1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. सेंसेक्स में 976 अंक की बढ़त, निफ्टी 15,175 के ऊपर बंद

सेंसेक्स में 976 अंक की बढ़त, निफ्टी 15,175 के ऊपर बंद

दवा कंपनियों को छोड़कर सभी क्षेत्रों में खरीदारी देखी गयी, सबसे ज्यादा बढ़त बैंकिंग और फाइनेंशियल सेक्टर में देखने को मिला

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: May 21, 2021 17:05 IST
शेयर बाजार में बढ़त- India TV Paisa
Photo:PTI

शेयर बाजार में बढ़त

नई दिल्ली। वित्तीय क्षेत्र के स्टॉक्स में आई खरीद की मदद से शेयर बाजार में शुक्रवार को जोरदार तेजी देखने को मिली है।  शुक्रवार के कारोबार में बीएसई सेंसेक्स करीब 1000 अंक उछलकर बंद हुआ। एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी लि., आईसीआईसीआई बैंक और एसबीआई जैसे प्रमुख शेयरों की अगुवाई में यह तेजी आयी। प्रमुख वित्तीय कंपनियों के परिणाम बेहतर रहने से निवेशकों का बाजार पर भरोसा बढ़ा है। 

आज के कारोबार में तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 975.62 अंक यानी 1.97 प्रतिशत की तेजी के साथ 50,540.48 पर बंद हुआ। एनएसई निफ्टी भी 269.25 अंक यानी 1.81 प्रतिशत मजबूत होकर 15,175.30 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स के शेयरों में सर्वाधिक 4 प्रतिशत से अधिक लाभ में एचडीएफसी बैंक रहा। भारतीय स्टेट बैंक का तिमाही परिणाम बेहतर रहने से वित्तीय क्षेत्र के शेयरों को लेकर सेंटीमेंट्स बेहतर हुए हैं। देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई का शुद्ध लाभ 2020-21 की चौथी तिमाही में 80 प्रतिशत उछलकर 6,450.75 करोड़ रुपये रहा। मुख्य रूप से फंसे कर्ज में कमी से बैंक का लाभ बढ़ा है। इसके अलावा इंडसइंड बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक और एचडीएफसी आदि शेयर भी लाभ में रहें। दूसरी तरफ गिरावट वाले शेयरों में पावरग्रिड और डा.रेड्डीज शामिल हैं। 

रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीति प्रमुख विनोदी मोदी ने कहा कि मुख्य रूप से वित्तीय कंपनियों के शेयरों में मजबूती से बाजार में तेजी लौटी। उन्होंने कहा,‘‘ एसबीआई समेत वित्तीय सेवा कंपनियों के बेहतर परिणाम और फंसे कर्ज की स्थिति में सुधार की रिपोर्ट से बाजार को समर्थन मिला। पुन: कोविड-19 संक्रमण के मामले में दैनिक आधार पर कमी से भी वित्तीय कंपनियों को लेकर भरोसा बढ़ा जिसका असर बाजार पर पड़ा। दवा कंपनियों को छोड़कर सभी क्षेत्रों में खरीदारी देखी गयी।’’ मोदी के अनुसार यह कहा जा रहा था कि कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर मई के अंत या जून के मध्य तक चरम पर होगी। यह सही जान पड़ रहा है। इसका प्रभाव 2021-22 की पहली तिमाही से आगे नहीं जाना चाहिए। इन सबसे निवेशकों के बीच भरोसा बढ़ रहा है। एशिया के अन्य बाजारों में शंघाई और सोल नकारात्मक दायरे में रहे जबकि तोक्यो तथा हांगकांग लाभ के साथ बंद हुए। यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरूआती कारोबार में बढ़त का रुख रहा। 

यह भी पढ़ें: SBI ग्राहकों के लिये बड़ी खबर, इस अवधि में बंद रहेंगी ये खास बैंकिंग सेवायें

यह भी पढ़ें: आधार से जुड़ी है आपकी कोई शिकायत या समस्या, घर बैठे समाधान पाने की ये है पूरी प्रकिया

 

 

 

 

Write a comment
Click Mania
bigg boss 15