ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. FASTag से जुड़ी बड़ी खबर आई सामने, औसत दैनिक संग्रह ने किया 100 करोड़ का आंकड़ा पार

FASTag से जुड़ी बड़ी खबर आई सामने, औसत दैनिक संग्रह ने किया 100 करोड़ का आंकड़ा पार

फास्टैग के माध्यम से दैनिक शुल्क संग्रह एक मार्च 2021 से 16 मार्च 2021 तक 100 करोड़ रुपये से अधिक रहा है।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Updated on: March 23, 2021 11:40 IST
FASTag total collection cross 100 crore says report- India TV Paisa
Photo:INDIA TV

FASTag total collection cross 100 crore says report

नई दिल्‍ली। फास्टैग (FASTag) के माध्यम से औसत दैनिक टोल संग्रह (toll collection) 100 करोड़ रुपये तक पहुंच गया है। सोमवार को संसद में यह जानकारी दी गई। सरकार ने 15 फरवरी की मध्यरात्रि से फास्टैग को अनिवार्य कर दिया था। इसके बाद बिना फासटैग वाले वाहनों से देश भर में इलेक्ट्रॉनिक टोल प्लाजा पर दोगुना टोल वसूलने की व्यवस्था कर दी गई। सड़क परिवहन, राजमार्ग और एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने एक लिखित जवाब में राज्यसभा को बताया कि 16 मार्च 2021 को तीन करोड़ से अधिक फास्टैग जारी किए गए।

फास्टैग के माध्यम से दैनिक शुल्क संग्रह एक मार्च 2021 से 16 मार्च 2021 तक 100 करोड़ रुपये से अधिक रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार ने एक जनवरी, 2021 से केंद्रीय मोटर वाहन नियम, 1989 में संशोधन के माध्यम से सभी ‘एम’ (चार पहिये वाले यात्री वाहन) और ‘एन’ (चार पहिये वाले माल ढुलाई) श्रेणी के मोटर वाहनों में फास्टैग को फिट करना अनिवार्य कर दिया है। मंत्री ने कहा कि डिजिटल मोड के माध्यम से शुल्क भुगतान को बढ़ावा देने के लिए, ‘फी प्लाजा’ से एक निर्बाध मार्ग प्रदान करने, पारदर्शिता बढ़ाने, प्रतीक्षा का समय घटाने और प्रदूषण कम करने के लिए, सरकार ने राष्ट्रीय राजमार्गों पर शुल्क वसूली वाले सभी लेनों को 'शुल्क प्लाजा का फास्टैग लेन' घोषित किया है, जो 15 से 16 फरवरी, 2021 के मध्य रात्रि से प्रभावी है।

राष्ट्रीय राजमार्गों पर उपयोगकर्ता शुल्क राष्ट्रीय राजमार्ग शुल्क (दरों और संग्रह का निर्धारण) नियम, 2008 के अनुसार एकत्र किया जाता है। उन्‍होंने कहा कि फास्‍टैग के बिना वाले वाहनों या वैध फास्‍टैग के बगैर वाले वाहनों से फी प्‍लाजा पर फास्‍टैग लेन से गुजरने पर तय टोल दर से दोगुना कर वसूला जाएगा।

गडकरी ने कहा कि वर्तमान में शुल्‍क संग्रह एक ओपन टोलिंग सिस्‍टम पर आधारित है। हालांकि वास्‍तविक राष्‍ट्रीय राजमार्ग उपयोग के आधार पर यूजर फी संग्रह को कुछ एक्‍सेस-कंट्रोल्‍ड एक्‍सप्रेसवे और हाईवे पर लागू किया गया है।

प्राइवेट कर्मचारियों के लिए आई अच्‍छी खबर, नौकरी बदलने पर अब ग्रैच्‍युटी भी होगी ट्रांसफर!

Jio देता है 150GB डाटा के साथ Netflix, Amazon Prime का फ्री सब्‍सक्रिप्‍शन, Airtel और Vi का क्‍या है ऑफर

PM को कोरोना होने के बाद पाक सरकार ने तय की वैक्‍सीन की नई कीमत, खर्च करने होंगे इतने रुपये

मात्र 1600 रुपये की आसान किस्‍त पर खरीद सकते हैं Samsung Galaxy F62, 7000mAh बैटरी से है लैस

राकेश झुनझुनवाला के निवेश वाली एक और कंपनी का IPO खुलेगा बुधवार को...

Bank holidays: 27 मार्च से पहले निपटा लें बैंक से जुड़े सारे काम, इतने दिन लगातार नहीं होगा कोई काम

Write a comment
elections-2022