Tamil Nadu: PFI नेताओं को गिरफ्तारी पर NIA, ED के खिलाफ तमिलनाडु में अब ये पार्टी निकालेगी मार्च, पढ़ें डिटेल

Tamil Nadu: वीसीके नेता ने कहा कि जब से नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री का पद संभाला है, तब से पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के खिलाफ कार्रवाई जारी है।

Shailendra Tiwari Edited By: Shailendra Tiwari @@Shailendra_jour
Published on: September 24, 2022 13:26 IST
Representational Image- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO Representational Image

Highlights

  • 'पीएफआई पर की गई कार्रवाई के खिलाफ पार्टी विरोध मार्च निकालेगी'
  • 'पीएफआई और एसडीपीआई समाज में गरीबों और दलितों के उत्थान के लिए काम कर रही'
  • तमिलनाडु में 11 केंद्रों पर छापेमारी की गई

NIA Raids: तमिलनाडु की शक्तिशाली दलित राजनीतिक पार्टी विदुथलाई चिरुथईगल काची (वीसीके) राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के नेताओं की गिरफ्तारी के खिलाफ मार्च निकालेगी। वीसीके के संस्थापक नेता और सांसद थोल थिरुमावलवन ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया एक पारदर्शी सामाजिक संगठन है। पीएफआई के वरिष्ठ नेताओं की गिरफ्तारी और देशभर में इसके कार्यालयों पर की गई छापेमारी निंदनीय है।

कार्रवाई के खिलाफ पार्टी विरोध मार्च निकालेगी

उन्होंने कहा कि पीएफआई पर की गई कार्रवाई के खिलाफ पार्टी विरोध मार्च निकालेगी। वीसीके नेता ने कहा कि जब से नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री का पद संभाला है, तब से पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के खिलाफ कार्रवाई जारी है। उन्होंने कहा कि पीएफआई और उसकी राजनीतिक शाखा सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) समाज में गरीबों और दलितों के उत्थान के लिए काम कर रही है।

एनआईए ने देशभर में छापेमारी कर संगठन के कई पदाधिकारियों को गिरफ्तार किया

थोल थिरुवामावलवन ने कहा कि बेशक पीएफआई के अधिकांश नेता मुस्लिम है, लेकिन गैर-मुस्लिम भी संगठन के नेतृत्व में है। गौरतलब है कि एनआईए और ईडी समेत केंद्रीय एजेंसियों ने पीएफआई के खिलाफ बड़े पैमाने पर देशभर में छापेमारी की और संगठन के कई पदाधिकारियों को गिरफ्तार किया।

तमिलनाडु में 11 केंद्रों पर छापेमारी की गई

पीएफआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओएमए सलाम, महासचिव नसरुद्दीन एलाराम, विचारक प्रोफेसर पी. कोया, और संस्थापक नेता ई. अब्दुर्रहमान को गिरफ्तार किया गया। इनके अलावा, अन्य सर्मथकों ने भी अपनी गिरफ्तारियां दर्ज करवाई। गिरफ्तार लोगों को आगे की जांच के लिए नई दिल्ली ले जाया गया। बता दें कि तमिलनाडु में 11 केंद्रों पर छापेमारी की गई। कोयंबटूर से राष्ट्रीय कार्यकारी सदस्य ए.एम. इस्माइल सहित 12 पीएफआई नेताओं को गिरफ्तार किया गया है।

जानें पूरा मामला

गौरतलब है कि राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (NIA) की अगुवाई में कई एजेंसियों ने गुरुवार को 15 राज्यों में 93 जगहों पर एक साथ छापे मारे और देश में आतंकवाद के वित्त पोषण में कथित तौर पर शामिल पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के 106 नेताओं और कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि केरल में पीएफआई के सबसे अधिक 22 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों में इसके अध्यक्ष ओ.एम.ए सलाम भी शामिल हैं। अधिकारियों ने पीएफआई के खिलाफ इसे ‘अब तक का सबसे बड़ा अभियान’ करार दिया।

केरल से हुई सबसे ज्यादा गिरफ्तारियां

अधिकारियों ने कहा कि NIA, प्रवर्तन निदेशालय (ED) और संबंधित राज्यों के पुलिस बल ने गिरफ्तारियां की हैं। उन्होंने बताया कि जिन 15 राज्यों के 93 स्थानों पर ये छापेमारी की गई है, उनमें केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली, असम, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गोवा, पश्चिम बंगाल, बिहार और मणिपुर शामिल हैं। अधिकारियों ने बताया कि सबसे अधिक गिरफ्तारी केरल (22) में की गई। इसके अलावा महाराष्ट्र (20), कर्नाटक (20), तमिलनाडु (10), असम (9), उत्तर प्रदेश (8), आंध्र प्रदेश (5), मध्य प्रदेश (4), पुडुचेरी (3), दिल्ली (3) और राजस्थान (2) में गिरफ्तारी की गईं। उन्होंने बताया कि छापेमारी तड़के 3:30 बजे शुरू हुई और इसमें देश भर के विभिन्न कार्यालयों के कुल 300 एनआईए अधिकारी शामिल थे। 

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन