Sunday, July 21, 2024
Advertisement
  1. Hindi News
  2. पैसा
  3. गैजेट
  4. अब चीन में भी नहीं बिक रहे चाइनीज स्मार्टफोन, जानिए Huawei और Vivo छोड़ किस मोबाइल पर फ़िदा चीनी ग्राहक

अब चीन में भी नहीं बिक रहे चाइनीज स्मार्टफोन, जानिए Huawei और Vivo छोड़ किस मोबाइल पर फ़िदा चीनी ग्राहक

एक समय Chinese Market पर कब्जा रखने वाले Huawei के दिन बेहद खराब चल रहे हैं। 2019 में हुवावे पर गूगल Huawei के इस्तेमाल के प्रतिबंध के बाद बाजार में संघर्ष कर रही है।

Written By: Sachin Chaturvedi @sachinbakul
Published on: August 25, 2022 18:31 IST
Chinese Smartphone- India TV Paisa
Photo:FILE Chinese Smartphone

Highlights

  • इतिहास में पहली बार चीन में चाइनीज स्मार्टफोन की बिक्री घट गई है
  • लगभग आधे चाइनीज ग्राहक एप्पल के आईफोन खरीद रहे हैं
  • iphone13 ने बाजार में 46 प्रतिशत की हिस्सेदारी हासिल कर ली

भारत ही नहीं दुनिया भर के बाजार चाइनीज प्रोडक्ट से पटे पड़े हैं। वहीं स्मार्टफोन के मामले में तो अब दुनिया में एक मात्र विकल्प ही शाओमी, हुवावे, वीवो, ओप्पो और वनप्लस जैसी कंपनियों के मोबाइल हैं। जब दुनिया में चीनी फोन का बोलबाला है, तो चीन के बाजार पर इनका कब्जा होना लाजमी है। लेकिन इतिहास में पहली बार चीन में चाइनीज स्मार्टफोन की बिक्री घट गई है और लगभग आधे चाइनीज ग्राहक Apple के iPhone खरीद रहे हैं। 

iPhone चीन में बना नंबर 1

वैश्विक उद्योग विश्लेषण फर्म काउंटरपॉइंट रिसर्च की एक रिपोर्ट के अनुसार,  अमेरिकी तकनीकी दिग्गज ने चीनी ब्रांडों, विशेष रूप से हुवावे को पीछे छोड़ दिया है। कंपनी के iphone13  ने 400 डॉलर (लगभग 31,000 रुपये) से अधिक के मोबाइल के बाजार में 46 प्रतिशत की हिस्सेदारी हासिल कर ली है। वहीं चीनी फर्म Vivo पहली बार दूसरे स्थान पर पहुंच गई है। 

अल्ट्रा-हाई-एंड सेगमेंट में आईफोन की बादशाहत

यदि अल्ट्रा-हाई-एंड सेगमेंट के फोन की बात की जाए, जिसमें 1,000 अमरीकी डालर (79,847 रुपये) या उससे अधिक की कीमत वाले स्मार्टफोन आते हैं, यहां आईफोन की बादशाहत साफ दिखाई देती है। इस सेगमेंट में आईफोन की बिक्री साल दर साल 147 प्रतिशत बढ़ी। वहीं इसी सेगमेंट में साउथ कोरियन कंपनी सैमसंग ने भी 133 प्रतिशत की ग्रोथ हासिल की है।

संकट में Huawei

एक समय चीन के बाजार पर कब्जा रखने वाले हुवावे के दिन बेहद खराब चल रहे हैं। 2019 में हुवावे पर गूगल एंड्रॉयड के इस्तेमाल के प्रतिबंध के बाद हुवावे बाजार में संघर्ष कर रही है। चीन की सबसे बड़ी मोबाइल कंपनी हुवावे के बाजार से हटने के बाद चीनी बाजार में देशी कंपनियां इसकी जगह को भरने की कोशिश में जुटी हैं। हुवावे टेक्नोलॉजीज के सह संस्थापक रेन झेंगफेई ने हाल ही में कहा है कि विश्व अर्थव्यवस्था एक लंबी मंदी की ओर अग्रसर है, ऐसे में उनकी फर्म एक अस्तित्व संकट का सामना कर रही है।

तीसरे नंबर पर आई Huawei 

हॉन्ग कॉन्ग स्थित साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट ने गुरुवार को बताया कि हुवावे 11 फीसदी बाजार हिस्सेदारी के साथ तीसरे स्थान पर आ गई, जो एक साल पहले 19 फीसदी थी। हुवावे, जो पहले चीन का सबसे बड़ा स्मार्टफोन विक्रेता था, उसे अमेरिका द्वारा ब्लैकलिस्ट किए जाने के बाद बाजार में इसका खेल खत्म हो गया है। 

चीन में 10 फीसदी घटा प्रीमियम स्मार्टफोन का बाजार

चीन में प्रीमियम स्मार्टफोन की बिक्री में 2022 की दूसरी तिमाही में साल दर साल 10 फीसदी की गिरावट आई है। चीन के हैंडसेट बाजार में 2022 में कुल मिलाकर 14 फीसदी की गिरावट आई है। यह गिरावट साफ दर्शाती है कि चीनी अर्थव्यवस्था बीते एक दशक में मंदी की सबसे बुरी मार झेल रही है। 

Latest Business News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Gadgets News in Hindi के लिए क्लिक करें पैसा सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement