1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. दो दर्जन लोगों ने किया सेबी चेयरमैन पद के लिए आवेदन, अजय त्‍यागी ने अभी तक नहीं दी एप्‍लीकेशन

दो दर्जन लोगों ने किया सेबी चेयरमैन पद के लिए आवेदन, अजय त्‍यागी ने अभी तक नहीं दी एप्‍लीकेशन

हिमाचल प्रदेश कैडर के 1984 बैच के आईएएस अधिकारी त्यागी को 2017 में बाजार नियामक का प्रमुख नियुक्त किया गया था।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: February 24, 2020 18:18 IST
Two dozen apply for SEBI chairman post- India TV Paisa

Two dozen apply for SEBI chairman post

नई दिल्‍ली। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के दो पूर्णकालिक सदस्यों समेत कुल 24 लोगों ने पूंजी नियामक के चेयरमैन पद के लिए आवेदन दिए हैं। इसमें मौजूदा चेयरमैन अजय त्यागी का आवेदन शामिल नहीं है। आवेदन देने की अंतिम तिथि 10 फरवरी है। सूत्रों के अनुसार एक-दो कार्यरत और सेवानिवृत्त नौकरशाहों ने भी पद के लिए आवेदन किया है।

सूत्र ने बताया कि सेबी के कम-से-कम दो मौजूदा पूर्णकालिक सदस्यों ने पद के लिए आवेदन किया है। हालांकि मौजूदा प्रमुख अजय त्यागी ने आवेदन नहीं दिया है। उनका तीन साल का कार्यकाल इस महीने के अंत में समाप्त होगा। त्यागी को शुरू में तीन साल की अवधि के लिए तैनात किया गया था और उनका कार्यकाल दो साल के लिए बढ़ाया जा सकता था। हालांकि सरकार ने 24 जनवरी को विज्ञापन जारी कर नए सिरे से चयन प्रक्रिया शुरू करने का निर्णय किया।

हिमाचल प्रदेश कैडर के 1984 बैच के आईएएस अधिकारी त्यागी को 2017 में बाजार नियामक का प्रमुख नियुक्त किया गया था। उन्होंने एक मार्च 2017 को पदभार संभाला। त्यागी के मामले में सरकार ने दो बार नियुक्ति अधिसूचना जारी की थी। दस फरवरी 2017 को जारी पहली अधिसूचना के अनुसार आर्थिक मामलों के विभाग में तत्कालीन अतिरिक्त सचिव (निवेश) त्यागी को सेबी चेयरमैन नियुक्त किया गया था। उनकी नियुक्ति पांच साल या 65 साल पूरा होने या अगले आदेश, जो भी पहले हो, तक के लिए किया गया था।

उसके बाद एक और अधिसूचना जारी की गयी और उनकी नियुक्ति तीन साल के लिए की गई। नियामक प्रमुख पद पर नियुक्ति प्रक्रिया के तहत मंत्रिमंडल सचिव की अध्यक्षता वाली वित्तीय क्षेत्र नियामकीय नियुक्ति खोज समिति (एफएसआरएएससी) उम्मीदवारों को छांटती है। छांटे गए उम्मीदवारों का साक्षात्कार एक समिति करती है। इसमें आर्थिक मामलों के सचिव और तीन बाहरी सदस्य होते हैं, जिन्हें क्षेत्र के बारे में जानकारी होती है। नामों को छांटने के बाद एफएसआरएएससी अपनी सिफारिश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति को भेजती है। 

Write a comment
X