1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. धनतेरस-दिवाली पर इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स व स्‍मार्टफोंस की होगी मारामारी, चिप शॉर्टेज ने बढ़ाई किल्‍लत

धनतेरस-दिवाली पर इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स व स्‍मार्टफोंस की होगी मारामारी, चिप शॉर्टेज ने बढ़ाई किल्‍लत

एप्पल के अधिकांश रिटेल चेन संचालकों का कहना है कि आईफोन के लिए यह सबसे खराब आपूर्ति स्थिति है। पिछली तिमाही में कंपनी ने भारत में 20 लाख आईफोन की बिक्री की, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: October 25, 2021 14:04 IST
Supplies of electronics, smartphones due to Chip shortage before dhanteras and Diwali demand- India TV Paisa
Photo:PIXABAY

Supplies of electronics, smartphones due to Chip shortage before dhanteras and Diwali demand

नई दिल्‍ली। भारत में महत्‍वपूर्ण त्‍योहार धनतेरस और दिवाली से पहले ही बाजार में प्रीमियम कंज्‍यूमर इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स और स्‍मार्टफोंस की कमी पैदा हो गई है। चीन में एक बार फ‍िर कोरोना वायरस के फैलने से सेमीकंडक्‍टर्स की आपूर्ति पर बुरा असर पड़ा है, जिसकी दुनियाभर में पहले से ही कमी चल रही है। नवरात्रि में जोरदार बिक्री से भी आपूर्ति श्रृंखला पर दबाव बढ़ा है। रिटेलर्स और इंडस्‍ट्री विशेषज्ञों का कहना है कि कई लोकप्रिय मॉडल्‍स जैसे एप्‍पल आईफोन 11, 12 और 13 सीरीज, सैमसंग गैलेक्‍सी फोल्‍ड और फ्लिप मॉडल्‍स, हाई-एंड टेलीविजन सेट और अधिकांश ब्रांड्स के इम्‍पोर्टेड एप्‍लाएंसेस या तो आउट ऑफ स्‍टॉक्‍स हैं या इनकी आपूर्ति बहुत कम मात्रा में हो रही है। इंडस्‍ट्री विशेषज्ञों का कहना है कि संभावित मांग की तुलना में कमी 15 से 30 प्रतिशत की है।

अधिक मांग मतलब अधिक कमी

फेस्टिव सीजन के दौरान इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स और स्‍मार्टफोंस की अधिक मांग होती है, जिससे आपूर्ति श्रृंखला पर दबाव भी उतना ही अधिक बढ़ जाता है। इस बार धनतेरस और दिवाली पर इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स व स्‍मार्टफोंस की किल्‍लत हो सकती है। इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स और फोन कंपनियों की कुल सालाना बिक्री की 30-35 प्रतिशत बिक्री अकेले नवरात्रि-दिवाली अवधि के दौरान होती है। ऐसे में चिप शॉर्टेज की वजह से कंपनियों को अपनी संभावित बिक्री में 15-30 प्रतिशत का नुकसान होने की आशंका है। वहीं उपभोक्‍ताओं को अपने मनपसंद उत्‍पादों के लिए अधिक समय तक इंतजार करना पड़ सकता है।

नवरात्रि में रिकॉर्ड बिक्री ने बढ़ाया आपूर्ति श्रृंखला पर दबाव

नवरात्रि अवधि (2 से 15 अक्‍टूबर) के दौरान रिकॉर्ड बिक्री की वजह से आपूर्ति श्रृंखला पर दबाव और अधिक बढ़ गया है। नवरात्रि के दौरान फ्लिपकार्ट, अमेजन जैसे ऑनलाइन प्‍लेटफॉर्म के साथ ही साथ ऑफलाइन स्‍टोर्स जैसे रिलायंस डिजिटल, क्रोमा, विजय सेल्‍स और ग्रेट ईस्‍टर्न रिटेल की बिक्री में भी रिकॉर्ड उछाल दर्ज किया गया है। टाटा ग्रुप की इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स रिटेल चेन के मैनेजिंग डायरेक्‍टर अवीजीत मित्रा का कहना है कि आपूर्ति को लेकर अनिश्चितता निरंतर बनी हुई है। यह एप्‍लाएंसेस में और अधिक है, जहां सेमीकंडक्‍टर्स की आवश्‍यकता और भी अधिक होती है।

एप्‍पल फोन हुए आउट ऑफ स्‍टॉक्‍स

एप्‍पल के अधिकांश रिटेल चेन संचालकों का कहना है कि आईफोन के लिए यह सबसे खराब आपूर्ति स्थिति है। पिछली तिमाही में कंपनी ने भारत में 20 लाख आईफोन की बिक्री की, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है। एप्‍पल अपने ऑनलाइन स्‍टोर पर अपने दो साल पुराने मॉडल आईफोन 11 की डिलीवरी के लिए भी 3 से 4 हफ्ते का वक्‍त ले रहा है। फ्लिपकार्ट पर लोकप्रिय मॉडल आईफोन 12 आउट ऑफ स्‍टॉक हो चुका है, जबकि अन्‍य एक हफ्ते से अधिक का डिलीवरी टाइम ले रहे हैं।

सैमसंग, शाओमी ने किया सावधान

सैमसंग इंडिया ने अपने मुख्‍यालय को अपने हाल ही में लॉन्‍च हुए सुपर-प्रीमियम मॉडल्‍स का अधिक स्‍टॉक तैयार करने के लिए कहा है। शाओमी ने भी अपने प्रमुख रिटेलर्स को अगले 10 दिनों तक आपूर्ति बाधित रहने की चेतावनी जारी की है। शाओमी के प्रवक्‍ता ने कहा कि महामारी की वजह से एक बार फ‍िर संपूर्ण आपूर्ति श्रृंखला में बाधा खड़ी हो गई है।  

की कमी ने नए ब्रांडों को किया प्रभावित

पिछले साल शाओमी और रीयलमी जैसे लोकप्रिय स्मार्टफोन ब्रांडों ने भारत में लैपटॉप बाजार में प्रवेश किया, तो उनसे मौजूदा दिग्गजों को प्रभावित करने की उम्मीद थी। हालांकि, चिप की कमी और आपूर्ति की कमी ने इस लैपटॉप बाजार को प्रभावित किया है। उद्योग के विशेषज्ञों के अनुसार, चिप की कमी ने स्मार्टफोन निमार्ताओं के लैपटॉप श्रेणी में प्रवेश करने की समस्या दोगुना बढ़ा दी। नवकेंद्र सिंह, अनुसंधान निदेशक, क्लाइंट डिवाइसेस और आईपीडीएस, आईडीसी इंडिया ने कहा कि भारत में पारंपरिक पीसी बाजार (डेस्कटॉप, नोटबुक और वर्कस्टेशन सहित) एचपी इंक, लेनोवो और डेल मजबूत बना रहा क्योंकि दूसरी तिमाही में शिपमेंट में साल-दर-साल 50.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई। प्रभु राम, हेड, इंडस्ट्री इंटेलिजेंस ग्रुप, सीएमआर के अनुसार, महामारी के कारण घर से काम करना और ऑनलाइन क्लास से संबंधित पीसी की मांग बढ़ रही है। एचपी ने भारत पीसी बाजार में 33.6 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ अपनी बढ़त बनाए रखी। डेल टेक्नोलॉजीज ने 22.1 प्रतिशत हिस्सेदारी और इस साल की दूसरी तिमाही में 86.1 प्रतिशत की प्रभावशाली वृद्धि के साथ दूसरा स्थान जारी रखा। लेनोवो ने इस साल की दूसरी तिमाही में 17.8 प्रतिशत की हिस्सेदारी के साथ तीसरा स्थान बनाए रखा।

यह भी पढ़ें: महंगे पेट्रोल-डीजल की वजह से यहां सरकार ने की नागरिकों को विशेष महंगाई भत्‍ता देने की घोषणा...

यह भी पढ़ें: खुशखबरी, अब घर बैठे मिलेगी भवन निर्माण अनुमति...

यह भी पढ़ें: 6000mAh बैटरी व jio Offer के साथ 10999 रुपये में लॉन्‍च हुआ Nokia C30, एक बार चार्ज करने पर चलेगा पूरे तीन दिन

यह भी पढ़ें: महंगे पेट्रोल-डीजल ने बढ़ाई EV की लोकप्रियता, बिक्री में हो रहा है लगातार इजाफा

Write a comment
bigg boss 15