 3 साल में कर्ज मुक्त कंपनी बनने का लक्ष्य: चंद्रशेखरन

बिज़नेस | Aug 25, 2020, 10:43 PM IST

टाटा मोटर्स समूह पर फिलहाल 48,000 करोड़ रुपये का कर्ज है। कर्ज घटाने के लिए कंपनी की गैर जरूरी निवेश और संपत्तियों को बेचने की योजना है साथ ही निवेश योजना को नियंत्रित रखने पर भी जोर दिया जाएगा। चालू वित्त वर्ष में कुल निवेश 50 फीसदी घटा है।