1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Google Pay को असुरक्षित बताने वाली अफवाहों के बीच WhatsApp ने तेज की पेमेंट सर्विस लॉन्‍च करने की तैयारी

Google Pay को असुरक्षित बताने वाली अफवाहों के बीच WhatsApp ने तेज की पेमेंट सर्विस लॉन्‍च करने की तैयारी

व्हाट्सएप के लिए भारत सबसे बड़ा बाजार है। यहां उसके 40 करोड़ से अधिक यूजर्स हैं। व्हाट्सएप ने फरवरी 2018 में यूपीआई आधारित व्हाट्सअप पे को लॉन्च किया था,

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: June 25, 2020 10:31 IST
WhatsApp to launch payments service in India- India TV Paisa
Photo:GOOGLE

WhatsApp to launch payments service in India

नई दिल्‍ली। ब्राजील में हाल ही में लॉन्‍च हुई व्‍हाट्सएप पेमेंट सिस्‍टम को बंद करने और भारत में गूगल पे के खिलाफ सोशल मीडिया पर असुरक्षित होने संबंधी खबरों के बीच फेसबुक के स्‍वामित्‍व वाले मैसेजिंग प्‍लेटफॉर्म व्‍हाट्सएप ने कहा है कि वह भारत में अपनी पेमेंट सर्विस शुरू करने के लिए प्रतिबद्ध है। व्‍हाट्सएप भारत में अपनी पेमेंट सर्विस पर पिछले दो साल से काम कर रही है। वहीं दूसरी ओर गूगल पे कहा है कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) और भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) के दिशा-निर्देशों के तहत तय प्रक्रिया के अनुसार उसके मंच के जरिए किए जाने वाले लेनदेन पूरी तरह सुरक्षित हैं।

गूगल पे का यह स्पष्टीकरण सोशल मीडिया पर इस चर्चा के बाद आया कि उसके माध्यम से धन हस्तांतरण विधि सम्मत नहीं है, क्योंकि यह अनधिकृत एप है। गूगल के एक प्रवक्ता ने कहा कि सोशल मीडिया में कुछ जगह आरबीआई को गलत तरीके से उद्धृत करके यह दावा किया गया है कि गूगल पे के जरिए धन हस्तांतरण करना विधि सम्मत नहीं है, क्योंकि ये एप अनधिकृत है। यह गलत है और इसकी सच्चाई एनपीसीआई की वेबसाइट पर पता की जा सकती है।  गूगल के प्रवक्ता ने कहा कि आरबीआई ने इस तरह की कोई बात अदालत की सुनवाई में नहीं कही है। इस महीने की शुरुआत में आरबीआई ने दिल्ली उच्च न्यायालय को बताया था कि गूगल पे एक तृतीय पक्ष एप प्रदाता है और किसी भी भुगतान प्रणाली को संचालित नहीं करता है। आरबीआई ने साथ ही कहा कि इसका संचालन 2007 के भुगतान और निपटान प्रणाली कानून का उल्लंघन नहीं है।

व्‍हाट्सएप के प्रवक्‍ता ने अपने एक बयान में कहा कि हम ब्राजील में अपने स्‍थानीय भागीदारों और केंद्रीय बैंक के साथ लगातार बातचीत कर रहे हैं, हम भारत में व्‍हाट्एप पेमेंट को लॉन्‍च करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्‍होंने कहा कि यूपीआई पूरी दुनिया के लिए एक लाइटहाउस मॉडल है। स्‍थानीय बैंक और संस्‍थान स्‍थानीय स्‍तर पर इन्‍नोवेशन को बढ़ावा दे रहे हैं, जो सभी तक वित्‍तीय सेवाएं पहुंचाने में सक्षम है। ब्राजील ने अपने यहां व्‍हाट्सएप पेमेंट पर रोक लगा दी है, इसे यहां पिछले हफ्ते ही लॉन्‍च किया गया था। ब्राजील सरकार का कहना है कि इससे ब्राजील पेमेंट सिस्‍टम की प्रतिस्‍पर्धा, दक्षता और डाटा गोपनीयता को क्षति पहुंचेगी।

व्‍हाट्सएप ने पिछले हफ्ते सुप्रीम कोर्ट में कहा है कि वह आरबीआई के बैंकिंग दिशा-निर्देशों के तहत स्‍थानीय डाटा संग्रहण की आवश्‍यकता को पूरा कर रहा है। व्‍हाट्सएप के लिए भारत सबसे बड़ा बाजार है। यहां उसके 40 करोड़ से अधिक यूजर्स हैं। व्‍हाट्सएप ने फरवरी 2018 में यूपीआई आधारित व्‍हाट्सअप पे को लॉन्‍च किया था, जिसका 10 लाख लोगों के साथ अभी भी परीक्षण चल रहा है।

Write a comment
X