1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. गैजेट
  5. म्यूजिक स्ट्रीमिंग कंपनी स्पोटिफाई करेगी छंटनी, वर्तमान में करीब 10 हजार कर्मचारी कार्यरत

म्यूजिक स्ट्रीमिंग कंपनी स्पोटिफाई करेगी छंटनी, वर्तमान में करीब 10 हजार कर्मचारी कार्यरत

जून में, रिपोर्ट पहली बार सामने आई कि स्पोटिफाई कम से कम 25 प्रतिशत नई नियुक्तियों को कम कर रहा है क्योंकि टेक कंपनियां अस्थिर वैश्विक परिस्थितियों का सामना कर रही हैं।

Alok Kumar Edited By: Alok Kumar @alocksone
Updated on: January 23, 2023 12:49 IST
स्पोटिफाई - India TV Paisa
Photo:FILE स्पोटिफाई

स्वीडिश म्यूजिक स्ट्रीमिंग दिग्गज कंपनी स्पोटिफाई इस सप्ताह कर्मचारियों की छंटनी कर सकती है। सोमवार को यह जानकारी दी गई है। ब्लूमबर्ग ने सूत्रों के हवाले से बताया कि निकाले जाने वाले कर्मचारियों की संख्या फिलहाल नहीं बताई गई है। रिपोर्ट के अनुसार कंपनी में लगभग 9,800 कर्मचारी काम करते हैं। पिछले साल अक्टूबर में, स्पोटिफाई ने अपने इन-हाउस स्टूडियो से 11 मूल पॉडकास्ट को लागत में कटौती के लिए बंद कर दिया था। इसके तहत कंपनी ने 5 प्रतिशत से कम कर्मचारियों को या तो हटा दिया गया था या नए शो में फिर से नियुक्त किया गया था।

टेक कंपनियां की वित्तीय स्थिति नाजुक 

जून में, रिपोर्ट पहली बार सामने आई कि स्पोटिफाई कम से कम 25 प्रतिशत नई नियुक्तियों को कम कर रहा है क्योंकि टेक कंपनियां अस्थिर वैश्विक परिस्थितियों का सामना कर रही हैं। स्पॉटिफाई ने पहले अपना लाइटवेट लिसनिंग ऐप 'स्पॉटिफाई स्टेशन' बंद कर दिया था। पिछले साल निवेशकों की एक प्रस्तुति में, स्पोटिफाई के मुख्य वित्तीय अधिकारी पॉल वोगेल ने कहा कि वे 'वैश्विक अर्थव्यवस्था के बारे में बढ़ती अनिश्चितता से स्पष्ट रूप से अवगत हैं।'2022 में स्वीडिश संगीत-स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म के 433 मिलियन से अधिक मासिक सक्रिय उपयोगकर्ता (एमएयू) थे।

प्रति दिन 1,600 से अधिक कर्मचारियों की छंटनी

भारत समेत वैश्विक स्तर पर 2023 में औसतन प्रति दिन 1,600 से अधिक टेक कर्मचारियों की छंटनी की जा रही है। वैश्विक आर्थिक मंदी की आशंकाओं के बीच बर्खास्तगी की घटनाओं में तेजी आई है। लेऑफ ट्रैकिंग साइट लेऑफ्स डॉट एफवाईआई के आंकड़ों के अनुसार, 2022 में 1,000 से अधिक कंपनियों ने 154,336 कर्मचारियों की छंटनी की। 2022 में की गई बड़े पैमाने पर छंटनी नए साल में भी जारी है, और कर्मचारियों को निकालने में भारतीय कंपनियां और स्टार्टअप अग्रणी हैं।

Latest Business News