1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. नोटबंदी पर बाबा रामदेव ने दिया ये बयान, कहा जीएसटी जैसे आर्थिक सुधारों का असर हो चुका है खत्‍म

नोटबंदी पर बाबा रामदेव ने दिया ये बयान, कहा जीएसटी जैसे आर्थिक सुधारों का असर हो चुका है खत्‍म

रुचि सोया में अगले तीन से पांच साल के भीतर 50,000 करोड़ रुपए का कारोबारी लक्ष्य हासिल करने की क्षमता है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए नए उत्पाद भी पेश किए जाएंगे।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: January 14, 2020 11:21 IST
India has digested demonetisation and gst says baba ramdev- India TV Paisa

India has digested demonetisation and gst says baba ramdev

इंदौर। आर्थिक सुस्ती से निपटने के लिए नरेंद्र मोदी सरकार के मौजूदा कदमों की तारीफ करने के साथ योग गुरु रामदेव ने कहा कि अच्छी नीयत के साथ लाए गए नोटबंदी और माल एवं सेवा कर (जीएसटी) जैसे सुधारों को देश पचा चुका है। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा कि मोदी सरकार ने नोटबंदी, जीएसटी और अन्य जो भी आर्थिक सुधार किए, इनके पीछे सरकार की नीयत अच्छी थी। देश ने इन सुधारों को पचा लिया है।

बाबा रामदेव ने आर्थिक सुस्ती के सवाल पर कहा कि‍ खुद प्रधानमंत्री ने हाल ही में इस आशय की बात कही है कि भारतीय अर्थव्यवस्था में बड़ी ताकत है और देश आर्थिक सुस्ती के दौर से उबर जाएगा। इसका मतलब यही होता है कि प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री ने आर्थिक सुस्ती पर आंखें बंद नहीं कर रखी हैं।

सरकार ने उद्योगपतियों से सुझाव मांग कर आर्थिक सुस्ती से निपटने के लिए अपनी प्रतिबद्धता भी जताई है। उन्होंने कहा कि हमें नकारात्मक चीजों का रोना रोते रहने के बजाये सोचना चाहिए कि देश आगे कैसे बढ़ेगा। देश को आगे बढ़ाना हम 125 करोड़ हिंदुस्तानियों की भी जिम्मेदारी है। अब खुद मोदी खेत में हल तो जोतेंगे नहीं या वह कोई कंपनी तो चलाएंगे नहीं।

रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद ने दीवालिया प्रक्रिया से 4,350 करोड़ रुपए के भुगतान के जरिये इंदौर स्थित सोया उत्पाद निर्माता रुचि सोया का अधिग्रहण किया है। योग गुरु ने रुचि सोया और पतंजलि आयुर्वेद से जुड़े लोगों की साझी बैठक में शामिल होने के बाद बताया कि उनकी रुचि सोया में 5,000 करोड़ रुपए से ज्यादा की पूंजी लगाने की योजना है। इसमें 4,350 करोड़ रुपए की अधिग्रहण की रकम शामिल है, जिसका विधिवत भुगतान पहले ही किया जा चुका है।

उन्होंने कहा कि रुचि सोया में अगले तीन से पांच साल के भीतर 50,000 करोड़ रुपए का कारोबारी लक्ष्य हासिल करने की क्षमता है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए नए उत्पाद भी पेश किए जाएंगे। रामदेव ने यह भी बताया कि रुचि सोया ने अभी 50,000 हेक्टेयर क्षेत्र पर पाम के पौधे लगा रखे हैं। इस रकबे को अगले पांच साल में बढ़ाकर दो लाख हेक्टेयर पर पहुंचाया जाएगा।

Write a comment