1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. विश्व आर्थिक मंच की सालाना बैठक को लेकर किले में तब्दील हुआ रिसॉर्ट शहर दावोस

दावोस में World Economic Forum 2020 की बैठक आज से, दुनिया की दिग्गज हस्तियां होंगी शामिल

दावोस में विश्व आर्थिक मंच यानी वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (डब्ल्यूईएफ) की 50वीं सालाना बैठक शुरू होने जा रही है।

India TV Business Desk India TV Business Desk
Updated on: January 20, 2020 13:24 IST
world economic forum 2020, Switzerland, Davos, US President Donald Trump, - India TV Paisa

world economic forum 2020

नई दिल्ली। स्विट्जरलैंड का खूबसूरत स्की रिसॉर्ट शहर दावोस विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) की 50वीं सालाना बैठक के लिए सजधज कर तैयार है। दुनियाभर के ताकतवर नेताओं और अमीरों के हो रहे जमावड़े के मद्देनजर शहर को किले की तरह सुरक्षित बनाया गया है। रेडारों, ड्रोनों, लड़ाकू विमानों आदि से लगातार स्थिति पर निगरानी जा रही है। स्विट्जरलैंड की सरकार ने शहर की सुरक्षा में सेना के पांच हजार जवान, हजारों पुलिस जवान तथा निजी सुरक्षाकर्मी तैनात की है। स्विट्जरलैंड की वायुसेना ने आसमान की सुरक्षा के लिये रेडारों और ड्रोनों के साथ ही युद्ध के लिये तैयार लड़ाकू विमानों को तैनात किया है। डब्ल्यूईएफ की यह 50वीं वार्षिक बैठक आज सोमवार यानी 20 जनवरी से शुरू हो रही है। बैठक पांच दिन यानी 24 जनवरी तक चलेगी। 

बताया जा रहा है कि इस बार डब्ल्यूईएफ की सालाना बैठक में विश्व से करीब 3000 शक्तिशाली नेताओं और कारोबारियों के पहुंचने की संभावना है। इस बार बैठक का विषय 'संसक्त व स्थिर विश्व के साझीदार' रखा गया है। वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल इस कार्यक्रम में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगे। वाणिज्य मंत्रालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक, केंद्रीय मंत्री गोयल इस दौरान विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के मंत्रियों की अनौपचारिक बैठक में भी हिस्सा लेंगे।

फिल्म अभिनेत्री दीपिका पादुकोण डब्ल्यूईएफ में मानसिक स्वास्थ्य पर विचार रखेंगी, तो सद्गुरु वार्षिक शिखर बैठक में सुबह के समय चिंतन सत्रों का आयोजन करेंगे। जिनेवा स्थित इस अंतरराष्ट्रीय संगठन ने कहा कि दुनिया के समक्ष मौजूद बड़ी चुनौतियों मसलन आय असमानता और राजनीतिक ध्रुवीकरण की वजह से पैदा हुए सामाजिक भेद से लेकर जलवायु परिवर्तन क संकट से निपटने पर चर्चा होगी।

ये तमाम दिग्गज होंगे शामिल

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन, ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स, जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल, अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी डब्ल्यूईएफ की इस वार्षिक बैठक में हिस्सा लेंगे। इनके अलावा इराक के राष्ट्रपति बरहम सालिह, फिनलैंड की प्रधानमंत्री सन्ना मारिन, हांगकांग स्वायत्त क्षेत्र की मुख्य कार्यकारी अधिकारी कैरी लैम, नॉर्वे की प्रधानमंत्री एर्ना सोलबर्ग, सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सेइन लूंग और स्विट्जरलैंड के राष्ट्रपति उएली मौरेर ने आने की पुष्टि कर दी है। हालांकि, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के आने को लेकर संशय बना हुआ है। 

दीपिका पादुकोण को किया जाएगा सम्मानित

बताया जा रहा है कि भारत की तरफ से विश्व आर्थिक मंच 2020 की बैठक में प्रमुख भारतीय कारोबारियों और दूसरी हस्तियों में गौतम अडानी, मुकेश अंबानी, राहुल और संजीव बजाज, कुमार मंगलम बिड़ला, टाटा समूह के एन.चंद्रशेखरन, सज्जन जिंदल, उदय कोटक, भारतीय स्टेट बैंक के रजनीश कुमार, आनंद महिंद्रा, सुनील मित्तल, राजन मित्तल, रवि रुइया, पवन मुंजाल, नंदन नीलेकणि, सलिल पारेख, एचसीएल टेक के सी. विजयकुमार, अजय पीरामल, रिशद प्रेमजी, अजय सिंह और फिरोजशाह गोदरेज आदि के शामिल होने की संभावना है। बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण भी वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की बैठक में मौजूद रहेंगी, जिन्हें पहले दिन क्रिस्टल अवॉर्ड से सम्मानित किया जाएगा।  

ऐसा हो सकता है दावोस घोषणापत्र 2020

दावोस घोषणापत्र 2020 में हिस्सेदारी पूंजीवाद को लेकर दृष्टिकोण पेश किया जाएगा। इसमें मौजूदा समय के महत्वपूर्ण मुद्दों मसलन उचित कराधान, भ्रष्टाचार को बर्दाश्त नहीं करने, कार्यकारियों के वेतन और मानवाधिकार सम्मान के बिंदुओं को छुआ जाएगा। डब्ल्यूईएफ के संस्थापक एवं कार्यकारी चेयरमैन क्लाउस श्वाब ने कहा कि कंपनियों ने अब साझेदारी वाले पूंजीवाद को पूरी तरह स्वीकार कर लिया है। इसका मतलब सिर्फ मुनाफे को अधिकतम करना नहीं बल्कि सरकार और समाज के साथ उनकी क्षमता और संसाधनों का इस्तेमाल कर इस दशक के महत्वपूर्ण मुद्दों का समाधान करना भी है। वे सक्रिय रूप से जुड़ी और टिकाऊ या सतत दुनिया में सक्रिय योगदान दे रहे हैं। 

कई देशों के मंत्रियों के साथ होगी द्विपक्षीय वार्ता

वाणिज्य मंत्रालय के मुताबिक, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल अपने इस दौरे में ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका, रूस, सऊदी अरब, स्विटजरलैंड, कोरिया और सिंगापुर के मंत्रियों के द्विपक्षीय वार्ता भी करेंगे। इसके अलावा वह वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन के डायरेक्टर जनरल और ऑर्गेनाइजेशन फॉर इकोनॉमिक को-ऑपरेशन एंड डवलपमेंट के सेक्रेटरी जनरल से भी मुलाकात करेंगे। वाणिज्य मंत्रालय ने कहा कि केंद्रीय मंत्री की इस फोरम में कई कंपनियों के सीईओ से मुलाकात के साथ भारतीय रेलवे में निवेश को बढ़ाने और वैश्विक वित्तीय संस्थानों की ओर से भारत में निवेश बढ़ाने के लिए राउंड टेबल कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे।

भारतीय प्रतिनिधिमंडल में ये भी शामिल

वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम में पीयूष गोयल के साथ केंद्रीय जहाज रानी राज्य मंत्री मनसुख लाल मांडविया, कर्नाटक और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री, पंजाब के वित्त मंत्री और तेलंगाना के आईटी मंत्री में भारतीय प्रतिनिधिमंडल में शामिल रहेंगे। वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय और इनवेस्ट इंडिया भी इस प्रतिनिधिमंडल में शामिल होंगे।

Write a comment
X