1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. चीन बॉर्डर के पास भी मिलेंगे Amul के प्रोडक्ट्स, कंपनी ने खोला आउटलेट

चीन बॉर्डर के पास भी मिलेंगे Amul के प्रोडक्ट्स, कंपनी ने खोला आउटलेट

अमूल ने बड़ी उपलब्धि हासिल करते हुए भारत-चीन बार्डर के पास अपना आउटलेट खोला है। कंपनी के प्रबंध निदेशक आर. एस. सोड़ी ने इसकी जानकारी दी है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: April 09, 2021 17:54 IST
चीन के बार्डर पर भी मिलेंगे Amul के प्रोडक्ट्स, कंपनी ने खोला आउटलेट- India TV Paisa
Photo:AMUL

चीन के बार्डर पर भी मिलेंगे Amul के प्रोडक्ट्स, कंपनी ने खोला आउटलेट

नई दिल्ली: अमूल ने बड़ी उपलब्धि हासिल करते हुए भारत-चीन बार्डर के पास अपना आउटलेट खोला है। कंपनी के प्रबंध निदेशक आर. एस. सोड़ी ने इसकी जानकारी दी है। आर. एस. सोड़ी ने इसपर कहा, ''अमूल को लेह में भारत की सबसे ऊंचाई पर अपनी 70वीं शाखा खोलने पर गर्व है, जो पूरी तरह से परिवेश, ठंडा और जमे हुए वेयरहाउसिंग और लॉजिस्टिक्स इन्फ्रा से सुसज्जित है। अमूल की यह शाखा सर्दियों में सड़क बंद होने पर भी चीन की सीमा तक दूरस्थ क्षेत्रों की मांग को पूरा करने का काम करेगी।'' आपको बता दें कि अमूल भारत की सबसे बड़ी फूड और डेयरी कंपनी है। इसकी वार्षिक आय 38500 करोड़ है। 

कैसे काम करता है अमूल?

अमूल 6 मिलियन लीटर दूध रोज 10,755 गांवों से एकत्रित करता है और ये गांव पूरे गुजरात में फैले हुए हैं। लोगों तक एक अच्छा उत्पाद पहुंचाने के लिए अमूल द्वारा इसमें एक 3 टीयर मॉडल का इस्तेमाल किया जाता था जिसमें पहले गांव में एक संस्था से दूध लिया जाता था (जो प्राइमरी प्रोडयूसर हुआ करते थे)। फिर यह दूध जिले के सहयोगी दुग्ध भंडार के पास जाता था। वे दूध को पर्याप्त तापमान पर रखते थे और उसको रखने के लिए उसमें रासायनिक पदार्थ डाले जाते थे और फिर तीसरे चरण में वह दूध फेडरेशन (जो दूध की प्रोसेसिंग और उसको बाजार में बेचने का काम करता था) तक पहुंचता था। इस मॉडल में से दलाल/ बिचौलिए को पूरी तरह हटाया जा चुका था और यही गांव के लोगों के मुनाफे का स्रोत बना।

Write a comment
X