1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. Maruti Suzuki ने किया 181754 वाहनों को रिकॉल, मोटर जनरेटर यूनिट में पाई गई है खराबी

Maruti Suzuki ने किया 181754 वाहनों को रिकॉल, मोटर जनरेटर यूनिट में पाई गई है खराबी

मारुति सुजुकी ने मोटर जनरेटर यूनिट की मुफ्त में जांच और रिप्लेसमेंट के लिए प्रभावित वाहनों को स्वैच्छा से रिकॉल करने का निर्णय लिया है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: September 03, 2021 15:00 IST
Maruti Suzuki recall 181754 units of some petrol variants- India TV Paisa

Maruti Suzuki recall 181754 units of some petrol variants

नई दिल्‍ली। देश की सबसे बड़ी यात्री वाहन निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड (Maruti Suzuki India) ने शुक्रवार को सियाज, अर्टिगा, विटारा ब्रेजा, एस-क्रॉस और एक्‍सएल6 के कुछ पेट्रोल वेरिएंट्स को रिकॉल किया है। कंपनी ने अपने एक बयान में कहा कि एक जिम्‍मेदार कॉरपोरेट के नाते और ग्राहकों की सुरक्षा का ध्‍यान रखते हुए मारुति सुजुकी ने खुद स्‍वैच्‍छा से वाहनों को वापस बुलाया है। कंपनी ने कहा कि 4 मई 2018 से 27 अक्‍टूबर, 2020 के दौरान निर्मित इन मॉडल्‍स की 181,754 इकाईयों में संभावित खराबी की जांच के लिए इन्‍हें वापस बुलाया गया है।

कंपनी ने कहा कि संभावित सुरक्षा खामी को सही करने के लिए यह रिकॉल वैश्विक स्‍तर पर किया गया है। उपभोक्‍ताओं के हित में, मारुति सुजुकी ने मोटर जनरेटर यूनिट की मुफ्त में जांच और रिप्‍लेसमेंट के लिए प्रभावित वाहनों को स्‍वैच्‍छा से रिकॉल करने का निर्णय लिया है। प्रभावित वाहन मालिकों को मारुति सुजुकी के अधिकृत वर्कशॉप की ओर से संपर्क किया जाएगा।  

Maruti Suzuki recall 181754 units of some petrol variants

Image Source : MARUTI SUZUKI
Maruti Suzuki recall 181754 units of some petrol variants

कंपनी ने कहा कि खराब पार्ट को नवंबर, 2021 के पहले हफ्ते से बदलना शुरू किया जाएगा। तब तक उपभोक्‍ताओं से अनुरोध है कि वह अपने वाहनों को जलभराव वाले स्‍थानों पर चलाने से बचें और वाहन के इलेक्ट्रिकल/इलेक्‍ट्रॉनिक पार्ट पर सीधे पानी न डालें।

कंपनी ने संभावित खराब वाहनों के उपभोक्‍ताओं से कहा है कि वह कंपनी की वेबसाइट marutisuzuki.com (अर्टिगा और विटारा ब्रेजा के लिए) या nexaexperience.com (सियाज, एक्‍सएल6 और एस-क्रॉस के लिए) पर ‘Imp Customer Info’ सेक्‍शन में जा सकते हैं और अपने वाहन का चैसिस नंबर डालकर यह पता कर सकते हैं कि क्‍या उनके वाहन को किसी जांच की आवश्‍यकता है या नहीं।  

कंपनी ने उपभोक्‍ताओं को सूचित किया है कि चैसिस नंबर वाहन के आईडी प्‍लेट पर लिखा होता है और यह वाहन बिल या रजिस्‍ट्रेशन डॉक्‍यूमेंट्स पर भी दर्ज होता है।   

यह भी पढ़ें: PF account में ब्‍याज की गणना के लिए सरकार ने बनाए नए नियम, जानिए कैसे होगा अब कैलकुलेशन

यह भी पढ़ें: भारतीय रेलवे 6 सितंबर से शुरू करेगी AC3 इकोनॉमी कोच का परिचालन, जानिए किस ट्रेन से होगी शुरुआत और कितना है किराया

यह भी पढ़ें: हर माह 210 रुपये जमा कर आप पा सकते हैं 5000 रुपये महीने की पेंशन, शानदार है ये स्‍कीम

यह भी पढ़ें: UP के हर गांव में स्‍थापित होंगे उद्योग, योगी सरकार की है किसानों को उद्यमी बनाने की योजना  

Write a comment
Click Mania
Modi Us Visit 2021