Punjab Police: स्वतंत्रता दिवस पहले ISI समर्थित आतंकी मॉड्यूल का पंजाब पुलिस ने किया भंडाफोड़

Punjab Police: पंजाब के पुलिस महानिदेशक गौरव यादव ने एक बयान में बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों के पास से तीन हथगोले (पी-86), एक आईईडी, दो पिस्तौल और 40 कारतूस बरामद किए गए।

Pankaj Yadav Edited By: Pankaj Yadav
Published on: August 14, 2022 23:09 IST
Punjab Police- India TV Hindi
Punjab Police

Highlights

  • पंजाब पुलिस ने आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया
  • आरोपियों के कनाडा और ऑस्ट्रेलिया से जुड़े हुए थे तार

Punjab Police: स्वतंत्रता दिवस से पहले पंजाब पुलिस ने रविवार को दावा किया कि उसने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई समर्थित एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया और चार लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने कहा कि इन आतंकियों को देश में शांति और सद्भाव बिगाड़ने के लिए स्वतंत्रता दिवस से पहले हमला करने के लिए कहा गया था। पंजाब पुलिस ने ट्वीट किया, ‘‘स्वतंत्रता दिवस से पहले, पंजाब पुलिस ने दिल्ली पुलिस की मदद से बड़े आतंकी खतरे को नाकाम किया और पाक-ISI समर्थित आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया। कनाडा के अर्श डल्ला और ऑस्ट्रेलिया के गुरजंत सिंह से जुड़े मॉड्यूल के चार सदस्य गिरफ्तार।’’ 

आरोपियों से दो पिस्तौल और 40 कारतूस बरामद किए गए

पंजाब के पुलिस महानिदेशक गौरव यादव ने एक बयान में बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों के पास से तीन हथगोले (पी-86), एक आईईडी, दो पिस्तौल और 40 कारतूस बरामद किए गए। आरोपियों की पहचान मोगा के प्रीत नगर के दीपक शर्मा, फिरोजपुर में कोटकरोर कलां गांव के संदीप सिंह, दिल्ली के नजफगढ़ के गांव ईशापुर के सनी डागर और नई दिल्ली में गोयला खुर्द के निवासी विपिन जाखड़ के रूप में हुई है। पुलिस ने कहा कि आरोपी कनाडा के अर्शदीप सिंह उर्फ अर्श डल्ला और ऑस्ट्रेलिया में रहने वाला गैंगस्टर गुरजंत सिंह उर्फ जंता से जुड़े हुए थे। यादव ने कहा कि ठोस सूचना मिली थी कि अर्श डल्ला के सहयोगियों को विपिन जाखड़ नयी दिल्ली में गोयला खुर्द गांव में पनाह दिए हुए है। 

आरोपियों पर इससे पहले भी कई केस हैं

पंजाब पुलिस की टीम ने द्वारका पुलिस के साथ शुक्रवार को आरोपियों के परिसरों पर छापेमारी की और उन्हें गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की। डीजीपी ने कहा कि जांच में खुलासा हुआ कि मोगा के रहने वाले जसविंदर सिंह उर्फ जस्सी की हत्या के मामले में और जून 2022 में मोगा के गांव डल्ला के पंचायत सचिव के घर पर गोलीबारी के मामले में दीपक शर्मा वांछित था। यादव ने कहा कि हाल में दुबई से भारत लौटे संदीप ने पंचायत सचिव के घर पर गोलीबारी करने के लिए दीपक को हथियारों समेत कई तरह की मदद की थी। डीजीपी ने कहा कि पैरोल पर बाहर आया आरोपी सनी डागर, दिल्ली और एनसीआर क्षेत्र में सक्रिय नीरज बवाना गिरोह और टिल्लू ताजपुरिया गिरोह का सक्रिय सदस्य है। उसके खिलाफ पहले से कई मामले दर्ज हैं। डीजीपी ने कहा कि सनी डागर ने दिल्ली और आसपास के इलाकों में दीपक शर्मा और संदीप सिंह को ठिकाने उपलब्ध कराए, वहीं आरोपी विपिन जाखड़ ने गिरफ्तार किए गए अन्य लोगों को वित्तीय और अन्य सहायता प्रदान की। 

5 दिन के हिरासत में भेजे गए आरोपी

पुलिस ने सभी गिरफ्तार व्यक्तियों को शनिवार को मोहाली की अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें पांच दिन की हिरासत में भेज दिया गया। कनाडा में रहने वाला अर्श डल्ला मोगा के डल्ला गांव का रहने वाला कुख्यात गैंगस्टर है, जो पंजाब पुलिस द्वारा ‘मोस्ट वांटेड’ घोषित है। उसकी संलिप्तता पंजाब में विभिन्न लक्षित हत्याओं में भी सामने आई थी। साथ ही, उसने पाकिस्तान से आरडीएक्स, आईईडी, एके-47 और अन्य हथियारों तथा गोला-बारूद की खेप मंगाकर राज्य में मॉड्यूल को इसकी आपूर्ति की थी। यादव ने कहा कि पुलिस ने उसे कनाडा से प्रत्यर्पित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है और जल्द उसे भारत लाया जाएगा। अर्श डल्ला के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस मई 2022 में जारी किया गया था।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन