1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. मेरा पैसा
  5. EPF सब्‍सक्राइर्ब्‍स के लिए बुरी खबर, EPFO 2020-21 के लिए ब्याज दर घटाने पर कल ले सकता है फैसला

EPF सब्‍सक्राइर्ब्‍स के लिए बुरी खबर, EPFO 2020-21 के लिए ब्याज दर घटाने पर कल ले सकता है फैसला

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) वित्त वर्ष 2020-21 के लिए भविष्य निधि जमा पर ब्याज दर की घोषणा चार मार्च को कर सकता है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: March 03, 2021 11:26 IST
epfo can take decision to reduce subscribers EPF interest rate for retirement fund of employees chec- India TV Paisa
Photo:INDIA TV

epfo can take decision to reduce subscribers EPF interest rate for retirement fund of employees check details

नई दिल्ली। पेट्रोल, डीजल और एलपीजी की बढ़ती कीमतों से परेशान वेतनभोगी कर्मचारियों के लिए एक और बुरी खबर है। कर्मचारी भविष्‍य निधि (EPF) अकाउंट में जमा धन पर वित्‍त वर्ष 2020-21 के लिए ब्‍याज दर में कटौती हो सकती है। EPFO के इस कदम से 6 करोड़ से अधिक लोग सीधे तौर पर प्रभावित होंगे।

कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन (EPFO) वित्त वर्ष 2020-21 के लिए भविष्य निधि जमा पर ब्याज दर की घोषणा चार मार्च को कर सकता है। चार मार्च को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के केंद्रीय न्यासी मंडल की श्रीनगर में बैठक आयोजित होने वाली है। इस बैठक में 2020-21 के लिए ब्याज दर की घोषणा करने के प्रस्ताव पर फैसला किए जाने की संभावना है। ईपीएफओ के एक न्यासी केई रघुनाथन ने बताया कि उन्हें न्यासियों के केंद्रीय बोर्ड की अगली बैठक श्रीनगर में चार मार्च को होने की सूचना मिली है। इस बात की अटकलें हैं कि ईपीएफओ इस वित्त वर्ष (2020-21) के लिए भविष्य निधि जमा पर ब्याज दर घटा सकता है, जो 2019-20 के लिए 8.5 प्रतिशत थी।

यह भी पढ़ें: महंगे पेट्रोल-डीजल से राहत के लिए नितिन गडकरी ने उठाया कदम

ईपीएफओ अगर ब्‍याज दर घटाने का फैसला लेता है तो यह पीएफ सब्‍सक्राइर्ब्‍स के लिए एक बड़ा झटक होगा क्‍योंकि अभी तक बहुत से खाताधारकों को पिछले वित्‍त वर्ष के लिए घोषि‍त ब्‍याज का भुगतान नहीं मिला है।

सूत्रों ने बताया कि कोरोना वायरस महामारी के दौरान बड़ी संख्‍या में ईपीएफ सदस्‍यों ने अपने खाते से रकम निकाली है जिसके चलते पीएफ अंशदान में भी कमी आई है। ऐसे में ईपीएफओ ब्‍याज दर में कटौती का फैसला ले सकता है।  

यह भी पढ़ें: भारत में 250 रुपये में तो चीन में सबसे 'महंगी' है कोरोना वैक्सीन, जानिए दूसरे देशों में कितने का है 'टीका'

ईपीएफओ ने 2019-20 के लिए 8.5 प्रतिशत ब्‍याज की घोषणा की है, जो पिछले 7 साल में सबसे कम है। वित्‍त वर्ष 2012-13 में ईपीएफ पर ब्‍याज दर 8.5 प्रतिशत थी। पिछले साल मार्च में ईपीएफओ ने ब्‍याज दर में संशोधन किया था। इससे पहले वित्‍त वर्ष 2018-19 के लिए ईपीएफ पर 8.65 प्रतिशत ब्‍याज मिला था। वित्‍त वर्ष 2017-18 में ईपीएफ पर 8.55 प्रतिशत ब्‍याज का भुगतान किया गया था। वित्‍त वर्ष 2015-16 में ब्‍याज की दर 8.8 प्रतिशत थी। वित्‍त वर्ष 2013-14 में ईपीएफ पर 8.75 प्रतिशत की दर से ब्‍याज का भुगतान किया गया था।

यह भी पढ़ें: SBI के सभी ग्राहकों को लिए बड़ी खुशखबरी, अगले 4 दिन मिलेगा भारी फायदा

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान ने जारी की नई ट्रैवल एडवाइजरी, भारत को रखा है इस कैटेगरी में

यह भी पढ़ें:  Bajaj ने लॉन्‍च की 53,920 रुपये में नई मोटरसाइकिल, एक बार तेल भरवाने पर चलेगी 825 किलोमीटर

Write a comment
X