1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. पंजाब नेशनल बैंक की दिसंबर में क्यूआईपी के जरिए 7,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना

पंजाब नेशनल बैंक की दिसंबर में क्यूआईपी के जरिए 7,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना

बैंक ने कहा है कि अपनी कारोबारी योजना के लिए पूंजी जुटाने की तैयारी कर रहा है। सार्वजनिक क्षेत्र के दूसरे सबसे बड़े बैंक को उम्मीद है कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में कर्ज की वृद्धि में सुधार होगा। हालांकि, बैंक का मानना है कि पूरे वित्त वर्ष के दौरान कर्ज की वृद्धि पांच प्रतिशत से कम रहेगी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: November 03, 2020 17:33 IST
बैंक की 7000 करोड़ रुपये...- India TV Paisa
Photo:GOOGLE

बैंक की 7000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना

नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) अगले महीने शेयर बिक्री के जरिये 7,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रहा है। बैंक ने कहा है कि अपनी कारोबारी योजना के लिए पूंजी आधार को मजबूत करने के लिए वह पूंजी जुटाने की तैयारी कर रहा है। सार्वजनिक क्षेत्र के दूसरे सबसे बड़े बैंक को उम्मीद है कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में कर्ज की वृद्धि में सुधार होगा। हालांकि, बैंक का मानना है कि पूरे वित्त वर्ष के दौरान कर्ज की वृद्धि पांच प्रतिशत से कम रहेगी।

पीएनबी के प्रबंध निदेशक एस एस मल्लिकार्जुन राव ने मंगलवार को मीडिया के साथ वर्चुअल बातचीत में कहा, ‘बैंक पहले ही टियर दो, अतिरिक्त टियर ए (एटी-1) बांड तथा पात्र संस्थागत नियोजन (क्यूआईपी) से 14,000 करोड़ रुपये जुटाने के लिए बोर्ड की मंजूरी ले चुका है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसमें से 4,000 करोड़ रुपये टियर दो के हैं। इसमें से 2,500 करोड़ रुपये जुटाए जा चुके हैं, शेष 1,500 करोड़ और एटी-1 से अतिरिक्त 3,000 करोड़ रुपये 30 नवंबर से पहले जुटाए जाएंगे। हमारी दिसंबर के दूसरे या तीसरे सप्ताह में क्यूआईपी से 7,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है।’’

बैंक ने सोमवार को ही अपने नतीजे जारी किए हैं जिसके मुताबिक बैंक  का दूसरी तिमाही में मुनाफा 22 प्रतिशत बढ़कर 620.81 करोड़ रुपये रहा है। वहीं कुल आय 23,438.56 करोड़ रुपये रही जबकि एक साल पहले इसी अवधि में बैंक को 15,556.61 करोड़ रुपये की आय हुई थी। इस दौरान बैंक की नेट इंट्रेस्ट इनकम 8393 करोड़ रुपये के स्तर पर रही है। वहीं पिछले साल की इसी तिमाही में नेट इंट्रेस्ट इनकम 4264 करोड़ रुपये के स्तर पर रही थी। इस दौरान बैंक की एसेट क्वालिटी सुधरी है। तिमाही के दौरान बैंक की सकल गैर- निष्पादित राशि (एनपीए) इस दौरान उसके कुल अग्रिम का 13.43 प्रतिशत रह गई जो कि पहली तिमाही में 14.11 प्रतिशत पर थी। वहीं इस दौरान शुद्ध एनपीए घटकर 4.75 प्रतिशत रह गया। पिछली तिमाही में बैंक का शुद्ध एनपीए 5.39 फीसदी के स्तर पर पहुंच गया।

Write a comment