1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. व्हाट्सऐप पर हो सकती है बड़ी कार्रवाई,सरकार कर रही है ये तैयारी

व्हाट्सऐप पर हो सकती है बड़ी कार्रवाई,सरकार कर रही है ये तैयारी

फेसबुक के स्वामित्व वाले इंस्टेंट मैसेजिंग एप व्हाट्सएप की मनमानी पर सरकार लगाम लगाने की तैयारी कर रही है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: May 14, 2021 9:58 IST
व्हाट्सऐप पर हो सकती...- India TV Paisa
Photo:AP

व्हाट्सऐप पर हो सकती है बड़ी कार्रवाई,सरकार कर रही है ये तैयारी

नयी दिल्ली। फेसबुक के स्वामित्व वाले इंस्टेंट मैसेजिंग एप व्हाट्सएप की मनमानी पर सरकार लगाम लगाने की तैयारी कर रही है। इलेक्ट्रॉनिक और आईटी मंत्रालय की एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सरकार व्हाट्सऐप पर निजता नियमों के मुद्दे को लेकर सर्वोत्तम संभव विकल्पों पर "अग्र सक्रिय रूप से" विचार कर दे रही है। गौरतलब है कि व्हाट्सऐप ने अपने उपयोगकर्ताओं के लिए निजता नीति में किया गया बदलाव स्वीकार करने की खातिर 15 मई तक की समयसीमा तय की थी लेकिन बाद में विवादित अपडेट स्वीकार करने के लिए दी गयी यह समयसीमा रद्द कर दी। 

कंपनी ने यह भी कहा था कि नयी शर्तों को न मानने पर किसी भी उपयोगकर्ता का खाता बंद नहीं किया जाएगा। इसके बाद कंपनी ने अपने नये फैसले में कहा कि शर्तें स्वीकार न करने वाले उपयोगकर्ता ऐप पर आने वाली सामान्य कॉल और वीडियो कॉल जैसी कुछ सुविधाओं का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। 

पढें-  Aadhaar के बिना हो जाएंगे ये काम, सरकार ने नोटिफिकेशन जारी कर जरूरत को किया खत्म

पढें-  बैंक के OTP के नाम हो रहा है फ्रॉड, खाली हो सकता है अकाउंट, ऐसे रहे सावधान

मंत्रालय की विशेष सचिव और वित्तीय सलाहकार ज्योति अरोड़ा ने एसोचैम के एक कार्यक्रम में कहा, "मंत्रालय इस समस्या से वाकिफ है। आज जर्मनी ने व्हाट्सऐप की इस निजता नीति पर प्रतिबंध लगा दिया। मंत्रालय इसे लेकर हर संभव विकल्पों पर अग्र सक्रिय रूप से ध्यान दे रहा है।" 

पढें-  हिंदी समझती है ये वॉशिंग मशीन! आपकी आवाज पर खुद धो देगी कपड़े

पढें-  किसान सम्मान निधि मिलनी हो जाएगी बंद! सरकार ने लिस्ट से इन लोगों को किया बाहर

ज्योति झारखंड सरकार के एक अधिकारी द्वारा जतायी गयी चिंताओं को लेकर जवाब दे रही थीं। अधिकारी ने कहा था कि झारखंड के ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों को व्हाट्सऐप के नये निजता नियमों को स्वीकार करने के लिए मजबूर किया जा रहा है जबकि उन्हें खुद पर पड़ने वाले इनके असर के बारे में पता ही नहीं है। 

Write a comment
X