1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. भारतीय स्‍टेट बैंक ने बेची SBI Life में अपनी 2.1% हिस्‍सेदारी, 20 हजार करोड़ रुपए जुटाने की है योजना

भारतीय स्‍टेट बैंक ने बेची SBI Life में अपनी 2.1% हिस्‍सेदारी, 20 हजार करोड़ रुपए जुटाने की है योजना

एसबीआई ने कहा कि वह चालू वित्त वर्ष में विभिन्न माध्यमों से 20,000 करोड़ रुपए की इक्विटी पूंजी जुटाने के लिए जुलाई के मध्य में शेयरधारकों से मंजूरी लेगा।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: June 17, 2020 8:28 IST
SBI sheds 2.1per cent take in SBI Life via OFS- India TV Paisa
Photo:GOOGLE

SBI sheds 2.1per cent take in SBI Life via OFS

नई दिल्‍ली। भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने अपनी अनुषंगी एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस कंपनी में 2.1 प्रतिशत हिस्सेदारी बिक्री पेशकश के जरिये बेची है। शेयरधारिता नियमों के अनुपालन के तहत यह हिस्सेदारी बेची गई है। बैंक ने शेयर बाजारों को दी सूचना में कहा कि बिक्री पेशकश (ओएफएस) 12 जून और 15 जून,2020 को दो किस्तों में हुई। बैंक ने जुटाई गई राशि का खुलासा नहीं किया है।

बैंक ने कुल 2,10,00,000 इक्विटी शेयर बेचने की जानकारी दी है, जो 2.1 प्रतिशत हिस्सेदारी के बराबर है। हालांकि न्यूनतम मूल्य 725 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से 2.1 करोड़ शेयर बिक्री के जरिये एसबीआई के 1,522.50 करो़ड़ रुपए जुटाये जाने की संभावना है। इन शेयरों का अंकित मूल्य दस रुपए है। इससे पहले, 11 जून को एसबीआई लाइफ ने सूचित किया था प्रवर्तक एसबीआई ने बिक्री पेशकश के लिए न्यूनतम मूल्य 725 रुपए प्रति शेयर तय किया है।

एसबीआई ने कहा कि बिक्री सेबी (भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड) के न्यूनतम सार्वजनिक हिस्सेदारी के नियम को पूरा करने के लिए की गई है। इस बिक्री के बाद स्टेट बैंक की एसबीआई लाइफ में हिस्सेदारी 55.50 प्रतिशत पर आ गई है, जो पहले 57.60 प्रतिशत थी।

एसबीआई 20,000 करोड़ रुपए जुटाने के लिए शेयरधारकों से लेगा मंजूरी

एसबीआई ने कहा कि वह चालू वित्त वर्ष में विभिन्न माध्यमों से 20,000 करोड़ रुपए की इक्विटी पूंजी जुटाने के लिए जुलाई के मध्य में शेयरधारकों से मंजूरी लेगा। भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने शेयर बाजारों को दी सूचना में कहा कि शेयरधारकों की आम बैठक 14 जुलाई 2020 को मुंबई में मैडम कामा रोड स्थित स्टैट बैंक भवन, स्टेट बैंक ऑडिटोरियम में होगी।

एसबीआई ने कहा कि अगर स्थिति अनुकूल नहीं रही और स्थानीय प्रशासन ने भौतिक रूप से आम बैठक करने की अनुमति नहीं दी, फिर यह वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिये होगी। बैंक ने कहा कि वह 20,000 करोड़ रुपए या सरकार और आरबीआई से मंजूरी प्राप्त राशि जुटाने के बारे में शेयरधारकों की मंजूरी लेगा। यह इस बात पर निर्भर करेगा कि सरकार की बैंक में हिस्सेदारी 52 प्रतिशत से नीचे नहीं आए। यह पूंजी सार्वजनिक निर्गम (अनुवर्ती सार्वजनिक पेशकश) या निजी नियोजन या अन्य किसी माध्यम से जुटाई जा सकती है।

Write a comment