1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. कोविड मरीजों के लिए आर्सेलर मित्तल निप्पोन स्टील का बड़ा कदम, गुजरात में बनाया कोविड अस्पताल

कोविड मरीजों के लिए आर्सेलर मित्तल निप्पोन स्टील का बड़ा कदम, गुजरात में बनाया कोविड अस्पताल

निजी क्षेत्र की कंपनी आर्सेलर मित्तल निप्पोन स्टील इंडिया ने सूरत जिले में हजीरा के अपने कारखाने के करीब 250 बिस्तरों का अस्पताल स्थापित किया है।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: April 28, 2021 8:50 IST
निजी क्षेत्र की...- India TV Hindi News
Photo:AP

निजी क्षेत्र की कंपनी आर्सेलर मित्तल निप्पोन स्टील इंडिया ने सूरत जिले में हजीरा के अपने कारखाने के करीब 250 बिस्तरों का अस्पताल स्थापित किया है।

सूरत। निजी क्षेत्र की कंपनी आर्सेलर मित्तल निप्पोन स्टील इंडिया ने सूरत जिले में हजीरा के अपने कारखाने के करीब 250 बिस्तरों का अस्पताल स्थापित किया है। इस अस्पताल को कंपनी के कारखाने से बिना किसी बाधा के आक्सीजन की आपूर्ति होती रहेगी। कंपनी ने मंगलवार को एक विज्ञप्ति में इसकी जानकारी दी है। कंपनी के 250 बिस्तरों वाले इस अस्पताल ने मंगलवार से काम करना शुरू कर दिया है और जल्द ही इसे बढ़ाकर 1,000 बिस्तरों का कर दिया जायेगा। 

पढें-  LPG ग्राहकों को मिल सकते हैं 50 लाख रुपये, जानें कैसे उठा सकते हैं लाभ

पढें-  खुशखबरी! हर साल खाते में आएंगे 1 लाख रुपये, मालामाल कर देगी ये स्कीम

कंपनी आर्सेलर मित्तल और निप्पोन इंडिया के बीच एक संयुक्त उद्यम है। इस अस्थायी अस्पताल का उद्घाटन राज्य के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने वीडियो कन्फ्रेंसिंग के जरिये किया। इस दौरान आर्सेलर मित्तल के कार्यकारी चेयरमैन लक्ष्मी मित्तल भी आभासी रूप से समारोह में शामिल हुये। विज्ञप्ति में कहा गया है कि कोविड-19 के इलाज के लिये समर्पित इस अस्पताल में केवल उन्हीं मरीजों को भर्ती किया जायेगा जिन्हें आक्सीजन की आवश्यकता होगी। 

पढें-  हिंदी समझती है ये वॉशिंग मशीन! आपकी आवाज पर खुद धो देगी कपड़े

पढें-  किसान सम्मान निधि मिलनी हो जाएगी बंद! सरकार ने लिस्ट से इन लोगों को किया बाहर

जिन मरीजों को अधिक गहन इलाज की आवश्यकता होगी उन्हें एंबुलेंस के जरिये निकट के अस्पताल में पहुंचाया जायेगा। आर्सेलर मित्तल निप्पोन स्टील में प्राथमिक तौर पर गैस आक्सीजन का उत्पादन किया जाता रहा है लेकिन अब इसमें चिकित्सा इस्तेमाल के लिये तरल आक्सीजन का उत्पादन बढ़ाकर 210 टन प्रतिदिन कर दिया गया है।

पढें-  Aadhaar के बिना हो जाएंगे ये काम, सरकार ने नोटिफिकेशन जारी कर जरूरत को किया खत्म

पढें-  बैंक के OTP के नाम हो रहा है फ्रॉड, खाली हो सकता है अकाउंट, ऐसे रहे सावधान

पढें-  SBI में सिर्फ आधार की मदद से घर बैठे खोलें अकाउंट, ये रहा पूरा प्रोसेस

Latest Business News

Write a comment
navratri-2022