1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Budget 2020: देश में सबसे ज्‍यादा बार बजट पेश करने का रिकॉर्ड है इनके नाम दर्ज, दूसरे नंबर पर हैं पी. चिदंबरम

Budget 2020: देश में सबसे ज्‍यादा बार बजट पेश करने का रिकॉर्ड है इनके नाम दर्ज, दूसरे नंबर पर हैं पी. चिदंबरम

देश में अब तक सबसे ज्यादा बार आम बजट पेश करने का रिकॉर्ड भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई के नाम है। भारत का चौथा प्रधानमंत्री बनने से पहले बतौर वित्त मंत्री उन्होंने 10 बजट पेश किए थे।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: January 27, 2020 16:11 IST
Morarji Desai holds the record for presenting the budget for the most times- India TV Paisa

Morarji Desai holds the record for presenting the budget for the most times

नई दिल्‍ली। संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से आरंभ हो रहा है और इसके अगले ही दिन एक फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण मोदी सरकार की दूसरी पारी में लगातार दूसरा आम बजट पेश करेंगी। देश में अब तक सबसे ज्यादा बार आम बजट पेश करने का रिकॉर्ड भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई के नाम है। भारत का चौथा प्रधानमंत्री बनने से पहले बतौर वित्त मंत्री उन्होंने 10 बजट पेश किए थे। उनके बाद सबसे ज्यादा बार बजट पेश करने वाले वित्त मंत्री पी. चिदंबरम हैं, जिन्होंने कुल आठ बार संसद में बजट पेश किया है।

मोरारजी देसाई पहली बार 13 मार्च, 1958 से 29 अगस्त, 1963 तक देश के वित्तमंत्री रहे थे। उसके बाद मार्च 1967 से जुलाई 1969 तक फिर उन्होंने वित्तमंत्री की जिम्मेदारी संभाली। इस दौरान उन्होंने केंद्र सकार के 10 बजट संसद में पेश किए, जिनमें से आठ पूर्ण बजट, जबकि दो अंतरिम बजट थे।

वर्ष 1964 और 1968 में ऐसे भी मौके आए, जब मोरारजी देसाई ने अपने जन्मदिन पर संसद में आम बजट पेश किया था। पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई का जन्म 29 फरवरी, 1896 को गुजरात के वलसाड जिले के एक गांव में हुआ था। देश में पहली बार 1977 में बनी गैर-कांग्रेसी सरकार में मोरारजी देसाई प्रधानमंत्री बने थे। वह 24 मार्च, 1977 से 28 जुलाई, 1979 तक देश के प्रधानमंत्री रहे थे।

सबसे ज्यादा चार बार वित्तमंत्री रह चुके पी. चिदंबरम ने कुल आठ बजट संसद में पेश किए हैं। चिदंबरम पहली बार एचडी देवेगौड़ा की अगुवाई में बनी संयुक्त मोर्चा सरकार में एक जून, 1996 को वित्तमंत्री बने थे। वह 21 अप्रैल, 1997 तक वित्तमंत्री रहे। इसके बाद एक मई, 1997 से लेकर 19 मार्च, 1998 तक वह तत्कालीन प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल की सरकार में वित्त मंत्री रहे।

इसके बाद डॉ. मनमोहन सिंह के नेतृत्व में बनी संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन यानी संप्रग-1 की सरकार में चिदंबरम 22 मई, 2004 से लेकर 30 नवंबर, 2008 तक वित्तमंत्री रहे। चिदंबरम चौथी बार मनमोहन सिंह की अगुवाई में संप्रग-2 की सरकार में 31 जुलाई, 2012 से लेकर 26 मई, 2014 तक वित्तमंत्री रहे।

Write a comment
X