1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. पीएम मोदी ने हॉकी टीम के कप्तान और कोच से बात की, कहा-आपने इतिहास रच दिया

पीएम मोदी ने हॉकी टीम के कप्तान और कोच से बात की, कहा-आपने इतिहास रच दिया

पीएम मोदी ने टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह, कोच ग्राहम रीड और असिस्टेंट कोच पीयूष दूबे से फोन पर बात की इस उपलब्धि के लिए बधाई ही और कहा कि हमें आप पर गर्व है, आप सभी ने इतिहास रच दिया है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: August 05, 2021 13:22 IST
पीएम मोदी ने हॉकी टीम के कप्तान और कोच से बात की, कहा-आपने इतिहास रच दिया- India TV Hindi
Image Source : PTI पीएम मोदी ने हॉकी टीम के कप्तान और कोच से बात की, कहा-आपने इतिहास रच दिया

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने पर भारतीय हॉकी टीम को बधाई दी है। उन्होंने टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह, कोच ग्राहम रीड और असिस्टेंट कोच पीयूष दूबे से फोन पर बात की इस उपलब्धि के लिए बधाई ही और कहा कि हमें आप पर गर्व है, आप सभी ने एक इतिहास रच दिया है। पीएम मोदी ने मनप्रीत से कहा कि आपने इतिहास बना दिया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मनप्रीत की आवाज आज बुलंद है जबकि उस दिन (जिस दिन भारत बेल्जियम से हारा था) उनकी आवाज में ऐसी बुलंदी नहीं थी। वहीं हॉकी टीम का लगातार मनोबल बढ़ाते रहने के लिए मनप्रीत ने पीएम को धन्यवाद दिया।

टीम के कप्तान और कोच से बात करने से पहले उन्होंने ट्वीट कर टीम को बधाई दी थी।,‘‘ ऐतिहासिक । यह दिन हर भारतीय की स्मृतियों में हमेशा रहेगा । कांस्य पदक जीतने के लिये हमारी पुरूष हॉकी टीम को बधाई । इससे उन्होंने पूरे देश को, खासकर युवाओं को रोमांचित किया है । भारत को अपनी हॉकी टीम पर गर्व है ।’’ प्रधानमंत्री ने हिंदी में किए एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘प्रफुल्लित भारत! प्रेरित भारत! गर्वित भारत! तोक्यो में हॉकी टीम की शानदार जीत पूरे देश के लिए गर्व का क्षण है। ये नया भारत है, आत्मविश्वास से भरा भारत है। हॉकी टीम को फिर से ढेरों बधाई और शुभकामनाएं।’’

आठ बार की ओलंपिक चैंपियन और दुनिया की तीसरे नंबर की भारतीय टीम एक समय 1-3 से पिछड़ रही थी लेकिन दबाव से उबरकर आठ मिनट में चार गोल दागकर जीत दर्ज करने में सफल रही। भारत के लिए सिमरनजीत सिंह (17वें मिनट और 34वें मिनट) ने दो जबकि हार्दिक सिंह (27वें मिनट), हरमनप्रीत सिंह (29वें मिनट) और रूपिंदर पाल सिंह ने एक-एक गोल किया। भारतीय टीम ने 1980 मास्को ओलंपिक में अपने आठ स्वर्ण पदक में से आखिरी पदक जीतने के 41 साल बाद ओलंपिक पदक जीता है।

Click Mania
uttar pradesh chunav manch 2021