1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. RCom ने 380 कर्मचारियों को निकाला नौकरी से, प्रेक्‍टो ने की 150 कर्मचारियों की छंटनी

RCom ने 380 कर्मचारियों को निकाला नौकरी से, प्रेक्‍टो ने की 150 कर्मचारियों की छंटनी

ऐसा समझा जाता है कि रिलायंस कम्यूनिकेशंस (RCom) ने अच्छा काम नहीं करने वाले करीब 380 कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया है।

Abhishek Shrivastava Abhishek Shrivastava
Updated on: April 07, 2017 21:10 IST
RCom ने 380 कर्मचारियों को निकाला नौकरी से, प्रेक्‍टो ने की 150 लोगों की छंटनी- India TV Paisa
RCom ने 380 कर्मचारियों को निकाला नौकरी से, प्रेक्‍टो ने की 150 लोगों की छंटनी

नई दिल्‍ली। ऐसा समझा जाता है कि रिलायंस कम्यूनिकेशंस ( RCom) ने अच्छा काम नहीं करने वाले करीब 380 कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया है। इसके अलावा 260 कर्मचारियों पर भी तलवार लटकी हुई है।

एक सूत्र ने कहा, आरकॉम ने अपने प्रदर्शन प्रबंधन प्रणाली के तहत अच्छा काम नहीं करने वाले करीब 380 कर्मचारियों से कंपनी छोड़ने को कहा है। कंपनी 260 और लोगों को इसी कारण से निकाल सकती है। कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना कर रही आरकॉम को दिसंबर तिमाही में 531 करोड़ रुपए का एकीकृत शुद्ध घाटा हुआ। यह पहला मौका है जब कंपनी को शुद्ध घाटा हुआ है।

एसएसटीएल का आरकॉम के साथ विलय माह के अंत तक पूरा हो जाने की उम्मीद है। ऐसा समझा जाता है कि आरकॉम को स्पेक्ट्रम खरीद के लिए दूसरी किस्त के रूप में 396 करोड़ रुपए देने हैं। इसके अलावा इंटरकनेक्शन उपयोग शुल्क (आईयूसी) के रूप में करीब 25 करोड़ रुपए समेत अन्य भुगतान करना है। एक सूत्र ने बताया, विलय प्रक्रिया में एसएसटीएल के ऊपर स्पेक्ट्रम का बकाया किस्त आरकॉम के जिम्मे आ गया है। कंपनी ने करीब दो महीने में आईयूसी भुगतान एक दूरसंचार कंपनी को कर दिया। शेष भुगतान निर्धारित समय के हिसाब से करना है।

प्रेक्टो ने 150 कर्मचारी हटाए 

ऑनलाइन हेल्थकेयर प्लेटफार्म प्रेक्टो ने अपने दस प्रतिशत या 150 कर्मचारियों को हटा दिया है। कंपनी ने सालाना निष्पादन आकलन तथा अधिग्रहणों के कारण कर्मचारी अधिशेष होने के मद्देनजर यह कदम उठाया है।

कंपनी के एक प्रवक्ता ने ईमेल से भेजे जवाब में कहा है, कल हमारे 150 सहकर्मी बाहर अवसरों को तलाशने के लिए कंपनी छोड़कर चले गए। इसके साथ ही कंपनी ने कहा है कि वह नयी भर्तियां करती रहेगी। प्रेक्टो ने फिटहो, जेनी, इंस्टा हेल्थ साल्यूशंस, क्विकवेल व एनलाइटिक्स का अधिग्रहण किया है।

Write a comment
bigg-boss-13