1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. जनवरी में सर्विस सेक्टर 7 साल की ऊंचाई पर पहुंचा, मांग में तेजी के सहारे सर्विस PMI में बढ़त

जनवरी में सर्विस सेक्टर 7 साल की ऊंचाई पर पहुंचा, मांग में तेजी के सहारे सर्विस PMI में बढ़त

जनवरी के महीने में देश में सर्विस सेक्टर एक्टिविटी 7 साल की ऊंचाई पर पहुंच गई हैं

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: February 05, 2020 15:00 IST
Service Sector PMI- India TV Paisa

Service Sector PMI

नई दिल्ली| 2020 की शुरुआत देश के सर्विस सेक्टर के लिए शानदार रही है। एक निजी सर्वे के मुताबिक जनवरी के महीने में देश में सर्विस सेक्टर एक्टिविटी 7 साल की ऊंचाई पर पहुंच गई हैं। आईएचएस मार्किट इंडिया सर्विस बिजनेस एक्टिविटी इंडेक्स या सर्विस PMI इंडेक्स जनवरी में बढ़कर 55.5 के स्तर पर पहुंच गया है। दिसंबर में ये 53.3 के स्तर पर थी। सर्वे के मुताबिक मांग में तेजी की वजह से सर्विस सेक्टर में ये तेजी देखने को मिली है। 

आईएचएस मार्किट के मुख्य अर्थशास्त्री पॉलियाना डि लीमा के मुताबिक भारत का सर्विस सेक्टर अब मजबूत हो रहा है, सेक्टर में दिसंबर में आई बढ़त जनवरी में और तेज होती दिखी है इससे साफ है कि सर्विस सेक्टर दबाव से बाहर निकल रहा है। सर्वे की माने तो इंडस्ट्री के लिए नए काम में बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है, इसमें से अधिकांश नए कारोबार घरेलू मार्केट में बढ़े हैं। जनवरी के महीने में निर्यात घटे हैं लेकिन घरेलू मार्केट के सहारे सेक्टर बढ़त दर्ज करने में कामयाब रहा है। सर्वे में शामिल जानकारों के मुताबिक भारतीय सर्विस सेक्टर को चीन यूरोप और अमेरिकी से मांग में सुस्ती का असर पड़ा है।  रिपोर्ट के मुताबिक देश की अर्थव्यवस्था के लिए सबसे अच्छी खबर ये है कि आय बढ़ने के बाद सेक्टर कारोबार बढ़ाने के लिए नए भर्तियां करेगा। 

रिपोर्ट में फिलहाल महंगाई को लेकर चिंता जताई गई है। सर्विस सेक्टर में बढ़त के साथ लागत में तेजी देखने को मिली है। मुख्य अर्थशास्त्री लीमा ने कहा कि फिलहाल कंपनियां लागत को अपने ग्राहकों तक पहुंचने नहीं दे रही हैं। हालांकि महंगाई बढ़ती रही तो जल्द ही सर्विस सेक्टर अपनी बिक्री कीमतों में बढ़ोतरी कर सकता है। अगर ऐसा हुआ तो मांग में कमी देखने को मिल सकती है। 

सर्विस PMI यानि सर्विस परचेसिंग मैनेजर्स इंडेक्स में देश की करीब 400 निजी कंपनियों के वरिष्ठ अधिकारी शामिल किए जाते हैं। इन अधिकारियों के जवाब के आधार पर ही सेक्टर के लिए PMI इंडेक्स तय किया जाता है। 100 के स्केल पर 50 से कम PMI का मतलब अर्थव्यवस्था या सेक्टर में गिरावट और 50 से ज्यादा PMI पर बढ़त माना जाता है। 

Write a comment
X