1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. अक्षय तृतीय पर ज्वैलर्स के लिए लगातार दूसरा बुरा साल, सिर्फ 10- 15 प्रतिशत बिक्री की उम्मीद

अक्षय तृतीय पर ज्वैलर्स के लिए लगातार दूसरा बुरा साल, सिर्फ 10- 15 प्रतिशत बिक्री की उम्मीद

अक्षय तृतीय के दिन शुक्रवार को कारोबार की शुरुआत काफी कमजोर रही और आभूषण विक्रेताओं को इस बार 10 से 15 प्रतिशत बिक्री कारोबार होने की उम्मीद लग रही है।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: May 14, 2021 15:43 IST
अक्षय तृतीय पर...- India TV Hindi News
Photo:FILE

अक्षय तृतीय पर ज्वैलर्स के लिए लगातार दूसरा बुरा साल, सिर्फ 10- 15 प्रतिशत बिक्री की उम्मीद 

मुंबई। अक्षय तृतीय के दिन शुक्रवार को कारोबार की शुरुआत काफी कमजोर रही और आभूषण विक्रेताओं को इस बार 10 से 15 प्रतिशत बिक्री कारोबार होने की उम्मीद लग रही है। कोविड-19 की तीसरी लहर के चलते कई राज्यों में स्थानीय स्तर पर लॉकडाउन लागू हैं जिससे बाजार बंद हैं। अखिल भारतीय रत्न एवं आभूषण घरेलू परिषद (जीजेसी) के चेयरमैन अशीष पेठे ने पीटीआई- भाषा से कहा, ‘‘ज्यादातर राज्यों में लॉकडाउन लगा है। कोरोना संक्रमण रोकने के लिये विभिन्न राज्यों में यह लॉकडाउन लागू है जिससे कारोबारी गतिविधियां नगण्य हैं।

अक्षय तृतीया के दिन शुरु आत काफी कमजोर रही है। जो भी थोड़ी बहुत बुकिंग अथवा पूछताछ हो रही है वह टेलीफोन अथवा डिजिटल माध्यमों के जरिये ही हो रही है।’’ उन्होंने कहा आभूषण विक्रेताओं को इस बार पिछले साल के मुकाबले 10 से 15 प्रतिशत कारोबार होने की उम्मीद है। जिन राज्यों में लॉकडाउन नहीं है अथवा आंशिक तौर पर लगा है वहां कुछ गतिविधियां हो सकती हैं। पेठे ने कहा कि कोरोना वायरस की यह दूसरी लहर पिछले साल के मुकाबले काफी घातक रही है। इस बार देशभर में बड़ी संख्या में लोगों की मौत हुई है जिससे उपभोक्ताओं की धारणा भी कमजोर है।

पढें-  Aadhaar के बिना हो जाएंगे ये काम, सरकार ने नोटिफिकेशन जारी कर जरूरत को किया खत्म

पढें-  बैंक के OTP के नाम हो रहा है फ्रॉड, खाली हो सकता है अकाउंट, ऐसे रहे सावधान

यहां यह उल्लेखनीय है कि पिछले साल देशव्यापी लॉकडाउन के कारण अक्षय तृतीय पर कारोबार नगण्य रहा था। देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 2,40,46,809 तक पहुंच चुका है जबकि मरने वाले लोगों की संख्या 2,62,317 हो गई है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है। पीएनजी ज्वैलर्स के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक सौरभ गाडगिल ने कहा दिन की शुरुआत पूछताछ और बुकिंग के साथ हुई है। हालांकि, लॉकडाउन के कारण माल की डिलीवरी संभव नहीं है इसलिये कुल मिलाकर कारोबार कमजोर रहने का अनुमान है। अक्षय तृतीय के मौके पर सामान्य दिनों में 30 से 40 टन सोने की बिक्री होती है लेकिन इस बार यह एक टन तक भी मुश्किल ही होगी।

गाडगिल ने कहा, ‘‘हम ग्राहकों से कह रहे हैं कि बाद में डिलीवरी के मुताबिक वह आर्डर दे सकते हैं। पिछले साल भी बिक्री काफी कम हुई थी इसलिये इस साल यह कुछ बेहतर रह सकती है और पिछले साल के मुकाबले 10 से 15 प्रतिशत तक अधिक हो सकती है। लेकिन कुल बिक्री एक टन तक भी मुश्किल ही पहुंचेगी। सामान्य तौर पर अक्षय तृतीया के अवसर पर 30 टन सोना देशभर में बिकता है।’’

कल्याण ज्वैलर्स के कार्यकारी निदेशक रमेश कल्याणरमन ने कहा कि 2021 की अक्षय तृतीया पिछले साल के मुकाबले कुछ अलग होगी। हमारे देशभर में 20 प्रतिशत शोरूम खुले हैं और काम कर रहे हैं हालांकि इनके खुलने बंद होने का समय क्षेत्र के नियमों के अनुरूप हैं। वहीं वैश्विक स्तर पर भी पश्चिम एशिया स्थित कंनी के शोरूम शतप्रतिशत खुले हैं। 

Latest Business News

Write a comment
navratri-2022