1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. HDFC Bank का मार्केट कैप हुआ 8 लाख करोड़ रुपए के पार, Lakshmi Vilas Bank का शेयर 55% लुढ़का

HDFC Bank का मार्केट कैप हुआ 8 लाख करोड़ रुपए के पार, Lakshmi Vilas Bank का शेयर 55 प्रतिशत लुढ़का

मार्केट कैपिटालाइजेशन के तौर पर एचडीएफसी बैंक तीसरी सबसे मूल्यवान कंपनी है। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड 13,30,633.76 करोड़ रुपए के मार्केट कैप के साथ देश की सबसे मूल्यवान कंपनी है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: November 25, 2020 13:00 IST
HDFC Bank m-cap surges past Rs 8 lakh cr mark- India TV Paisa
Photo:FILE PHOTO

HDFC Bank m-cap surges past Rs 8 lakh cr mark

नई दिल्‍ली। एचडीएफसी बैंक का मार्केट कैप (बाजार पूंजीकरण) बुधवार को शुरुआती कारोबार के दौरान 8 लाख करोड़ रुपए के स्‍तर को पार कर गया। इसके साथ ही यह उपलब्धि हासिल करने वाला एचडीएफसी बैंक पहला घरेलू बैंक बन गया है। बीएसई पर एचडीएफसी बैंक की मार्केट वैल्‍यू बढ़कर 8,05,742 करोड़ रुपए हो गया। बीएसई पर एचडीएफसी बैंक का शेयर 1.76 प्रतिशत उछलकर 1464 रुपए हो गया, जो इसका एक साल का उच्‍चतम स्‍तर है।

मार्केट कैपिटालाइजेशन के तौर पर एचडीएफसी बैंक तीसरी सबसे मूल्‍यवान कंपनी है। रिलायंस इंडस्‍ट्रीज लिमिटेड 13,30,633.76 करोड़ रुपए के मार्केट कैप के साथ देश की सबसे मूल्‍यवान कंपनी है। इसके बाद टाटा कंसल्‍टेंसी का नंबर है, इसका कुल मार्केट कैप 10,13,819.30 करोड़ रुपए है। इस साल अबतक, एचडीएफसी बैंक का शेयर 15.11 प्रतिशत ऊपर चढ़ चुका है।

लक्ष्मी विलास बैंक का शेयर 7 दिन में 55 प्रतिशत टूटा

संकट में फंसे लक्ष्मी विलास बैंक (एलवीबी) के शेयरों में गिरावट का सिलसिला बुधवार को लगातार सातवें कारोबारी सत्र में जारी रहा। बैंक को लेकर काफी नकारात्मक खबरें आ रही हैं जिसके चलते निवेशक इसके शेयरों की बिकवाली कर रहे हैं। सात कारोबारी सत्रों में एलवीबी के शेयर में 55 प्रतिशत की गिरावट आ चुकी है। बुधवार को बीएसई में बैंक का शेयर 4.79 प्रतिशत और टूटकर 6.95 रुपये पर आ गया और इसने निचले सर्किट को छूट लिया। बैंक का शेयर अपने एक साल के निचले स्तर पर आ चुका है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में भी बैंक का शेयर 4.79 प्रतिशत टूटकर 6.95 रुपये पर आ गया और इसने निचला सर्किट छू लिया।

पिछले सप्ताह मंगलवार को सरकार ने एलवीबी पर कई तरह के अंकुश लगाते हुए निकासी की सीमा तय की थी। साथ ही बैंक के बोर्ड को भी भंग कर दिया गया था। बैंक से निकासी की सीमा प्रति जमाकर्ता 25,000 रुपये तय की गई है। 

Write a comment