1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. मारुति की कारों के लिए लोन पाना होगा आसान, कंपनी ने शुरू किया ‘स्मार्ट फाइनेंस’

मारुति की कारों के लिए लोन पाना होगा आसान, कंपनी ने शुरू किया ‘स्मार्ट फाइनेंस’

कंपनी के मुताबिक त्योहारों के बाद मांग में गिरावट देखने को मिली है लेकिन ये उतनी नहीं है जितने की आशंका लगाई गई थी। लेकिन वाहन क्षेत्र में स्थिर और लंबी मांग अर्थव्यवस्था और कोविड-19 के टीके के विकास पर निर्भर करेगी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: December 09, 2020 21:14 IST
मारुति ने शुरू किया...- India TV Paisa
Photo:PTI

मारुति ने शुरू किया स्मार्ट फाइनेंस

नई दिल्ली। देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने कारों के लिए ऑनलाइन कार फाइनेंसिग प्लेटफार्म ‘स्मार्ट फाइनेंस’ की बुधवार को शुरुआत की। कंपनी के इस मंच पर कार लोन देने वाले विभिन्न बैंक और वित्तीय संस्थान अपने ऑफर पेश करेंगी। कंपनी ने एक बयान में कहा कि वह अपनी नेक्सा खुदरा श्रृंखला के माध्यम से 30 शहरों से इस सेवा की शुरुआत कर रही है। बाद में कंपनी की योजना चालू वित्त वर्ष की चौथी तिमाही तक इसे फाइनेंसिंग प्लेटफार्म को अपनी अन्य खुदरा श्रृंखला एरेना और ज्यादा से ज्यादा ग्राहकों तक ले जाने की है। इस मंच के माध्यम से कंपनी वेतनभोगी ग्राहकों को लक्ष्य करके चल रही है।  

कौन-कौन से बैंक हैं शामिल

कंपनी के मुताबिक कोविड-19 के बाद नयी सामान्य परिस्थितियों में संभावित ग्राहकों की कार लोन की चिंताओं को दूर करने के लिए कंपनी ने इस मंच को पेश किया है। इस प्लेटफार्म पर अपने लोन ऑफर पेश करने के लिए मारुति ने एचडीएफसी बैंक, यस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, इंडसइंड बैंक, चोलामंडलम फाइनेंस, एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक, महिंद्रा फाइनेंस और कोटक महिंद्रा प्राइम से करार किया है।  

कैसी है त्योहारों के बाद ऑटो सेक्टर की मांग

वहीं त्यौहारी मौसम के बाद कारों की बिक्री को लेकर कंपनी के कार्यकारी निदेशक (सेल्स और मार्कटिंग) शशांक श्रीवास्तव ने अलग से संवाददाताओं से बुधवार को बातचीत की। उन्होंने कहा कि त्यौहारों के बाद भी कारों की बिक्री उतनी बुरी नहीं है जितने की आशंका थी। पिछली दबी हुई मांग के बाहर आने से मदद मिली है। लेकिन वाहन क्षेत्र में स्थिर और लंबी मांग अर्थव्यवस्था और कोविड-19 के टीके के विकास पर निर्भर करेगी। श्रीवास्तव ने कहा, ‘‘वाहन उद्योग को बुकिंग और पूछताछ के संदर्भ में ग्राहकों के रुझान में गिरावट का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि यह गिरावट मामूली है और उतनी भयावह नहीं है जितनी उद्योग को आशंका थी।’’ उन्होंने कहा कि इसका मतलब त्यौहार के बाद भी खरीद धारणा बनी हुई है। बुकिंग और पूछताछ के मौजूदा रुख को देखें तो दिसंबर में डीलरों के पास कारों का स्टॉक और विनिर्माण की स्थिति ठीक रहनी चाहिए।

ये भी पढ़ें

पोस्ट ऑफिस इस स्कीम से हर महीने होगी 5100 रुपए की आमदनी!

तोहफा: मोदी कैबिनेट ने पीएम वाणी योजना को दी मंजूरी, खुलेंगे 1 करोड़ डेटा केंद्र

CBSE Date Sheet 2021: 12वीं कक्षा की वायरल डेट शीट की जानिए क्या है सच्चाई

इस स्कीम के तहत बिटिया की शादी में पाएं 10 ग्राम सोना, ऐसे करें अप्लाई

Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X