1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. DGGI ने Amazon को भेजा कारण बताओ नोटिस, कंपनी ने किया था गलत तरीके से ITC का दावा

DGGI ने Amazon को भेजा कारण बताओ नोटिस, कंपनी ने किया था गलत तरीके से ITC का दावा

कैब सर्विस मुहैया कराने वाली उबर और ओला के खिलाफ जीएसटी की चोरी को लेकर जांच शुरू करने के एक दिन बाद यह कदम सामने आया है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: January 13, 2021 8:11 IST
DGGI issues show cause notice to Amazon over wrong ITC claim- India TV Paisa
Photo:THEHILL

DGGI issues show cause notice to Amazon over wrong ITC claim

नई दिल्ली। वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) खुफिया विभाग के महानिदेशक (डीजीजीआई) ने इनपुट टैक्स क्रेडिट (आईटीसी) के कथित गलत दावे को लेकर ई-कॉमर्स प्रमुख अमेजन इंडिया को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। सूत्रों ने कहा कि जीएसटी खुफिया शाखा ने 175 करोड़ रुपये की मांग की है। डीजीजीआई की एक जांच में ई-कॉमर्स कंपनी द्वारा की गई गणना में त्रुटियां पाई गई हैं।

इस संबंध में बताया जा रहा है कि अमेजन ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) का भुगतान किया, जिसके लिए उसे रिफंड का दावा करना चाहिए था। इसके बजाये इसने उच्च कर स्लैब के बहाने आईटीसी का गलत दावा किया। डीजीजीआई के नोटिस में गलत तरीके से दावा किए गए आईटीसी के कारण अब ब्याज की मांग की गई है।

हालांकि अभी अमेजन ने कंपनी को भेजे गए ई-मेल का जवाब नहीं दिया है। डीजीजीआई द्वारा कैब सर्विस मुहैया कराने वाली उबर और ओला के खिलाफ जीएसटी की चोरी को लेकर जांच शुरू करने के एक दिन बाद यह कदम सामने आया है। डीजीजीआई ने करोड़ों रुपये की जीएसटी चोरी के मामले में कंपनियों के अधिकारियों को तलब किया है।

फ्लिपकार्ट ने स्टार्टअप उत्प्रेरक कार्यक्रम के लिए आठ स्‍टार्टअप्‍स को चुना

ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट ने मंगलवार को कहा कि उसने अपने स्टार्टअप उत्प्रेरक कार्यक्रम के लिए अंतिम आठ प्रतिभागियों को चुना है, जो अब 16 सप्ताह के संरक्षण कार्यक्रम से गुजरेंगे और उन्हें 25,000 अमेरिकी डॉलर का इक्विटी मुक्त अनुदान मिलेगा। वॉलमार्ट के स्वामित्व वाली कंपनी ने नए स्टार्टअप की मदद करने और उन्हें चुनौतियों का सामना करने में सक्षम बनाने के लिए पिछले साल अगस्त में फ्लिपकार्ट लीप की शुरुआत की थी।

कंपनी ने एक बयान में कहा कि इस कार्यक्रम के तहत चार चरण की एक कठोर प्रक्रिया से गुजरने के बाद अंतिम आठ प्रतिभागियों को चुना गया है। इन आठ कंपनियों में एएनएस कॉमर्स, एंट्रापिक टेक, फैसिंजा, गुल्ली नेटवर्क, पिग्गी, टैगबॉक्‍स, सॉल्यूशंस, अनबॉक्स रोबोटिक्स और वॉलकस टेक्नोलॉजी शामिल हैं। कार्यक्रम के लिए 920 से अधिक आवेदन प्राप्त हुए थे।

यह भी पढ़ें: PM-KISAN योजना में हुई बड़ी गड़बड़ी, सरकार ने पैसा वापस लेने की शुरू की प्रक्रिया

यह भी पढ़ें: पेट्रोल-डीजल और अचल संपत्ति खरीदने पर देनी होगी स्‍पेशल इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर डेवलपमेंट फीस

यह भी पढें: एक और बैंक हुआ बंद, RBI ने  बैंक का लाइसेंस किया रद्द

यह भी पढें: 8+128GB, 48MP ट्रिपल रियर कैमरा, 5000mAh बैटरी वाला Vivo Y51A हुआ भारत में लॉन्‍च, कीमत सुनकर तुरंत खरीदना चाहेंगे आप

यह भी पढें:  PPF एकाउंट इनएक्टिव होने से होते हैं कई नुकसान

Write a comment