1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. 1 रुपये प्रति किलोमीटर से रफ्तार भरने जा रही Electric Car, 3 गुना महंगी Hybrid Car इसे कैसे देगी मात

1 रुपये प्रति किलोमीटर से रफ्तार भरने जा रही Electric Car, 3 गुना महंगी Hybrid Car इसे कैसे देगी मात

Electric and Hybrid car: मार्केट में सभी बड़ी कंपनियां अपनी नई कार लॉन्च कर रही है। कुछ नए हाइब्रिड मॉडल के साथ आ रही तो कई इलेक्ट्रिक कार फोकस कर रही है। ऐसे में कौन कितना सस्ता-महंगा पड़ेगा? आइए समझते हैं।

Vikash Tiwary Written By: Vikash Tiwary @ivikashtiwary
Published on: August 06, 2022 14:35 IST
Electric Car से 3 गुना महंगी है...- India TV Hindi News
Photo:INDIA TV Electric Car से 3 गुना महंगी है Hybrid Car

Highlights

  • इलेक्ट्रिक कार में बैटरी डिस्चार्ज होने का डर
  • हाइब्रिड कारें पेट्रोल-डीजल के मुकाबले काफी ईको-फ्रेंडली होती हैं।
  • इलेक्ट्रिक कार चलाने में एक रुपये प्रति किलोमीटर का आता है खर्च

Electric and Hybrid Car: मार्केट में सभी बड़ी कंपनियां अपनी नई कार (New Car) लॉन्च कर रही है। कुछ नए हाइब्रिड मॉडल (Hybrid Model) के साथ आ रही तो कई इलेक्ट्रिक कार (Electric Car) पर फोकस कर रही है। हाल ही में मारुति ने नई ग्रैंड विटारा (Maruti Suzuki Grand Vitara) लॉन्च की है, जो एक हाइब्रिड कार है। इलेक्ट्रिक कार की तुलना में काफी सस्ती है। अगर आप कोई कार लेने की सोच रहे हैं तो आपको कौन सी कार लेनी चाहिए? ये डिसाइड करने से पहले आपको दोनों तरह के कार के बारे में सबकुछ जान लेना चाहिए। 

क्या है हाइब्रिड कार की खासियत?

हाइब्रिड कार एक सामान्य कार की तरह होती है, लेकिन इसमें एक से अधिक पावर सोर्स दिए गए होते हैं। इसका इंजन पेट्रोल और डीजल दोनों पर काम करता है। जरूरत पड़ने पर इसे इलेक्ट्रिक मोटर की मदद से चलाया जा सकता है। इसकी कारें पेट्रोल-डीजल के मुकाबले काफी ईको-फ्रेंडली होती हैं। तीनों तरह की सुविधा होने से गाड़ी चलाने में कम ईंधन खर्च होता है और ज्यादा माइलेज दे पाती है। 

यह सेल्फ चार्जिंग टेक्नोलॉजी रिजनरेटिव ब्रेकिंग पर काम करती है। जिसके चलते ब्रेकिंग के वक्त ये बैटरी चार्ज करने में भी मदद करती है। इस कार की जो सबसे अच्छी बात है वो इलेक्ट्रिक कार की तुलना में सस्ती होती है। अगर अचानक से मेन इंजन बंद हो जाता है तो 'AC' बैटरी से चला सकते हैं। हाइब्रिड कारें तीन तरह की आती हैं- माइल्ड हाइब्रिड, स्ट्रॉन्ग हाइब्रिड या फुल हाइब्रिड और प्लग-इन हाइब्रिड।

इलेक्ट्रिक कार में बैटरी डिस्चार्ज होने का डर

भारत में बीते एक दो साल में इलेक्ट्रिक कार का मार्केट तेजी से बढ़ा है। इसके पीछे एक सबसे बड़ी वजह ईंधन की कीमतों में हो रही बेतहाशा वृद्धि दर भी है। EV को चलाने के लिए आपको उसमें दिए गए बैटरी को चार्ज करना पड़ता है। जो किसी भी पेट्रोल-डीजल से चलने वाली कार की तुलना में सस्ती पड़ती है। हालांकि इसकी कीमत पेट्रोल वाली कार के मुकाबले 1.6 गुना ज्यादा है।

ईवी में अगर 30 वॉट की बैटरी दी जाती है तो वो एक बार चार्ज होने पर 250 किलोमीटर तक का सफर तय कर सकती हैं। ऐसे में अगर पेट्रोल वाली गाड़ी है तो ईंधन खत्म होने पर आप उसे तुरंत भर सकते हैं, लेकिन ईवी में बैटरी चार्ज करने में करीब 8-9 घंटे तक का समय लगता है। यही कारण है कि लॉन्ग ड्राइव पर बैटरी के डिस्चार्ज होने का डर बना रहता है। ऐसे में कंपनियां रेंज बढ़ाने के लिए बैटरी की कैपेसिटी बढ़ा रही हैं। जो एक पूर्णत: समाधान नहीं है। 

खर्च की गणित

हाइब्रिड कार की कीमत इलेक्ट्रिक कार की तुलना में कम है, लेकिन चलाने का कॉस्ट तीन गुना ज्यादा है। अगर आप ईलेक्ट्रिक कार चलाते हैं तो आपको एक यूनिट खर्च करने पर गाड़ी करीब 10 किलोमीटर तक की रेंज दे देती है। ऐसे में आपका प्रति किलोमीटर खर्च 1 रुपये पड़ता है। ये हाल ही में लॉन्च हुई कार Nexon के बारे में है। 

वहीं अगर आप मारुति सुजुकी की ग्रैंड विटारा ब्रेजा खरीदते हैं तो आपकी गाड़ी 27.95kmpl की माइलेज देती है। इस समय पेट्रोल की कीमत 100 रुपये के करीब चला गया है. ऐसे में आपको तीन रुपये प्रति किलोमीटर से अधिक का खर्च करना पड़ जाएगा। हालांकि इसकी कीमत 9.50 लाख से शुरु है, जबकि 'Nexon' 15 लाख के रेंज में मिलती है।

Latest Business News

Write a comment