1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. आईपीओ के लिये लंबी हुई कतार, सेबी के पास 2 और कंपनियों ने किया आवेदन

आईपीओ के लिये लंबी हुई कतार, सेबी के पास 2 और कंपनियों ने किया आवेदन

लैटेंट व्यू एनॉलिटिक्स, सीएमएस इन्फो सिस्टम्स के साथ साथ पारादीप फॉस्फेट्स, सैफायर फूड्स, केवेंटर एग्रो, नायका, अडाणी विल्मर और पीबी फिनटेक भी सेबी के पास आईपीओ के लिये आवेदन कर चुकी हैं।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: August 16, 2021 12:00 IST
आईपीओ के लिये लंबी...- India TV Paisa
Photo:FILE

आईपीओ के लिये लंबी हुई कतार

नई दिल्ली। आईपीओ बाजार में नये इश्यू की लिस्ट लगातार लंबी होती जा रही है। आज दो और कंपनियों ने आईपीओ के लिये सेबी के पास आवेदन किया है। दोनो कंपनियों की कुल मिलकर 2600 करोड़ रुपये से ज्यादा जुटाने की योजना है। 

लैटेंट व्यू एनॉलिटिक्स जुटाएगी 600 करोड़ रुपये

लैटेंट व्यू एनॉलिटिक्स ने भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास 600 करोड़ रुपये के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के लिए शुरुआती दस्तावेज जमा कराए हैं। डाटा विश्लेषण सेवा कंपनी द्वारा जमा कराए गए दस्तावेजों के अनुसार, आईपीओ के तहत 474 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए जाएंगे तथा एक प्रवर्तक तथा मौजूदा शेयरधारक 126 करोड़ रुपये की बिक्री पेशकश (ओएफएस) लाएंगे। ओएफएस के तहत प्रवर्तक आदुगुडी विश्वनाथ वेंकटरमन 60.14 करोड़ रुपये के शेयरों की पेशकश करेंगे। वहीं शेयरधारक रमेश हरिहरन 35 करोड़ रुपये और गोपीनाथ कोटिश्वरन 23.52 करोड़ रुपये के शेयर बेचेंगे। अभी वेंकटरमन के पास कंपनी की 69.63 प्रतिशत हिस्सेदारी है। कोटिश्वरन के पास 7.74 प्रतिशत तथा हरिहरन के पास 9.67 प्रतिशत हिस्सेदारी है। 

इन्फो सिस्टम्स जुटाएगी 2000 करोड़ रुपये
नकदी प्रबंधन कंपनी सीएमएस इन्फो सिस्टम्स ने अपने 2,000 करोड़ रुपये के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के लिए भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास शुरुआती दस्तावेज जमा कराए हैं। दस्तावेजों के अनुसार, कंपनी का आईपीओ शुद्ध रूप से प्रवर्तक सियॉन इन्वेस्टमेंट्स होल्डिंग्स पीटीई लि. की ओर से बिक्री पेशकश (ओएफएस) के रूप में होगा। सियॉन, बेरिंग प्राइवेट इक्विटी एशिया की इकाई है। सियॉन इन्वेस्टमेंट ने 2015 में सीएमएस का अधिग्रहण किया था। फिलहाल उसकी कंपनी में शतप्रतिशत हिस्सेदारी है। सीएमएस नकदी प्रबंध सेवाएं उपलब्ध कराती है। इनमें एटीएम सेवाओं के अलावा नकदी की डिलिवरी और पिक-अप शामिल है। यह दूसरा मौका है जबकि कंपनी आईपीओ लाने का प्रयास कर रही है। इससे पहले 2017 में भी कंपनी ने आईपीओ का प्रयास किया था। उसके इसके लिए नियामक की मंजूरी मिल गई थी। हालांकि, उस समय कंपनी आईपीओ नहीं ला पाई थी। 

कतार में कई और कंपनियां
इससे पहले कई अन्य कंपनियों ने भी सेबी के पास आईपीओ के लिये दस्तावेज जमा किये हैं। हाल ही में  उर्वरक कंपनी पारादीप फॉस्फेट्स, केएफसी और पिज्जा हट चलाने वाली सैफायर फूड्स इंडिया लिमिटेड, खाद्य एवं बेवरेज क्षेत्र की कंपनी केवेंटर एग्रो, ई-कॉमर्स सौंदर्य कंपनी नायका, खाद्य तेल कंपनी अडाणी विल्मर, ऑनलाइन बीमा मंच पॉलिसीबाजार का संचालन करने वाली कंपनी पीबी फिनटेक ने भी आईपीओ के लिये दस्तावेज जमा कराये हैं। 

यह भी पढ़ें: Petrol Diesel Price: पेट्रोल और डीजल में बढ़त से राहत, जानिये क्या हैं आपके शहर में कीमतें

Write a comment
Click Mania
Modi Us Visit 2021