1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. एल एंड टी का दिसंबर तिमाही में लाभ तीन प्रतिशत बढ़कर 2648 करोड़ रुपये

एल एंड टी का दिसंबर तिमाही में लाभ तीन प्रतिशत बढ़कर 2648 करोड़ रुपये

दिसंबर तिमाही में एलएंडटी की एकीकृत कुल आय 36,661 करोड़ रुपये रही है। पिछले साल की इसी तिमाही में कंपनी की कुल एकीकृत आय 36,712 करोड़ रुपये थी। इसी दौरान कुल खर्च एक साल पहले के 33,488.46 करोड़ रुपये से घट कर 32,980.58 करोड़ रुपये पर आ गए हैं।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: January 25, 2021 21:07 IST
Q3 प्रॉफिट में 3 फीसदी...- India TV Hindi
Photo:L&T

Q3 प्रॉफिट में 3 फीसदी की बढ़त

नई दिल्ली। इंजीनियरिंग एवं निर्माण क्षेत्र की कंपनी लार्सन एण्ड टुब्रो (एलएंडटी) को दिसंबर 2020 में समाप्त तिमाही में 2,648.33 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ। ये पिछले साल के मुकाबले 3 प्रतिशत ज्यादा रहा है। एक साल पहले कंपनी को इसी अवधि में कर और संयुक्तसहायक उद्यमों के नफे नुकसान में भागीदारी तथा असामान्य प्रावधानों के बाद 2,560.32 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। कंपनी ने सोमवार को अपने तिमाही नतीजे जारी किए हैं। नतीजों के साथ कंपनी ने जानकारी दी है कि लाभ की दर्ज हुई इस बढ़ोतरी में उसके सूचना प्रौद्योगिकी और सूचना प्रौद्योगिकी सेवा कारोबार के लाभ व सम्पत्ति के विनिवेश में 209 करोड़ रुपये के लाभ का योगदान भी शामिल है। कंपनी ने दिसंबर में खत्म हुई तिमाही में इलेक्ट्रिकल एंड आटोमेशन कारोबार को स्नाइडर इलेक्ट्रिक एसई को बेचा। इसी तरह उसने ब्रिटेन स्थित कंपनी मरीन कंट्रोल एण्ड आटोमेशन सिस्टम्स को राल्स रायर पावर सिस्टम एजी को बेचा।

दिसंबर तिमाही में एलएंडटी की एकीकृत कुल आय 36,661 करोड़ रुपये रही है। पिछले साल की इसी तिमाही में कंपनी की कुल एकीकृत आय 36,712 करोड़ रुपये थी। इसी दौरान कुल खर्च एक साल पहले के 33,488.46 करोड़ रुपये से घट कर 32,980.58 करोड़ रुपये पर आ गए हैं। कंपनी ने कहा है कि दिसंबर 2020 तिमाही में समूह को मिले ऑर्डर में सालाना आधार पर 76 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की गयी और यह 73,233 करोड़ रुपये रहा। इसमें 14 प्रतिशत योगदान विदेशी ऑर्डर का रहा। चालू वित्त वर्ष के पहले नौ महीनों में कंपनी के पास संचयी रूप से कुल 124,846 करोड़ रुपये के ऑर्डर आये। दिसंबर तिमाही के अंत में एलएंडटी समूह के ऑर्डर बुक में 331,061 करोड़ रुपये के ऑर्डर थे, जो मार्च 2020 की तुलना में 9 प्रतिशत अधिक है। कंपनी के मुताबिक तिमाही के दौरान हाई स्पीड रेल ऑर्डर मिला है। जो कि अपनी तरफ का पहला और देश में अब तक का सबसे बड़ा ईपीसी कॉन्ट्रैक्ट है।  

Latest Business News