1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. गोहत्या किसी का जन्मसिद्ध अधिकार नहीं हो सकता, वोट बैंक की वजह से ममता सरकार में रोक लगाने की हिम्मत नहीं: योगी

गोहत्या किसी का जन्मसिद्ध अधिकार नहीं हो सकता, वोट बैंक की वजह से ममता सरकार में रोक लगाने की हिम्मत नहीं: योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी पर तुष्टिकरण की राजनीति का आरोप लगाया है।

Ajay Kumar Ajay Kumar
Published on: April 08, 2021 13:19 IST
गोहत्या किसी का...- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO गोहत्या किसी का जन्मसिद्ध अधिकार नहीं हो सकता, वोट बैंक की वजह से ममता सरकार में रोक लगाने की हिम्मत नहीं: योगी

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी पर तुष्टिकरण की राजनीति का आरोप लगाया है। इंडिया टीवी से एक्सक्लूसिव बात करते हुए उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी की सरकार वोट बैंक की राजनिति की वजह से पश्चिम बंगाल में गोहत्या तक पर रोक नहीं लगा सकी है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गो हत्या किसी का जन्मसिद्ध अधिकार नहीं हो सकता और बंगाल सरकार को इसपर रोक लगानी चाहिए थी।

इंडिया टीवी से बात करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा, "हमारे यहां (उत्तर प्रदेश में) कोई गो हत्या नहीं कर सकता, बंगाल में ईद के दिन व्यापक गो हत्या होती है, अखिर क्यों? आखिर गोहत्या किसी का जन्मसिद्ध अधिकार नहीं हो सकता, क्यों नहीं सरकार रोक लगाती, बंगाल की सरकार को रोक लगानी चाहिए थी। हिम्मत नहीं, ये वोट बैंक की राजनीति नहीं तो क्या, दुर्गा पूजा पर आप (ममता बनर्जी) रोक लगाती है, गोहत्या पर क्यों रोक नहीं लगाती।"

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि चुनावों के समय जहां बंगाल में हर जगहों पर हिंसा की खबरें आती हैं वहीं उत्तर प्रदेश में शांतिपूर्ण चुनाव होते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि, "यूपी में कोई भी व्यक्ति हो, किसी भी मत या मजहब का हो, अगर उसका पर्व या त्यौहार हो तो वह शांतिपूर्वक मनाता है, लेकिन बंगाल में एक भी पर्व और त्यौहार व्यक्ति सुरक्षित माहौल में नहीं बना सकता। उल्टा दुर्गा पूजा और सरस्वती पूजा पर सरकार रोक लगाती है। बंगाल में जय श्रीराम बोलने पर मुख्यमंत्री चिढ़ती हैं।"

योगी ने बताया कि पश्चिम बंगाल की तुलना में उत्तर प्रदेश में ज्यादा तेज गति से विकास हुआ है, उन्होंने कहा, "यूपी में 4 सालों के दौरान हमने 4 लाख सरकारी नौकरी दी, एक भी नौकरी पर कोई उंगली नहीं उठा सकता, जहां कोई शिकायत मिली तुरंत एसआईटी गठित कर कठोर कार्रवाई की गई। बंगाल में ऐसा कुछ नहीं, वहां भर्ती तक नहीं हुई। यूपी में हम 7वां वेतन आयोग अपने कर्मचारियों को दे रहे हैं और बंगाल अभी तक 5वां कमिशन दे रहा है। यूपी की अर्थव्यवस्था तेजी से आगे बढ़ी है, बंगाल भी कभी देश की अर्थव्यवस्था की धुरी होता था, वहां क्या नहीं है, बर्फीले पहाड़, लहलहाते मैदान, समुद्री किनारा, जंगल पहाड़, जल संसाधन, इसके बावजूद बंगाल विफल हो रहा है। यूपी लैंडलॉक स्टेट है, कोई सीमा समुद्र से नहीं जुड़ी, कोई बर्फीला पहाड़ नहीं है लेकिन हमने यूपी के अंदर जो संभावनाएं थी उनपर काम किया, भ्रष्टाचार रोका, फिजूल खर्ची पर रोक लगाई, भ्रष्टाचारियों को जेल में डाला, अब यूपी राज्यों में देश की दूसरी अर्थव्यवस्था बन गया है और बंगाल विफलता की तरफ जा रहा है।"

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X