1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. सरकार ने भारती इंफ्राटेल और इंडस टावर्स के विलय को मंजूरी दी: सूत्र

सरकार ने भारती इंफ्राटेल और इंडस टावर्स के विलय को मंजूरी दी: सूत्र

सूत्रों के मुताबिक इंडस टावर के भारती इंफ्राटेल के साथ विलय को मंजूरी मिली

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: February 21, 2020 21:58 IST
Bharti Infratel, Indus Towers merger- India TV Paisa

Bharti Infratel, Indus Towers merger

नई दिल्ली। दूरसंचार विभाग ने देश की सबसे बड़ी मोबाइल टावर कंपनी इंडस टावर के भारती इंफ्राटेल के साथ विलय को मंजूरी दे दी है। अधिकारिक सूत्रों ने इस विलय की जानकारी दी है। विलय के बाद इस कंपनी के पास पूरे भारत में 1.63 लाख टावर होंगे जो देश के सभी 22 टेलीकॉम सर्विस एरिया में मौजूद हैं।

विलय के बाद नई कंपनी चीन के बाहर पूरी दुनिया में सबसे बड़ी टावर कंपनी होगी। इंडस टावर में भारती इंफ्राटेल और वोडाफोन की 42-42 फीसदी हिस्सेदारी है। वहीं वोडाफोन आइडिया की हिस्सेदारी 11.15 फीसदी है। बाकी की हिस्सेदारी अमेरिका के प्राइवेट इक्विटी फंड की है। विलय से वोडाफोन आइडिया के लिए राहत की खबर है। कंपनी को डील के बाद अपनी हिस्सेदारी बेचने से करीब 4500 करोड़ रुपये मिल सकते हैं। 

टावर कंपनियों ने अप्रैल 2018 में ही विलय का ऐलान कर दिया था और वो सरकार से मंजूरी का इंतजार कर रहे थे। 

Write a comment
X