Wednesday, July 24, 2024
Advertisement
  1. Hindi News
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. अंडर कंस्ट्रक्शन या रेडी टू मूव बेहतर रिटर्न के लिए कहां करें निवेश, जानें दोनों के फायदे और नुकसान

अंडर कंस्ट्रक्शन या रेडी टू मूव बेहतर रिटर्न के लिए कहां करें निवेश, जानें दोनों के फायदे और नुकसान

घर खरीदने से पहले यह तय करना काफी मुश्किल होता है कि अंडर कंस्ट्रक्शन या रेडी टू मूव संपत्ति में निवेश करें। बेहतर रिटर्न पानी के लिए आप इनमें निवेश करने से पहले अपनी पसंद जोखिम की क्षमता और अपनी इनकम को ध्यान में जरूर रखें। जोखिम से बचने के लिए रेडी टू मूव संपत्ति में निवेश करें।

Edited By: India TV Paisa Desk
Updated on: March 14, 2023 10:28 IST
Under construction Vs ready to move in property- India TV Paisa
Photo:CANVA अंडर कंस्ट्रक्शन और रेडी टू मूव घर के फायदे और नुकसान

Under construction Vs ready to move in property: निवेश के लिए घर खरीदने से पहले लोग बचत के ऊपर अधिक ध्यान देते हैं। यही वजह है कि अक्सर लोग अंडर कंस्ट्रक्शन और रेडी टू मूव संपत्ति के बीच यह तय करने में काफी समय लगा देते हैं कि उनके बीच कौन ज्यादा बेहतर है। क्या आप भी संपत्तियों में निवेश कर अधिक रिटर्न की उम्मीद करते हैं? ऐसे में आपके लिए अंडर कंस्ट्रक्शन या रेडी टू मूव कौन सबसे ज्यादा बेहतर है इसके बारे में जानना जरूरी है। दोनों के फायदे और नुकसान जानने के बाद बेहद आसानी से यह तय कर पाएंगे कि कौन ज्यादा बेहतर है।

अंडर कंस्ट्रक्शन प्रॉपर्टी के फायदे और नुकसान

अंडर कंस्ट्रक्शन और रेडी टू मूव फ्लैट या घर खरीदने से पहले अपनी जरूरत के ऊपर जरूर ध्यान दें। अगर आप अंडा कंस्ट्रक्शन प्रॉपर्टी में निवेश करते हैं तो यह फायदे का सौदा हो सकता है। इसमें अपने अनुसार अलग से टाइल्स और अन्य मैटेरियल लगवा सकते हैं। रेडी टू मूव के मुकाबले अंडर कंस्ट्रक्शन प्रॉपर्टी की कीमत कम होती है। लेकिन यह जोखिम भरा भी हो सकता है। कई बार लोग पैसे देने के बावजूद भी समय पर अंडर कंस्ट्रक्शन प्रॉपर्टी को हैंड ओवर होते नहीं देख पाते हैं।

रेडी टू मूव प्रॉपर्टी के फायदे और नुकसान

अंडर कंस्ट्रक्शन और रेडी टू मूव दोनों ही प्रॉपर्टी के अपने फायदे और नुकसान हैं। रेडी टू मूव प्रॉपर्टी के बाद करें तो इसे खरीदने के लिए एक साथ अधिक पैसों की जरूरत पड़ सकती है। इसे खरीदने के बाद आप तुरंत परिवार के साथ शिफ्ट कर सकते हैं। यह जोखिम भरा नहीं होता है। पैसे देने के बाद आप हाथों हाथ इसे अपने पास हैंडओवर करवा सकते हैं। वहीं दूसरी तरफ अगर रेडी टू मूव प्रॉपर्टी के नुकसान की बात करें तो इसकी कीमत ज्यादा होती है। इसमें अपने अनुसार कोई भी बदलाव करवाने पर डबल खर्चा लग सकता है। एक से अधिक प्रॉपर्टी के बीच तुलना करने में आसानी होती है।

बेहतर रिटर्न के लिए अंडर कंस्ट्रक्शन या रेडी टू में कहां करें निवेश?

अंतरिक्ष इंडिया के सीएमडी राकेश यादव ने इंडिया टीवी को बताया कि अंडर कंस्ट्रक्शन और रेडी टू मूव फ्लैट या घर खरीदने से पहले अपनी जरूरत के ऊपर जरूर ध्यान दें। अगर आप प्रॉपर्टी में केवल बेहतर रिटर्न के लिए निवेश करना चाहते हैं तो इसके लिए अंडर कंस्ट्रक्शन ज्यादा फायदे का सौदा साबित हो सकता है। इसमें अपने अनुसार अलग से टाइल्स और अन्य मैटेरियल लगवा सकते हैं। रेडी टू मूव के मुकाबले अंडर कंस्ट्रक्शन प्रॉपर्टी की कीमत भी कम होती है। समय के साथ इसे बनकर तैयार हो जाने के बाद आसपास मौजूद अन्य प्रॉपर्टी की तुलना में इसकी कीमत उस समय अधिक हो जाती है। वहीं रेडी टू मूव प्रॉपर्टी के बाद करें तो इसे खरीदने के लिए एक साथ अधिक पैसों की जरूरत पड़ सकती है  लेकिन आप तुरंत शिफ्ट हो सकते हैं। 

बेहतर रिटर्न के लिए कहां करें निवेश?

अगर आप प्रॉपर्टी में केवल बेहतर रिटर्न के लिए निवेश करना चाहते हैं तो इसके लिए अंडर कंस्ट्रक्शन ज्यादा फायदे का सौदा साबित हो सकता है। हालांकि जोखिम भरा होने के कारण इसके ऊपर नजर बनाकर रखने की भी जरूरत है। रेडी टू मूव प्रॉपर्टी के मामले में इसकी कीमत कम होती है। समय के साथ इसे बनकर तैयार हो जाने के बाद आसपास मौजूद अन्य प्रॉपर्टी की तुलना में इसकी कीमत उसे समय अधिक हो सकती है।

Latest Business News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Business News in Hindi के लिए क्लिक करें पैसा सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement