1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. COVID-19 महामारी के बीच इमरान खान ने सुनाई खुशखबरी, पाकिस्‍तान की अर्थव्‍यवस्‍था में आया बड़ा सुधार

COVID-19 महामारी के बीच इमरान खान ने सुनाई खुशखबरी, पाकिस्‍तान की अर्थव्‍यवस्‍था में आया बड़ा सुधार

इमरान खान ने अपने ट्वीट में लिखा है कि माशाअल्लाह, कोविड-19 के बीच अर्थव्यवस्था में सुधार से जुड़ी अच्छी खबर। लगातार पांचवें महीने नवंबर में चालू खाता अधिशेष 44.7 करोड़ डॉलर रहा।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: December 23, 2020 19:51 IST
imran khan give great news, Pak registers surplus of USD 447 million in November- India TV Paisa
Photo:FILE PHOTO

imran khan give great news, Pak registers surplus of USD 447 million in November

कराची। पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कोविड-19 महामारी से गुजर रहे देशवासियों को एक अच्‍छी खुशखबरी दी है। उन्‍होंने ट्वीट कर बताया कि महामारी के बावजूद पाकिस्‍तान ने लगातार पांचवें महीने नवंबर में अपने चालू खाता में 44.7 करोड़ डॉलर का सरप्‍लस दर्ज किया है।

इमरान खान ने अपने ट्वीट में लिखा है कि माशाअल्‍लाह, कोविड-19 के बीच अर्थव्‍यवस्‍था में सुधार से जुड़ी अच्‍छी खबर। लगातार पांचवें महीने नवंबर में चालू खाता अधिशेष 44.7 करोड़ डॉलर रहा। चालू वित्‍त वर्ष में अधिशेष अबतक 1.6 अरब डॉलर हुआ, पिछले साल समान अवधि में हमें 1.7 अरब डॉलर का घाटा हुआ था। स्‍टेट बैंक ऑफ पाकिस्‍तान का विदेशी मुद्रा भंडार भी बढ़कर 13 अरब डॉलर हो गया, जो पिछले 3 सालों का उच्‍चतम स्‍तर है।

पाकिस्‍तान के केंद्रीय बैंक स्‍टेट बैंक ऑफ पाकिस्‍तान ने एक बयान में कहा कि नवंबर में 44.7 करोड़ डॉलर का सरप्‍लस दर्ज किया गया। एक साल पहले समान अवधि में देश को 32.6 करोड़ डॉलर का घाटा हुआ था। बैंक ने कहा कि पिछले पांच सालों के विपरीत वित्‍त वर्ष 2020-21 में चालू खाता सरप्‍लस में रहा। इसकी प्रमुख वजह व्‍यापार संतुलन बेहतर होना और रेमिटेंस में लगातार सुधार आना है।  

यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए कैसे करें ऑनलाइन आवेदन, जानिए जरूरी दस्तावेजों और पात्रता से जुड़ी पूरी जानकारी

बैंक ने बताया कि नवंबर, 2020 के दौरान एक्‍सपोर्ट और इम्‍पोर्ट दोनों में तेजी आई है। यह बाहरी मांग में रिकवरी और घरेलू अर्थव्‍यवस्‍था में सकारात्‍मक गतिविधियों को दर्शाती है। केंद्रीय बैंक ने कहा कि जुलाई-नवंबर के दौरान कुल चालू खाता अधिशेष 1.64 अरब डॉलर रहा, जबकि पिछले साल समान अवधि में देश को 1.745 अरब डॉलर का घाटा हुआ था।

पिछले पांच माह के दौरान पाकिस्‍तान के र‍ेमिटेंस (देश से बाहर रहने वाले पाकिस्‍तानी नागरिकों द्वारा देश में भेजे गए धन) में 27 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। कोविड-19 की वजह से लगे यात्रा प्रतिबंध के चलते र‍ेमिटेंस को वैध तरीके से भेजने में वृद्धि होने के चलते सरकार को फायदा हुआ है।  

यह भी पढ़ेंPM Kisan Scheme: इस दिन आपके खाते में आएंगे 2 हजार रुपए, ऐसे चेक करें अपना नाम

यह भी पढ़ेंIndian Railways: 30 दिसंबर से चलेंगी कई और ट्रेनें, देखिए पूरी लिस्ट, ऐसे बुक करें टिकट

यह भी पढ़ें: शुद्ध शाकाहारी लोग भी खा सकते हैं अंडे

पिछले साल पाकिस्तान के भुगतान संकट की वजह से दिवालिया होने की नौबत आ गई थी।  उस वक्त सऊदी अरब ने पाकिस्तान को 3 अरब डॉलर का कर्ज दिया था। इसके अलावा, सऊदी ने पाकिस्तान को 3 अरब डॉलर के उधार में तेल लेने की सुविधा भी दी थी। सऊदी और चीन की मदद से पाकिस्तान इस आर्थिक संकट से उबर पाया।

यह भी पढ़ेंट्रंप ने COVID-19 राहत पैकेज बिल को लौटाया, रखी अमेरिकी नागरिकों को 2000 डॉलर देने की शर्त

Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X