1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. 3 दिन में यहां लोगों ने कमाएं 9.41 लाख करोड़ रुपये, मोटी कमाई के लिए आप भी करें तुरंत ऐसे शुरुआत

3 दिन में यहां लोगों ने कमाएं 9.41 लाख करोड़ रुपये, मोटी कमाई के लिए आप भी करें तुरंत ऐसे शुरुआत

बुधवार को कारोबार बंद होने के बाद बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों का कुल बाजार पूंजीकरण 3,69,170.72 करोड़ रुपये बढ़कर 2,10,22,227.15 करोड़ रुपये हो गया।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: March 03, 2021 18:51 IST
Investor wealth jumps Rs 9.41 lakh cr in 3 days of market rally- India TV Paisa
Photo:FILE PHOTO

Investor wealth jumps Rs 9.41 lakh cr in 3 days of market rally

नई दिल्‍ली। घरेलू शेयर बाजार में तीन सफल कारोबारी सत्रों के दौरान निवेशकों की संपत्ति में 9.41 लाख करोड़ रुपये का जोरदार इजाफा हुआ है। सेंसेक्‍स और निफ्टी में तेजी लगातार तीसरे दिन बुधवार को भी जारी रही। बीएसई बेंचमार्क 1148 अंक की तेजी के साथ 51,000 के आंकड़ें को पार कर गया और एनएसई बेंचमार्क इंडेक्‍स 326.50 अंक की तेजी के साथ 15,200 से ऊपर बंद हुआ।

बुधवार को कारोबार बंद होने के बाद बीएसई पर लिस्‍टेड कंपनियों का कुल बाजार पूंजीकरण 3,69,170.72 करोड़ रुपये बढ़कर 2,10,22,227.15 करोड़ रुपये हो गया। 1 मार्च से लेकर अबतक बीएसई पर लिस्‍टेड कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 9,41,131.42 करोड़ रुपये बढ़कर 2,10,22,227.15 करोड़ रुपये हो गया। इन तीन दिनों के दौरान बीएसई सेंसेक्‍स 2344.66 अंक और एनएसई निफ्टी 716.45 अंक उछला है।

शेयर बाजार में इस तेजी को देख कई नए निवेशक आकर्षित हो रहे हैं। बहुत से लोग शेयर बाजार में निवेश के बारे में नहीं जानते हैं, तो आइए हम आपको बताते हैं शेयर बाजार में निवेश की शुरुआत का तरीका। लेकिन हम आपको शेयर बाजार में निवेश से जुड़ी कुछ अहम बातें भी बताएंगे, जिनका अगर ध्‍यान नहीं रखा गया तो शायद आप फायदे की जगह नुकसान में जा सकते हैं।

स्‍टॉक में आप कैसे निवेश करना चाहते हैं यह तय करें

स्‍टॉक में निवेश करने के कई तरीके हैं। सबसे पहले आप अपनी सुविधानुसार तरीके का चयन करें। पहला तो तरीका यह है कि आप खुद अपने लिए स्‍टॉक चुनें और उसमें निवेश करें। दूसरा तरीका यह है कि आप किसी विशेषज्ञ की सहायता लें और उसकी सलाह पर निवेश करें। जब आप निवेश के तरीके का चयन कर लें तो उसके बाद आपको एक डीमैट एकाउंट खुलवाना होगा।

यह भी पढ़ें: EPF सब्‍सक्राइर्ब्‍स के लिए बुरी खबर, EPFO 2020-21 के लिए ब्याज दर घटाने पर कल ले सकता है फैसला

इनवेस्टिंग एकाउंट खुलवाएं

 

स्‍टॉक में निवेश के लिए आपको एक इनवेस्टिंग एकाउंट की जरूरत होगी, जिसे डीमैट एकाउंट या ब्रोकरेज एकाउंट कहा जाता है। डीमैट एकाउंट आपको बहुत कम शुल्‍क पर स्‍टॉक के साथ ही साथ अन्‍य निवेश विकल्‍प भी मुहैया कराते हैं। आप अपनी मर्जी से किसी भी कंपनी या बैंक के साथ डीमैट एकाउंट खुलवा सकते हैं।

यह भी पढ़ें: Samsung Galaxy का नया फोन 6+128GB, 64-MP मेन कैमरा और 5000 mAh बैटरी के साथ हुआ लॉन्‍च, 5 मार्च से शुरू होगी सेल

स्‍टॉक इनवेस्‍टमेंट के लिए तय करें बजट

 

नए निवेशकों को हमेशा पहले यह तय करने की जरूरत होती है कि स्‍टॉक में निवेश के लिए वह अपना बजट निर्धारित करें। स्‍टॉक कुछ रुपये से लेकर कई हजारों रुपये में उपलब्‍ध हैं। यदि आपका बजट बहुत कम है तो आपको म्‍यूचुअल फंड या एक्‍सचेंज ट्रेडेड फंड में निवेश करना चाहिए।

यह भी पढ़ें: महंगे पेट्रोल को कहें बाए-बाए, 150 किमी माइलेज वाली इस मोटरसाइकिल को 4 दिन में 5000 लोगों ने खरीदा

लंबी अवधि के लिए करें निवेश

 

स्‍टॉक मार्केट में निवेश पूरी तरह से रणनीति और समझदारी पर निर्भर करता है। निवेशकों को हमेशा लंबी-अवधि का लक्ष्‍य बनाकर ऐसी कंपनियों के शेयरों में निवेश करना चाहिए, जिनका भविष्‍य उज्‍जवल और योजनाएं पक्‍की हों। इसका सबसे अच्‍छा तरीका है कि आप जिन शेयरों को खरीदें उन्‍हें लंबे समय के लिए भूल जाएं। 

यह भी पढ़ें: महंगे पेट्रोल-डीजल से राहत के लिए नितिन गडकरी ने उठाया कदम

होमवर्क करना है जरूरी

दिग्गज वैश्विक फंड प्रबंधक पीटर लिंच का कहना है यदि आप किसी कंपनी के बारे में अध्ययन नहीं करते हैं, तो अच्छे शेयर का चयन करना जुआ ही है। आप पत्ते देखे बिना ही अपनी चाल चल रहे हैं। लिंच ने कहा कि निवेश सिर्फ वहीं करें, जिसके बारे में आपको पता हो। बाजार से कमाई करने का कोई शॉर्ट-कट नहीं है। धीरज के साथ गहन मंथन करना अनिवार्य है। अच्छे बिजनेस में निवेश करना चाहिए।

यह भी पढ़ें: भारत में 250 रुपये में तो चीन में सबसे 'महंगी' है कोरोना वैक्सीन, जानिए दूसरे देशों में कितने का है 'टीका'

कंपनी के बिजनेस को समझें 

निवेशकों को शेयर की कीमत में नहीं, बल्कि कंपनी के बिजनेस में निवेश करना चाहिए।  वॉरेन बफे के निवेश का प्राथमिक दर्शन यही है कि वे उन्हीं कंपनियों में निवेश करते हैं, जिनके बिजनेस के बारे में समझ रखते हैं। उन्होंने 1988 में कोका कोला में 1 अरब डॉलर का निवेश किया था। कंपनी ने 30 सालों तक 10 फीसदी की दर से रिटर्न दिया।

अगर आप भी करते हैं इन कंपनियों में नौकरी, तो Covid-19 टीका लगवाने के लिए नहीं खर्च करने पड़ेंगे पैसे

भेड़चाल से रहें दूर

किसी परिचित, परिजन या दोस्त की बातों में आकर बेकार कंपनियों में निवेश करना पैसे में आग लगाने जैसा है। लोग निवेश कर रहे हैं, इसलिए आप भी निवेश करेंगे- इस सोच से बचना चाहिए। लोगों ने दूसरों की देखादेखी कई कंपनियों में निवेश किया और उन्हें मुंह की खानी पड़ी। उदाहरण के लिए रिलायंस पावर के आईपीओ को 14.4 गुना तक सब्सक्राइब किया गया था।  कंपनी को रिटेले निवेशकों से 19.5 लाख आवेद मिले थे। आईपीओ का इश्यू प्राइस 450 रुपये था। इस शेयर की मौजूदा कीमत महज 30 रुपये ही है। ऐसे कई उदाहरण बाजार में मौजूद हैं।

खुशखबरी: महंगे पेट्रोल-डीजल से मिलेगी राहत, एक्‍साइज ड्यूटी 8.5 रुपये लीटर तक घटाने की है गुंजाइश

अनुशासन का रखें ध्यान

निवेश में संयम और अनुशासन की खास जगह है। शेयर बाजार हमेशा ही अस्थिर होते हैं। निवेशकों को अपनी जोखिम क्षमता का आभास होना चाहिए। गैर-जरूरी जोखिम से बचना चाहिए। धीरज और संयम निवेशकों को दीर्घावधि की बेहतर तस्वीर देते हैं।

सोने की कीमत में आई रिकॉर्ड गिरावट, 10 ग्राम खरीदने के लिए बस देने होंगे अब इतने रुपये

विस्तृत हो पोर्टफोलियो

अपने पोर्टफोलियो में तमाम प्रकार के एसेट क्लास को जगह दें। इस तरह कम जोखिम में बेहतर कमाई की जा सकती है।  विविधता की परिभाषा हर निवेशक के लिए अलग हो सकती है। हालांकि, इससे बाजार की स्थिति से निपटना सरल हो जाता है।  निवेश एसेट क्लास की प्राथमिकता को सावधानी से चुनें। 

5.45 लाख वाली Renault Kiger SUV की बिक्री शुरू होते ही पहले दिन इतनी यूनिट की हुई डिलीवरी

वास्तविकता में रहना बेहतर

कई निवेशक रातोंरात पैसा बनाने की ख्वाहिश रखते हैं। हालांकि, बाजार धीरे-धीरे रिटर्न देता है। कमाई करना सरल नहीं है।  कोई भी एसेट लंबे समय तक आश्चर्यजनक रिटर्न नहीं दे सकता. अत्यधिक उम्मीदें रखना गलत है। शेयर बाजार में घुसने और निकलने का भी समय होता है। यह अवसर बाजार की स्थिति के अनुसार बार-बार आते हैं। इसलिए जरूरी है कि अपने हाथ में कुछ पैसा रखें। यदि बाजार अपने आधार को मजबूत कर रहा हो, तो उस गिरावट से नहीं घबराना चाहिए।

Xiaomi का ये फोन हो गया 3000 रुपये सस्ता, इसके सामने सैमसंग जैसे फोन भी लगेंगे महंगे

अतिरिक्त फंड का ही करें निवेश

निवेशकों को सिर्फ अतिरिक्त फंड का ही निवेश करना चाहिए। वे उस पैसे का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, जो उन्हें छोटी अवघि में नहीं चाहिए। अस्थिरता के कारण छोटी अवधि में वैल्यू घट सकती है। बाजार चक्र में चलता है। वैश्विक बाजार गुरु सर जॉन टेम्पलटन कहते हैं कि बाजार में सबसे खतरनाक वाक्य है: इस बार यह अलग है। निवेश के लिए सही सोच और मानसिकता की जरूरत होती है।

लगातार रखें नजर

सिर्फ निवेश कर देना ही पर्याप्त नहीं है। नियामक और बाजार की खबरों पर भी नजर रखना चाहिए। इसका असर शेयरों की कीमतों पर पड़ता है। उदाहरण के लिए कमर्शियल वाहनों के लिए एक्सल लोड लिमिट बढ़ने से अशोक लेलैंड के शेयर टूट गए। अच्छी कमाई शेयरों में उछाल ला सकती है।

Amazon के नए 'लोगो' में दिखाई दी हिटलर की झलक, हुई फजीहत तो किया बदलाव

कैसे होगी कमाई

बातें सुन कर निवेश करने की प्रबल इच्छा जागृत हो सकती है, मगर बाजार की गति कई बार समझ के परे होती है। इसलिए सही रणनीति का चयन जरूरी है। कई बार अच्छी रणनीति भी फेल हो जाती है। मौजूदा समय में सेंसेक्स रिकॉर्ड स्तर पर है, मगर अधिकांश शेयरों की कीमत इस साल घटी है।

पैसों की जरूरत है तो NPS से निकालें रकम, जानिए क्या है आंशिक निकासी के नियम और तरीका

Write a comment
X